37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

देवघर में बैंक व फूड डिलीवरी कंपनी के ऐप से ग्राहकों का एकाउंट लॉग-इन कर ठगी, दो गिरफ्तार

देवघर एक बार फिर से साइबर अपराधियों की वजह से चर्चा में है. साइबर थाने की विशेष टीम ने देवघर जिले में पालोजोरी थाना क्षेत्र के कुमगढ़ा नीचे टोला में छापेमारी की. पुलिस ने मौके से कुमगढ़ा गांव निवासी कबीर अंसारी व बगल के बरमशोली गांव निवासी इमरान अंसारी को गिरफ्तार किया है.

देवघर जिले के साइबर अपराधी अब आइ-फोन से ग्राहकों का एकाउंट जोमेटो एप व एक्सिस बैंक एप में लॉगइन कर ठगी कर रहे हैं. ग्राहकों को झांसे में लेकर ठगी करने वाले ऐसे दो साइबर आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. देवघर पुलिस मीडिया सेल के प्रभारी सह सीसीआर डीएसपी आलोक रंजन ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना पर साइबर थाने की विशेष टीम ने पालोजोरी थाना क्षेत्र के कुमगढ़ा नीचे टोला में छापेमारी की. मौके पर से छापेमारी टीम को पुलिस ने कुमगढ़ा गांव निवासी कबीर अंसारी व बगल के बरमशोली गांव निवासी इमरान अंसारी को गिरफ्तार किया. इनलोगों के पास से पुलिस ने चार मोबाइल व पांच फर्जी सिम कार्ड बरामद किये. जांच पड़ताल में इन दोनों के पास से बरामद मोबाइल व फर्जी सिम कार्ड में पूरे भारत में 15 क्राइम लिंक मिले हैं. उन सारे क्राइम लिंक की जांच करायी जा रही है.


लिंक के जरिये रिक्वेस्ट बनाकर पैसे की डिमांड कर झांसे में लेते थे ग्राहकों को

पूछताछ में पुलिस को इन दोनों साइबर आरोपितों ने बताया कि आइ-फोन की आइ-मैसेज फैसिलिटी का फायदा उठाकर जोमेटो एप व एक्सिस बैंक एप के जरिये ग्राहकों को लिंक भेजते हैं. इसके बाद ग्राहकों के मोबाइल पर जो कोड जाता है, उसे भी साइबर अपराधी अपने नंबर पर ग्राहकों से फॉरवर्ड करा लेते हैं. साइबर आरोपितों के मोबाइल पर कोड फॉरवर्ड होते ही संबंधित ग्राहक का एकाउंट भी एक्सेस हो जाता है. इसके बाद पैसे को रिक्वेस्ट बनाकर डिमांड कर लेते हैं. इसके अलावा गूगल सर्च इंजन में कस्टमर केयर के नंबर की जगह अपना नंबर फिट कर रखते है. कस्टमर केयर में ग्राहक कॉल करते हैं, तो इनलोगों से संपर्क हो जाता है. इसके बाद ग्राहकों को झांसे में लेकर एकाउंट संबंधी जानकारी लेकर उनलोगों के एकाउंट से रुपये उड़ा लेते हैं. इसके अलावा फर्जी वाट्सअप, इंस्टाग्राम व फेसबुक के कस्टमर केयर अधिकारी बनकर यूपीआइ डिटेल्स प्राप्त करने के लिए ग्राहकों को लिंक भेजते हैं और यूपीआइ आइडी हैक कर ठगी कर लेते हैं.

कूरियर ब्वॉय बनकर एकाउंट संबंधी जानकारी मांगे तो इसे देने से बचे

प्रभारी साइबर सह सीसीआर डीएसपी ने आम लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अगर कोई कूरियर ब्वॉय बनकर कॉल करे और किसी प्रकार का लिंक देकर एकाउंट संबंधी डिटेल्स, ओटीपी आदि फॉरवर्ड करने कहे, तो उनलोगों के नंबर पर नहीं भेजें. ऐसा करने से ठगी के शिकार हो सकते हैं. अज्ञात मोबाइल नंबर से कॉल करने वाले को कोई भी गोपनीय जानकारी शेयर नहीं करें. किसी तरह को कोई मैसेज भी फॉरवर्ड नहीं करें. यूपीआइ का एम-पिन कभी भी पैसे भेजने व प्राप्त करने के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है. इसे कभी किसी से शेयर नहीं करें. अनजान नंबर के लिंक को डाउनलोड नहीं करें, वे यूपीआइ आइडी भी हैक कर सकते हैं. साइबर अपराध के शिकार होने पर हेल्पलाइन नंबर 1930 या साइबर क्राइम की वेबसाइट पर ऑनलाइन रिपोर्ट करें. यह भी आग्रह किया गया है कि देवघर जिले के किसी थाना क्षेत्र में साइबर अपराध हो रहा है, तो उसकी सूचना मोबाइल नंबर 9798302117 पर कर सकते हैं. सूचना देने वाले का नाम पुलिस गोपनीय रखेगी.

Also Read: देवघर-दुमका की सीमा पर हाईटेंशन बिजली टावर पर चढ़ा युवक, एनडीआरएफ टीम ने ऐसे उतारा

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें