1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. vigilance raid in patna drug inspector house as child helps to seize corruption black money skt

Bihar: उलझे अधिकारी तो मासूम ने दिया इशारा, ड्रग इंस्पेक्टर के छिपाये 4 करोड़ तक पहुंची निगरानी की टीम

पटना में भ्रष्ट ड्रग इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार के ठिकाने पर निगरानी की रेड के दौरान तब एक फिल्मी सीन सामने दिखा जब अधिकारियों को इंस्पेक्टर के परिवारजन भ्रमित करते रहे लेकिन एक मासूम के इशारे ने करोड़ों रुपया सामने ला दिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पटना सिटी स्थित आवास से बरामद नकदी.
पटना सिटी स्थित आवास से बरामद नकदी.
प्रभात खबर

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की जद में आये पटना के ड्रग इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार के ठिकानों पर छापेमारी हुई तो चौंकाने वाले खुलासे हुए. इंस्पेक्टर के घर से चार करोड़ से अधिक की राशि कैश के रूप में बरामद की गयी. हालांकि इस पैसे को जब्त करना निगरानी की टीम के लिए इतना आसान नहीं रहा. ड्रग इंस्पेक्टर के घर की बनावट, कमरों की संख्या और परिवारजनों के द्वारा भ्रमित किये जाने के बाद यह जब्ती आसान हुई एक बच्चे के इशारे पर जिसने निगरानी टीम का काम आसान बना दिया.

ड्रग इंस्पेक्टर के परिवारजनों ने काफी भ्रमित किया

पटना के ड्रग इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार की बेहिसाब संपत्ति का हिसाब निकालने में अधिकारियों को काफी मशक्कत का समाना करना पड़ा. आरोपित ड्रग इंस्पेक्टर के सुल्तानगंज स्थित खान मिर्जा गली स्थित आवास पर पहुंची निगरानी की टीम को ड्रग इंस्पेक्टर के परिवारजनों ने काफी भ्रमित किया.

मासूम ने निगरानी के काम को आसान किया

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मकान काफी बड़ा था और कई कमरे रहने के कारण निगरानी की टीम भी यह पता करने में उलझी रही कि इंस्पेक्टर का कमरा कौन सा है. उनके परिजनों ने भी हर बार गुमराह किया. लेकिन एक 6 से 7 साल के मासूम ने निगरानी के काम को आसान कर दिया और अफसर की चालाकी की वजह से कुछ ही पलों में करोड़ों रुपये भरा बैग बरामद हो गया.

ड्रग इंस्पेक्टर के कमरे को ढूंढना हो गया था मुश्किल

निगरानी की 14 सदस्यीय टीम जब छापा मारने आरोपित ड्रग इंस्पेक्टर के सुल्तानगंज स्थित खान मिर्जा गली स्थित आवास पर पहुंची तो वो ड्रग इंस्पेक्टर जितेंद्र का कमरा ढूंढने लगे. परिवार वाले अलग-अलग कमरों के बारे में जानकारी देते रहे और निगरानी की टीम उलझती रही. उन्हें ड्रग इंस्पेक्टर के कमरे में जल्द से जल्द पहुंचना था. ऐसी भी आशंका थी कि इंस्पेक्टर के कमरे से रुपये व अहम दस्तावेज हटा दिये जा सकते हैं.

बच्चे ने दिया इशारा, सामने आ गयी काली कमाई

निगरानी की टीम के एक अधिकारी की नजर अचानक एक बच्चे पर पड़ी. अधिकारी उस मासूम के पास गये और जैसे ही बच्चे से सवाल किया तो फौरन जितेंद्र कुमार के कमरे की सच्चाई बाहर आ गयी. निगरानी की टीम बच्चे के बताये कमरे की तरफ बढ़ गयी और तलाशी के दौरान बड़ी सफलता हाथ लगी. निगरानी को यहां से नोट भरा एयरबैग मिला जिसमें करोड़ों रुपये भरे हुए थे.

Published By: Thakur Shaktilochan

Prabhat Khabar App: देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, क्रिकेट की ताजा खबरे पढे यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए प्रभात खबर ऐप.

FOLLOW US ON SOCIAL MEDIA
Facebook
Twitter
Instagram
YOUTUBE

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें