1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. supaul dfo turns out to be dhankuber luxurious houses flats and shops asj

सुपौल का डीएफओ निकला धनकुबेर, पटना से पुणे तक में आलीशान मकान, फ्लैट और दुकान

निगरानी ब्यूरो ने आय से अधिक संपत्ति मामले में सुपौल के वन प्रमंडल पदाधिकारी सुनील कुमार शरण के पटना और सुपौल में चार ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की. इनमें पटना के श्रीकृष्णपुरी स्थित चार मंजिला आलीशान मकान, गोला रोड में लोट्स एबोड अपार्टमेंट में एक फ्लैट और सुपौल स्थित आवास व कार्यालय शामिल हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रुपये
रुपये
सोशल मीडिया

पटना. निगरानी ब्यूरो ने आय से अधिक संपत्ति (डीए) मामले में सुपौल के वन प्रमंडल पदाधिकारी सुनील कुमार शरण के पटना और सुपौल में चार ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की. इनमें पटना के श्रीकृष्णपुरी स्थित चार मंजिला आलीशान मकान, गोला रोड में लोट्स एबोड अपार्टमेंट में एक फ्लैट और सुपौल स्थित आवास व कार्यालय शामिल हैं.

मौर्य पथ के शांति विहार अपार्टमेंट

इस दौरान पटना के मौर्य पथ के शांति विहार अपार्टमेंट में पत्नी सुधा शरण के नाम से फ्लैट और पुणे में बेटे के नाम से एक दुकान और दो फ्लैट का पता चला. रेड की यह कार्रवाई शनिवार को की गयी थी. लेकिन, पटना स्थित उनका घर और एक फ्लैट बंद मिला था. इस कारण अगले दिन उन्हें बुलवाया गया और इसके बाद छापेमारी की कार्रवाई पूरी की गयी.

निगरानी ब्यूरो की आय से अधिक संपत्ति मामले में कार्रवाई

सुनील कुमार शरण 2023 में रिटायर होने वाले थे. अब तक की जांच में उनके खिलाफ एक करोड़ 22 लाख 60 हजार रुपये से अधिक का डीए केस बना है. जांच पूरी होने के बाद इस आंकड़े के बढ़ने की संभावना है. इनके श्रीकृष्णापुरी स्थित आलीशान मकान और गोला रोड स्थित फ्लैट में तलाशी के दौरान कई स्थानों पर निवेश और जमीन-जायदाद के कई कागजात मिले. यहां से चार लाख 12 हजार रुपये कैश, छह लाख 29 हजार के सोना-चांदी के जेवरात, 14 बैंक खातों में जमा करोड़ों रुपये और कई बैंकों के 13 क्रेडिट व डेबिट कार्ड भी मिले हैं.

नालंदा व शेखपुरा में चार एकड़ जमीन

नालंदा व शेखपुरा में चार एकड़ जमीन के कागजात भी मिले हैं, जिसमें बरबीघा बराज के पास ही एक बीघा जमीन मौजूद है. हालांकि, अन्य कई स्थानों पर भी इनकी जमीन होने की जानकारी मिली है, लेकिन इनके कागजात छापेमारी में नहीं मिले हैं. इनकी तलाश फिलहाल अधिकारी कर रहे हैं. इस मामले को लेकर इनसे पूछताछ भी हो सकती है. यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि ये जमीन के कागजात को किसी अन्य स्थान पर रखे हुए हैं. जांच के दौरान डेढ़ दर्जन से अधिक पॉलिसी में प्रत्येक वर्ष 14 लाख रुपये ज्यादा निवेश के प्रमाण भी मिले हैं.

1984 से वन विभाग में हैं कार्यरत

इनमें छह पॉलिसी मैक्स लाइफ इंश्योरेंस, 10 पॉलिसी एलआइसी और एक इंडिया फर्स्ट लाइफ की है. म्यूचुअल फंड व एलआइसी में 11.98 लाख और पोस्ट ऑफिस में केसीसी व एनएससी में 2.40 लाख से ज्यादा के निवेश के प्रमाण भी मिले हैं. बरबीघा में एसबीआइ की शाखा में एक लॉकर मिला है, जिसे सोमवार को सील कर दिया गया है. इसे खोलने पर इसमें कई महत्वपूर्ण चीजें या दस्तावेज मिलने की संभावना है. सुनील कुमार शरण फरवरी, 1984 में वन विभाग की नौकरी में आये और क्षेत्रीय पदाधिकारी के पद पर योगदान किया.

पटना व सुपौल में एक साथ छापेमारी

  • शेखपुरा में मौजूद एक बैंक लॉकर को किया गया सील

  • आय से 1.22 करोड़ रुपये अधिक संपत्ति का मामला दर्ज

  • 4.12 लाख कैश व 6.29 लाख के सोना-चांदी के जेवरात मिले

  • 14 बैंक खातों में जमा हैं करोड़ों रुपये

  • 13 क्रेडिट व डेबिट कार्ड भी मिले

  • नालंदा और शेखपुरा में चार एकड़ जमीन

  • 2023 में होने वाले थे रिटायर

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें