1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. shravani mela deoghar 2022 will get rid of the push seeghra darshanam is being built at a cost of 46 lakhs srn

देवघर के श्रावणी मेले में धक्का मुक्की से मिलेगी निजात, 46 लाख की लागत से बन रहा शीघ्रदर्शनम ब्रिज

देवघर में श्रद्धालुओं के लिए शीघ्रदर्शनम ब्रिज की व्यवस्था करायी जा रही है जो समान्य कतार से पूरी तरह से अलग रहेगी. शीघ्रदर्शनम कूपन लेने वाले भक्तों की कतार को कहीं जेनरल कतार में टच नहीं कराया जायेगा

By Sameer Oraon
Updated Date
Shravani Mela 2022
Shravani Mela 2022
फोटो : प्रभात खबर.

Deoghar News देवघर: श्रावणी मेला में आये कांवरियों को सुलभ जलार्पण कराने के लिए बाबा मंदिर प्रशासन लगातार व्यवस्था को बेहतर करने में लगा है. मेले में इस बार शीघ्रदर्शनम के तहत जलार्पण कराने की व्यवस्था में पूरी तरह से बदलाव दिखेगा. इसकी जानकारी सोमवार को बाबा मंदिर की विधि व्यवस्था का जायजा लेने आये डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने दी. डीसी ने बताया शीघ्रदर्शनम ब्रिज को श्रावणी मेला से पहले टी-जंक्शन से अलग कर दिया जायेगा. इससे भक्तों को कतार में धक्का-मुक्की की शिकायत से भी निजात मिलेगा.

मंदिर आये कांवरियों को सुलभ एवं सुरक्षित जलार्पण कराना मंदिर व जिला प्रशासन की पहली प्राथमिकता में शामिल है. मंदिर में शीघ्रदर्शनम को टी-जंक्शन से अलग कर संध्या मंदिर व महाकला भैरव मंदिर के बीच से निकालकर फिल पाया तक अलग से उतारा जायेगा. 42 मीटर लंबा एवं एक मीटर चौड़ा इस ब्रिज को बनाने में कुल 46 लाख 300 रुपये खर्च किये जायेंगे. इसके लिए एनआरइपी नें टेंडर निकाला था. सभी टेंडर को आज खोला जायेगा.

  • 42 मीटर लंबा व एक मीटर चौड़ा होगा

  • जेनरल कतार से पूरी तरह से अलग रहेगी शीघ्रदर्शनम की कतार

  • टी-जंक्शन की व्यवस्था पूरी तरह से हो जायेगी खत्म, मिलेगी राहत

जेनरल कतार से अलग, शीघ्रदर्शनम कूपन वाले भक्त ऐसे पहुंचेगे गर्भगृह तक

शीघ्रदर्शनम कूपन लेने वाले भक्तों की कतार को कहीं जेनरल कतार में टच नहीं कराया जायेगा. टी-जंक्शन की व्यवस्था पूरी तरह से खत्म हो जायेगी. डीपीआर के अनुसार, ब्रिज को बड़ा घंटा के पास से मोड़कर जेनरल कतार के ब्रिज के बगल में सटाकर महाकाल मंदिर के बगल मोड़ के पास से रैंप बनाकर वर्तमान ब्रिज से सटाकर फिल पाया तक ले जाया जायेगा. फिल पाया के पास निकलकर सीधे बाबा मंदिर के प्रवेश-द्वार के पास निकल कर गर्भगृह में भक्तों को प्रवेश कराने की व्यवस्था होगी. इससे किसी कतार में न तो जाम लगेगा और न ही अफरा-तफरी की संभावना होगी.

Posted By: Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें