1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. indian railways news ranchi deoghar intercity and hatia patliputra express train is yet to get green signal smj

Indian Railways News : रांची- देवघर इंटरसिटी व हटिया- पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन को अब तक नहीं मिली हरी झंडी

झारखंड समेत बिहार में कोराेना संक्रमण के कम मामले आ रहे हैं. इसके बावजूद दक्षिण पूर्व रेलवे कई ट्रेनों के परिचालन को हरी झंडी नहीं दिखा रही है. रांची-देवघर इंटरसिटी और हटिया- पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन समेत कई अन्य ट्रेनों का परिचालन अब तक नहीं हो पाया है. इससे यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दक्षिण-पूर्व रेलवे ने रांची-देवघर इंटरसिटी व हटिया-पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन को नहीं दी हरी झंडी.
दक्षिण-पूर्व रेलवे ने रांची-देवघर इंटरसिटी व हटिया-पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन को नहीं दी हरी झंडी.
फाइल फोटो.

Indian Railways News (देवघर) : झारखंड समेत बिहार में इनदिनों कोरोना संक्रमण के मामले कम आ रहे हैं. इस दौरान राज्य सरकार कई चीजों में छूट दी है. वहीं, रेलवे विभाग भी कई ट्रेनों के परिचालन का विस्तार किया है. इसके बावजूद दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर से हटिया- पाटलिपुत्र और रांची- देवघर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन के परिचालन को लेकर हरी झंडी नहीं दी गयी है. ऐसे में यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है.

पटना से लेकर जसीडीह यात्रियों को रांची, बोकाराे व धनबाद जाने- आने में काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है. हालांकि, कुछ ट्रेने रांची के लिए चल रही है, लेकिन इन ट्रेनों में यात्रियों को बहुत कम कंफर्म टिकट मिल पा रही है. जबकि कोविड-19 के बाद से ट्रेनों में सिर्फ कंफर्म टिकट वाले ही यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति है. ऐसे में यात्रियों को अन्य ट्रेनों में कंफर्म टिकट नहीं मिलने से यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है.

इस संबंध में यात्रियों का कहना है कि दक्षिण पूर्व रेलवे की और से कोविड-19 के मामले कम होने के बाद भी इन दोनों ट्रेनों को चलाने में रुचि नहीं दिखा रही है. यात्रियों ने दक्षिण पूर्व रेलवे के अधिकारियों से प्रश्न किया कि क्या यही दोनों ट्रेनों से राज्य को कोरोना के संक्रमण बढ़ने की आशंका है या यही दोनों ट्रेनों से संक्रमण राज्य में बढ़ता है.

बता दें कि कोविड-19 के पहली लहर के दौरान ही पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन की परिचालन को बंद कर दिया गया था. इसके बाद अबतक चालू नहीं किया गया है, जबकि रांची- देवघर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन को चालू किया, लेकिन कोविड-19 के दूसरी लहर के दौरान फिर से बंद कर दिया गया जिसे अबतक चालू नहीं किया जा सका है.

इसके अलावा जसीडीह के रास्ते चलने वाली पूर्व रेलवे के तुफान एक्सप्रेस और हावड़ा- अमृतसर एक्सप्रेस, पूर्व मध्य रेलवे के पटना-कोलकाता, सीतामढ़ी-कोलकाता तथा दक्षिण पूर्व रलवे का वनांचल एक्सप्रेस ट्रेन को भी अबतक नहीं चलाया गया है. इससे यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है, जबकि अन्य सारी ट्रेनों की परिचालन लगभग शुरू कर दिया गया है.

क्या कहते हैं यात्री

यात्री जहांगीर अंसारी कहते हैं कि दक्षिण-पूर्व रेलवे को रांची- देवघर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन को भी चालू कर देना चाहिए. ट्रेन चालू नहीं होने से प्रतिदिन यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है. यात्रियों को मजबूरन बाय रोड़ या बस का सहारा लेना पड़ रहा है.

वहीं, यात्री विजय कुमार ने रेलवे अधिकारियों से सवाल किया कि क्या रांची- देवघर और पाटलिपुत्र एक्सप्रेस ट्रेन से ही कोविड-19 का संक्रमण फैलता है. अन्य रेलवे जोन के द्वारा लगभग सभी ट्रेनों की परिचालन किया जा चूका है, लेकिन दक्षिण पूर्व रेलवे इन ट्रेनों को शुरू नहीं कर रही है.

यात्री सुब्रतो डे ने कहा कि दक्षिण पूर्व रेलवे की मनमानी के कारण यात्रियों को परेशानी हो रही है. अगर राज्य में संक्रमण फैलने का होगा तो फैलेगा ही. इन दो ट्रेनों को बंद कर संक्रमण को कम नहीं किया जा सकता है. जबकि यात्री बसंत दास ने कहा कि जब सभी रेलवे जोन की और से ट्रेनों की परिचालन शुरू कर दिये हैं, तो दक्षिण पूर्व रेलवे की और से इन दो ट्रेनों को चालू नहीं कर रहें. क्या इन ट्रेनों को दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर से हमेशा के लिए बंद करने की योजना तो नहीं बना रहे हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें