िवपक्ष फैला रहा है झरिया के उजड़ने की अफवाह : राजनाथ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
  • आजाद भारत में कई राजनीतिक पार्टियां काम कर रही हैं
  • चुनाव में नेताओं की करनी और कथनी में हाेता है अंतर
  • आज भारत की राजनीति में संकट उत्पन्न हो गया है
  • इस चुनौती को भाजपा ने निभाने का काम किया
झरिया/जोड़ापोखर : नया झरिया बनाने का मतलब उजाड़ना नहीं है. जिस प्रकार प्रधानमंत्री ने नया भारत निर्माण की बात कही है, उसी तरह झरिया को बेहतर करना है. झरिया की अलग पहचान है. झरिया कोई लड्डू नहीं, जिसे कोई खा जायेगा. विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है. झरिया को उजाड़ने की अफवाह फैला रहे हैं. ये बातें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहीं.
वह जेलगोरा मानस मंदिर मैदान में भाजपा द्वारा झरिया सीट से प्रत्याशी रागिनी सिंह के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे. रक्षा मंत्री ने कहा कि 35 साल पहले चुनावी घोषणा पत्र होता था. राम मंदिर बनाने की बात करते थे, लेकिन आज देश की सबसे बड़ी अदालत ने अयोध्या की धरती पर राम लल्ला की जन्मभूमि पर राम मंदिर बनाने का फैसला दिया है.
हमारे देश में एक संविधान, एक निशान व एक झंडा होना चाहिए. इसी के तहत जम्मू कश्मीर से धारा 370 खत्म किया गया. राजनाथ सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान का सबसे पिछड़ा राज्य झारखंड था. रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड देश के सात विकासशील राज्यों में एक स्थान प्राप्त किया है.
भाजपा सरकार ने विकास करने का काम किया है, लेकिन विरोधी पार्टियां आपको गुमराह कर वोट हथियाने की कोशिश करेंगी. श्री सिंह ने कहा कि पड़ोसी देश से मित्रता रही है, लेकिन वे अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहे हैं. अगर मुझे कोई छेड़ेगा तो उसे छोड़ेंगे नहीं. विदेशी घुसपैठियों को देश से निकाल बाहर करेंगे.
एनआरसी लागू कर विदेशों में रह रहे अल्पसंख्यकों को भारत में मान्यता देंगे. सांसद पीएन सिंह ने कहा कि झरिया के लोगों के साथ कोई जोर-जबर्दस्ती नहीं की जायेगी. वह झरियावासियों को विश्वास दिलाने आये हैं. सभा को पूर्व विधायक कुंती देवी, प्रत्याशी रागिनी सिंह ने भी संबोधित किया. संचालन भाजपा नेता राजकुमार अग्रवाल व धन्यवाद ज्ञापन मंडल अध्यक्ष उपेंद्र विश्वकर्मा ने किया.
वक्ताओं में जियाडा अध्यक्ष सत्येंद्र कुमार, हरीश जोशी, महावीर पासवान, विष्णु त्रिपाठी, मानस प्रसून, श्रीराम यादव, शैलेश सिंह, भाजयुमो जिलाध्यक्ष अमलेश सिंह, पिंटू अग्रवाल, अजय वर्मा, पवन सिंह, स्वरूप भट्टाचार्य में शामिल थे. इससे पूर्व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का स्वागत सभी पांच मंडलों के अध्यक्ष उमेश यादव, दिलीप भारती, राजाराम पासवान व जितेंद्र सोनी आदि ने 50 किलो की माला पहना और शॉल ओढ़ाकर किया.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें