फर्जी प्रमाणपत्र देने पर 20 अभ्यर्थियों पर प्राथमिकी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

हाजीपुर/ मुजफ्फरपुर : पंचायती राज विभाग में लेखापाल सह आईटी सहायक के पद पर बहाली के लिए फर्जी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने में 20 अभ्यर्थियों के खिलाफ नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. पूर्वी चंपारण के रमगढ़वा निवासी जिला पंचायती राज राज पदाधिकारी फैयाज अख्तर के लिखित शिकायत पर गुरुवार को यह कार्रवाई की गयी है. फर्जीवाड़े में शामिल अभ्यर्थी मुजफ्फरपुर , वैशाली, सारण व पटना जिले के रहनेवाले हैं.

दर्ज प्राथमिकी में जिला पंचायती राज पदाधिकारी ने बताया है कि 2018 में पंचायती राज विभाग बिहार सरकार ने लेखापल सह आईटी सहायक के पद के लिए बहाली निकाली थी. इच्छुक अभ्यर्थियों ने अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया था. मुजफ्फरपुर में 21 नंबर 2018 को अभ्यर्थियों की काउंसलिंग आयोजित की गयी थी.
काउंसिलंग के क्रम में अभ्यर्थियों के द्वारा प्रस्तुत कराये गये शैक्षणिक प्रमाण पत्र की सत्यता की जांच उत्तरप्रदेश के झांसी स्थित बुंदेलखंड विश्व विद्यालय से करायी गयी. इसमें 20 अभ्यर्थियों का प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया.
इनके खिलाफ हुई प्राथमिकी
सारण जिले के बनियापुर थाना के आशुतोष कुमार , जनता बाजार थाने के मिर्जापुर निवासी प्रभात कुमार राय, मढ़ौरा थाने के नौतन निवासी उदय प्रताप सिंह, तरैया थाने के पिपरा निवासी राजीव राम, जिला स्कूल सारण के नंदन कुमार सिंह, जलालपुर थाना के बेलकुंडा निवासी राजीव कुमार सिंह, बनियापुर थाना के खबसी निवासी चंदन कुमार, तरैया थाने के माझोपुर के शैलेंद्र कुमार सिंह,गरखा थाने के चितामनगंज के रंजीत कुमार राम, जलालपुर थाने के अनवल निवासी सोनू यादव , मुजफ्फरपुर जिले के सकरा थाने के मंसूरपुर निवासी रवींद्र कुमार ,सकरा थाने के नरसिंहपुर निवासी अनिता कुमारी, सत्यदेव दास , बोचहां के राघो मझौली निवासी अजीत कुमार ,सकरा थाने के महद्दीपुर निवासी दिलीप कुमार, सकरा थाने के मुरौल निवासी दिलीप कुमार, सकरा थाने के मझौलिया निवासी नीलम कुमारी , नगर थाने के सिकंदरपुर निवासी आनंद कुमार , पटना जिला के मसौढ़ी निवासी मो. सद्दाम आलम, वैशाली जिले के छतवारा कपूर निवासी शशि कुमार शामिल है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें