1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. chaibasa
  5. ruckus in kolhan government state villagers attack chaibasas muffasil police station dozens of police man injured smj

Jharkhand: कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर बहाली पर बवाल, थाना पर ग्रामीणों का हमला, 17 गिरफ्तार

कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर पुलिस और शिक्षक बहाली मामले में हिरासत में लिये गये 4 लाेगों को छुड़ाने के लिए सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण चाईबासा के मुफ्फसिल थाना पहुंचे. इस दौरान ग्रामीणों ने हमला कर दिया. जिससे थाना प्रभारी सहित नौ पुलिस कर्मी घायल हो गये.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: चाईबासा के मुफ्फिसल थाना पर ग्रामीणों ने किया हमला.
Jharkhand news: चाईबासा के मुफ्फिसल थाना पर ग्रामीणों ने किया हमला.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर अवैध तरीके से पुलिस और शिक्षकों की बहाली मामले में पुलिस द्वारा 4 लोगों को हिरासत में लेने और फिर उसे छुड़ाने को लेकर पुलिस और ग्रामीण आमने-सामने हो गये. सैकड़ों की संख्या में आये ग्रामीणों ने चाईबासा के मुफ्फसिल थाना का घेराव किया. वहीं, घंटों थाना घेराव के बाद उत्तेजित ग्रामीणों ने तीर-धनुष के साथ पत्थरबाजी करने लगे. इस दौरान पुलिस ने रोकने की काफी कोशिश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने, तो पुलिस को लाठीचार्ज और आश्रु गैस छोड़ने पड़े. इधर, ग्रामीणों के पत्थर और तीर-धनुष चलाने से मुफ्फसिल थाना के कंस्टेबल बृज भूषण मिश्रा के पेट व कमर के बीच तीर लगी है. उसे सदर अस्पताल में प्राथमिक उपचार करने के बाद गंभीरावस्था में टीएमएच रेफर कर दिया गया है. वहीं, दर्जनों जवान को भी चोट लगी है.

17 लोगों की हुई गिरफ्तारी

गैर न्यायिक संगठन कोल्हान गवर्मेंट इस्टेट के बैनर तले अवैध रूप से पुलिस व शिक्षकों की बहाली के विरोध में रविवार को चाईबासा रणक्षेत्र में तब्दील रहा. इस दौरान पुलिस टीम पर पथराव व परंपरागत हथियार तीर-धनुष और लाठी-तलवार से हमला के आरोप में मुफस्सिल थाना ने कुल 17 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें सोनुवा थाना के लोंजो निवासी गारदी सुंडी, बबेंदर देवगम उर्फ सुखदेव देवगम, सुशील देवगम, झींकपानी के सूरजाबासा निवासी अर्जुन देवगम, महती देवगम उर्फ राम सिंह देवगम, सूरजा देवगम, कोबरा जवान अजय पाड़ेया, बिंगतोपांग के लक्ष्मण देवगम, पांड्राशाली के किरी निवासी सिनु गोड्सोरा, सदर प्रखंड के लादुबासा निवासी समीर पाड़ेया, मुफस्सिल थाना के कांकुसी निवासी हरिकृष्ण देवगम उर्फ हुडिंग बाबू, हरिला के मानकी आल्डा, बड़ाचीरू के कुदराय देवगम, मानसिंह बारदा, पूर्वी सिंहभूम जिला के आरआइटी थाना के बंतानगर निवासी रंजीत बानरा, पूर्वी सिंहभूम जिला के बागबेड़ा थाना क्षेत्र के एदेल झोपड़ी निवासी विजय हाइबुरु शामिल हैं.

Jharkhand news: कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर सैकड़ों ग्रामीणों ने चाईबासा के मुफ्फसिल थाना का किया घेराव.
Jharkhand news: कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर सैकड़ों ग्रामीणों ने चाईबासा के मुफ्फसिल थाना का किया घेराव.
प्रभात खबर.

क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार, ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ लोगों द्वारा गैर कानूनी तरीके से ग्रामीण युवक-युवतियों को पुलिस बहाली और हो भाषा के लिए शिक्षक-शिक्षिकाओं की नियुक्ति किये जा रहे थे. पुलिस को जानकारी मिलने पर रविवार सुबह करीब 8 बजे मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के लादुबासा गांव पहुंची और वहां से युवक-युवतियों का दस्तावेज और इस गैर कानूनी कार्य में लगे चार लोगों को हिरासत में लेकर थाना ले गयी. गिरफ्तारी के बाद आक्रोशित करीब 300- 350 ग्रामीण महिला-पुरुष लाठी-डंडे, तीर-धनुष, तलवार व अन्य हथियार से लैस होकर थाना का घेराव कर दिया. साथ ही हिरासत में लिये गये लोगों को छोड़ने की मांग करने लगे थे. वहीं, रह- रहकर नारेबाजी भी करते रहे. पुलिस द्वारा ग्रामीणों को काफी समझाने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन पुलिस प्रशासन की बात एक नहीं सुनी.

Jharkhand news: तीर-धनुष से लैस युवाओं ने मुख्य मार्ग को किया अवरुद्ध.
Jharkhand news: तीर-धनुष से लैस युवाओं ने मुख्य मार्ग को किया अवरुद्ध.
प्रभात खबर.

साढ़े तीन घंटे थाने गेट को किया जाम

ग्रामीणों ने करीब साढ़े तीन घंटे तक थाना गेट का जाम कर दिया था. पुलिस पदाधिकारियों को ग्रामीणों ने घेर कर रखा था. शाम करीब साढ़े 4 बजे ग्रामीणों ने पहले पुलिस पर हमला करना शुरू कर दिया. इसके बाद पुलिस द्वारा जवाबी कार्रवाई करना शुरू कर दिया. दोनों ओर से पथराव हो शुरू हो गया. पुलिस ने खदेड़-खदेड़ कर वहां से सभी को भगा दिया. इसके बाद बड़ी बाजार में पुलिस की छावनी में तब्दील हो गया. इस वजह से रविवार को दिनभर बड़ी बाजार बंद रहा.

Jharkhand news: बहाली के लिए कतारबद्ध खड़े ग्रामीण युवा.
Jharkhand news: बहाली के लिए कतारबद्ध खड़े ग्रामीण युवा.
प्रभात खबर.

पुलिस प्रशासन ने कार्यक्रम को किया विफल

बताया जा रहा है कि इलाके में कुछ विभाजनकारी लोग कोल्हान को अलग देश घोषित करने की मांग को लेकर लंबे समय से आंदोलन चला रहे हैं. कुछ स्थानीय युवाओं ने हाल के कुछ दिनों में इस मांग को और अधिक तेज करते हुए अवैध तरीके से नियुक्ति पत्र बांटना शुरू कर दिया. कोल्हान गवर्नमेंट स्टेट के नाम पर कोल्हान पुलिस बहाली का आयोजन चाईबासा सदर प्रखंड के मुफस्सिल थाना अंतर्गत कुर्सी पंचायत के लादुराबासा स्थित स्कूल पिछले शुक्रवार से ही किया गया था. रविवार को भी बहाली के लिए प्रशिक्षण सह शैक्षणिक प्रमाण पत्र की जांच भी की जा रही थी. कार्यक्रम से संबंधित विज्ञापन कोल्हान गवर्नमेंट ईस्टेट के नाम पर चंपाय चंद्र शेखर डांगिल द्वारा जारी किया गया था. इस बात की सूचना मिलने पर एसडीओ सदर, पुलिस पदाधिकारी व पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे. जिससे उक्त कार्यक्रम को विफल करा दिया.

Jharkhand news: ग्रामीणों द्वारा पत्थरबाजी करने से पुलिस ने छोड़े आश्रु गैस.
Jharkhand news: ग्रामीणों द्वारा पत्थरबाजी करने से पुलिस ने छोड़े आश्रु गैस.
प्रभात खबर.

1980 से अलग कोल्हान की हो रही मांग

पश्चिमी सिंहभूम जिले में अलग कोल्हान देश की मांग सन् 1980 से हो रही है. मांग को हवा देने वाले लोग विल्किंसन रूल का हवाला देते हैं. सबसे पहले 30 मार्च, 1980 में चाईबासा की सड़कों पर स्थानीय लोगों का एक समूह एकत्र हुआ था. इसी दौरान आयोजित सभा में सबसे पहले यह मांग उठी. इसका नेतृत्व कोल्हान रक्षा संघ के नेता नारायण जोनको, क्राइस्ट आनंद टोपनो व कृष्ण चंद्र हेम्ब्रम कर रहे थे. इन लोगों ने 1837 के विल्किंसन रूल का हवाला देते हुए कहा कि कोल्हान इलाके पर भारत का कोई अधिकार नहीं है.

Jharkhand news: पुलिस पर पत्थर और तीर-धनुष से हमला करते ग्रामीण.
Jharkhand news: पुलिस पर पत्थर और तीर-धनुष से हमला करते ग्रामीण.
प्रभात खबर.

आइजी अभियान ने कहा

झारखंड पुलिस मुख्यालय प्रवक्ता सह आईजी अभियान एवी होमकर ने कहा कि कोल्हान गवर्नमेंट स्टेट के नाम पर कोल्हान पुलिस बहाली का आयोजन चाईबासा सदर प्रखंड के मुफस्सिल थाना अंतर्गत कुर्सी पंचायत के लादुराबासा स्थित स्कूल में रविवार की सुबह किया गया था. इस दौरान प्रशिक्षण सह शैक्षणिक प्रमाण पत्र के जांच भी की जा रही थी. कार्यक्रम से संबंधित विज्ञापन कोल्हान गवर्नमेंट ईस्टेट के नाम पर चंपाय चंद्र शेखर डांगिल द्वारा जारी किया गया था. इस बात की सूचना मिलने पर एसडीओ सदर पुलिस अफसर और पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे. जिसके बाद कार्यक्रम को विफल किया गया.

पुलिस पर की गयी पत्थरबाजी

इस दौरान कुछ व्यक्तियों को गिरफ्तार कर मुफस्सिल थाना लाया गया है. लेकिन दिन के लगभग 2:30 बजे कुछ लोग द्वारा मुफस्सिल थाना का घेराव करते हुए पुलिस पर पत्थरबाजी की जाने लगी. जिसके कारण जिसके कारण भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया. इसके साथ ही एल अश्रु गैस छोड़े गये. जिससे भीड़ तितर-बितर हो गया और कुछ पुलिसकर्मी एवं कुछ लोगों को हल्की चोटें लगी है. जिनका उपचार सदर अस्पताल में किया जा रहा है. पूरे घटना पर चाईबासा एसपी को खुद निगरानी रखने की जिम्मेदारी दी गयी है. इसके साथ ही मामले में चाईबासा एसपी से रिपोर्ट भी मांगी गयी है.

फर्जी बहाली के खिलाफ हुई कार्रवाई : एसपी

पश्चिमी सिंहभूम के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने कहा कि कोल्हान गर्वमेंट इस्टेट के नाम पर फर्जी बहाली की जा रही थी. सदर प्रखंड की मुफस्सिल थाना अंतर्गत कुर्सी पंचायत स्थित लादुबासा स्कूल में सुबह 7 बजे से प्रशिक्षण सह शैक्षणिक प्रमाण पत्र जांच कार्यक्रम चल रहा था. बहाली से संबंधित विज्ञापन कोल्हान गवर्नमेंट इस्टेट के नाम पर चंपाय चंद्र शेखर डांगिल ने जारी किया था. इसकी सूचना पर सदर अनुमंडल पदाधिकारी व एसडीपीओ के नेतृत्व में सदर अंचल पुलिस निरीक्षक, मुफस्सिल थाना प्रभारी, दंडाधिकारी व अन्य पुलिस पदाधिकारी पर्याप्त सशस्त्र बल और लाठी बल के साथ पहुंच कर कार्यक्रम को विफल किया.

ये जवान हुए घायल

घायल जवानों में सहायक अवर निरीक्षक अर्जुन कुमार सिंह, रामविलास महतो, अगनु उरांव, सत्यवान सिंह मुंडा, सर्वदेव राय, विजय कुमार द्धिवेदी व छत्रधर व आदि पुलिस कर्मी घायल हुये हैं. वहीं एक ग्रामीण मानसिंह बारदा भी घायल हो गया है. उसे भी पुलिस ने सदर अस्पताल में भर्ती कराया है. घायल ग्रामीण बड़ाचीरू गांव का रहनेवाला है. ग्रामीणों ने पुलिस पर ईंट, पत्थर, लाठी, तलवार व डंडे से हमला कर दिया था.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें