26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सासाराम में पैर धोते वक्त नहर में बह गईं चार बच्चियां, धुआं गांव में मचा कोहराम, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

सासाराम में नहर में चार लड़कियों के डूबने से धुंआ गांव में मातम पसर गया है. यह हादसा उस दौरान हुआ जब लड़कियां महद्दीगंज मध्य विद्यालय से पढ़कर अपने घर लौट रही थीं. नहर किनारे चार जोड़ी चप्पल देख लोगों ने डूबने की आशंका जताई है. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है

Bihar News: सासाराम शहर के वार्ड तीन स्थित महद्दीगंज नहर में चार बच्चियों के एक साथ डूबने से धुआं गांव में कोहराम मच गया. पूरे वार्ड में अफरा-तफरी की स्थिति रही. तीन घरों की चार बच्चियों के डूबने की सूचना मिलते ही लोग बदहवास होकर नहर की ओर दौड़ पड़े. नहर किनारे चारों बच्चियों की चप्पलें देख उनके डूबने का अनुमान लगाना सहज हो गया. तत्काल मौके पर पहुंचे राजद नेता जितेंद्र नटराज और जोगेंद्र सिंह ने सिंचाई विभाग के एसडीओ को घटना की सूचना देते हुए नहर में पानी को बंद करने का आग्रह किया. वहीं, सदर एसडीओ को सूचना देकर गोताखोर बुलाने की मांग की. अब तक बच्चियों का अता-पता नहीं चल सका है, खोजबीन जारी है.

मिडिल स्कूल मोहद्दगंज की हैं छात्राएं

धुआं गांव की चारों बच्चियां मिडिल स्कूल महद्दीगंज में पढ़ती हैं. शनिवार को स्कूल से अपने घर लौट रही थीं. हालांकि, इसका कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं है. अनुमान है कि चारों बच्चियां पैर धोने के लिए नहर में उतरी थीं, तभी पैर फिसल जाने से एक-दूसरे को बचाने के चक्कर में चारों नहर में डूब गयीं.

बच्चियों का नहीं चल पा रहा अता-पता

नहर में पानी का बहाव इतना तेज है कि बच्चियों का कहीं अता-पता नहीं चल रहा है. नहर में डूबने वाली मुन्ना यादव की दो बेटियां बिपाशा कक्षा आठ व बिट्टू कुमारी कक्षा छह की छात्रा हैं, तो वहीं पूर्णवासी यादव की बेटी पूजा कुमारी कक्षा आठ और धनजी यादव की बेटी रिमझिम कुमारी कक्षा छह की छात्रा हैं.

Also Read: कोसी नदी में उफान से गांवों में फैला पानी, बैराज पर जलाई गई लाल बत्ती

रात होने के कारण बचाव कार्य में आ रही बाधा

नहर में पानी का बहाव तेज होने और रात होने के कारण बचाव कार्य में बाधा आ रही थी. नहर में पानी को कम होने में समय लगेगा. इधर, सासाराम मुफस्सिल थानाध्यक्ष रोशन कुमार ने बताया कि उच्च अधिकारियों को घटना की सूचना दे दी गयी है. गोताखोर बुलाने के लिए आग्रह किया गया है. नहर में पानी को बंद करने के लिए भी कहा जा चुका है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें