1. home Home
  2. state
  3. bs yediyurappa managed everything well in financial crisis basavaraj bommai as the new chief minister of karnataka ksl

कर्नाटक का CM बनने के बाद पहली बार बोले बसवराज बोम्मई, वित्तीय संकट में येदियुरप्पा ने किया बेहतर प्रबंधन

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने आज कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा बनाये गये दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बसवराज बोम्मई, कर्नाटक के मुख्यमंत्री
बसवराज बोम्मई, कर्नाटक के मुख्यमंत्री
ANI

बेंगलुरु : कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने आज कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के पदचिह्नों पर चलने का संकल्प जताया. साथ ही कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री के बनाये गये दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे. नये मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने छात्रों, दिव्यांगों, विधवाओं और वृद्धों के लिए वित्तीय सहायता की भी घोषणा की.

कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि बीएस येदियुरप्पा ने लोगों के अनुकूल और जन समर्थक कार्यक्रम शुरू किये और वित्तीय संकट में भी सब कुछ अच्छी तरह से प्रबंधित किया. मैं उनके द्वारा बनाये गये दिशा-निर्देशों का पालन करूंगा. मैं बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करूंगा और प्रधानमंत्री से समय मांगा हूं. वह जब मुझे बुलायेंगे, तो मैं जाऊंगा.

बसवराज बोम्मई ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यभार संभालने के बाद मैंने कैबिनेट और अधिकारियों के साथ बैठक की. अधिकारियों के साथ बैठक में अपने एजेंडे के बारे में बता दिया है. हमारी प्राथमिकता बाढ़ और कोविड-19 प्रबंधन है. साथ ही कहा कि 1000 करोड़ रुपये से किसानों के बच्चों के लिए नयी छात्रवृत्ति योजना लायी जायेगी.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कहा कि विधवा पेंशन को 600 रुपये से बढ़ा कर 800 रुपये कर दिया गया है. 414 करोड़ से 17.25 लाख लाभार्थियों की मदद कर रहे हैं. दिव्यांग लोगों के लिए वित्तीय सहायता बढ़ा कर 600 रुपये से 800 रुपये कर दी गयी है. 3.66 लाख लाभार्थियों की मदद करने के लिए 90 करोड़ रुपये की लागत आयेगी.

इसके अलावा संध्या सुरक्षा योजना के तहत वृद्धावस्था पेंशन को 1,000 रुपये से बढ़ा कर 1,200 रुपये किया जायेगा. इससे 35.98 लाख लोग लाभान्वित होंगे. इस पर 863.52 करोड़ रुपये की अतिरिक्त लागत आयेगी. हम कोविड के बीच संसाधनों के कुशल उपयोग और खर्च को कम करके राजकोषीय अनुशासन बनाये रखने पर ध्यान केंद्रित करेंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें