25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

झारखंड: धनबाद में टला बड़ा हादसा, अवैध खनन के दौरान भू-धंसान, 5 लोग घायल, 1 की मौत की चर्चा

अवैध खनन के दौरान लगभग 200 मीटर के दायरे में शनिवार की शाम भयंकर रूप से भू-धंसान हुई है. भूं-धसान की चपेट में देबीयाना बाउरी टोला का आधा दर्जन पक्का घर एवं बाउंड्री वॉल भी आ गयी है. भू-धंसान के दौरान बंद खदान में अवैध उत्खनन हो रहा है. इसमें पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

निरसा (धनबाद), अरिंदम. झारखंड के धनबाद जिले के निरसा थाना क्षेत्र के चापापुर कोलियरी का 9 नंबर बंद खदान एवं बैजना कोलियरी के 14 नंबर बंद खदान के समीप अवैध खनन के दौरान लगभग 200 मीटर के दायरे में शनिवार की शाम भयंकर रूप से भू-धंसान हुई है. भूं-धसान की चपेट में देबीयाना बाउरी टोला का आधा दर्जन पक्का घर एवं बाउंड्री वॉल भी आ गयी है. भू-धंसान के दौरान बंद खदान में अवैध उत्खनन हो रहा है. इसमें पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. जिसमें एक व्यक्ति की मौत की चर्चा है. हालांकि इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो रही है.

संयोग अच्छा था कि तेज आवाज के साथ भू-धंसान हुई. तेज आवाज होते ही आधा दर्जन घरों में रहने वाले लोग बाल, बच्चा, वृद्ध सभी को लेकर अपने-अपने घरों से बाहर निकल गए. नहीं तो बड़ी दुर्घटना घट सकती थी. घटना के बाद से देबीयाना गांव के पंचायत भवन बाउरी टोला के ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है. समाचार लिखे जाने तक लोग अपने अपने घरों के बाहर ही आश्रय लिए हुए हैं. अवैध खदान संचालक दबंग पिंटा नामक व्यक्ति के खिलाफ लोगों में आक्रोश है. हालांकि किसी के दबने या घायल होने की बात से प्रशासन एवं प्रबंधन ने साफ इनकार किया है.

अचानक शाम को भयंकर आवाज हुई. देबीयाना पंचायत भवन बाउरी टोला के समीप करीब 200 मीटर के दायरे में भयंकर दरारें पड़ने लगी. इससे दिलीप बाउरी का नवनिर्मित घर की चारदीवारी गिर गया तथा जमीन में मोटी मोटी दरारें पड़ गई. ग्रामीणों का आरोप है कि भू धंसान से आधा दर्जन परिवारों के घर में पड़ी बड़ी-बड़ी दरारों के कारण लगभग 70 लाखों रुपया का नुकसान हुआ है. कोका बाउरी के घर का एस्बेस्टस का सीट जोरदार आवाज के साथ टूट गया. साथ ही घर के दीवार में जगह जगह दरारें पड़ गई. घर में बने तुलसी जी का चबूतरा 5- 10 इंच नीचे चला गया. विनोद बाउरी का नवनिर्मित दो मंजिला घर में जगह-जगह दरारें पड़ गई है. साथ ही काबुल बाउरी, माला बाउरी सहित अन्य के घर में भी दरारें पड़ गई है. ग्रामीणों का कहना है कि यह घटना दिन में घटित हुई. यदि रात में घटित हुई होती तो जान माल का नुकसान हो सकता था. कोलियरी प्रबंधन एवं पुलिस यदि अवैध खनन रोकने में ध्यान देती तो ऐसी घटना नहीं घटती.

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि अवैध खनन का संचालन करने वाला पिंटा इसके लिए जिम्मेदार है. अवैध खनन का संचालन करने के कारण वह पैसे से काफी ताकतवर हो गया है. इस कारण ग्रामीणों पर अपना रौब जमाता रहता है. ग्रामीण भी भय से उसके खिलाफ कुछ भी बोलने से कतराते हैं. भूधसान के कारण जिन लोगों का घर जमीनदोज होते-होते बचा उन लोगों का दुख तकलीफ कौन सुनेगा.

इस संबंध में सीबीएच ग्रुप के अभिकर्ता उमेश चौधरी ने कहा कि भूधंसान एवं दरार की जानकारी मिली है. वरीय अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है. जल्द ही टीम जाकर घटनास्थल का निरीक्षण करेगी, वहीं इस संबंध में थाना प्रभारी दिलीप यादव ने कहा कि घटना की जानकारी मिली है. सभी लोग सुरक्षित है. इसीएल प्रबंधन से संपर्क किया जा रहा है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें