1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. shahabuddin wife heena sahab siwan health sick as rjd tejashwi yadav meets in paras hospital patna news skt

शहाबुद्दीन की पत्नी बीमार, पटना के पारस अस्पताल देर रात पहुंचे तेजस्वी और तेज प्रताप

राजद के पूर्व सांसद दिवंगत बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन की पत्नी व राजद नेत्री हीना शहाब बीमार हो गयी है. मंगलवार को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें इलाज के लिए सीवान से पटना लाया गया. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी उनका हाल जानने पारस अस्पताल पहुंचे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शहाबुद्दीन के बेटे से पारस अस्पताल में मिले तेजस्वी यादव
शहाबुद्दीन के बेटे से पारस अस्पताल में मिले तेजस्वी यादव
प्रभात खबर

राजद के पूर्व सांसद दिवंगत बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन की पत्नी व राजद नेत्री हीना शहाब बीमार हो गयी है. मंगलवार को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें इलाज के लिए सीवान से पटना लाया गया. पटना के पारस अस्पताल में उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया. हीना शहाब के तबियत नासाज होने की सूचना मिलने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप भी उनका हाल जानने पारस अस्पताल पहुंचे.

न्यूज 18 के अनुसार, शहाबुद्दीन की पत्नी हीना शहाब को डिहाइड्रेशन और डिप्रेशन की शिकायत थी. उनकी तबियत नासाज होने के बाद बेहतर इलाज के लिए सीवान से पटना लेकर आया गया. इस दौरान उनके बेटे ओसामा शहाब भी साथ रहे. सूचना के मुताबिक हीना शहाब को सोडियम और पोटैशियम की भी कमी बताई जा रही है. वहीं डॉक्टरों को कहना है कि मरीज के सेहत में सुधार हो रहा है और वो जल्द ही पूरी तरह ठीक हो जाएंगी.

जानकारी के मुताबिक जब तेजस्वी यादव को इस बात की जानकारी हुइ तो वो पारस अस्पताल पहुंच गये. हालांकि उनकी मुलाकात इलाजरत हीना शहाब से नहीं हो सकी लेकिन अस्पताल में उन्होंने ओसामा से मुलाकात की और कुछ वक्त साथ बिताया. इस दौरान राजद के कई विधायक तेजस्वी के साथ पारस अस्पताल पहुंचे थे.

गौरतलब है कि पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत पिछले 1 मई को दिल्ली के अस्पताल में हो गयी थी. तिहाड़ जेल में सजा काट रहे राजद के बाहुबली सांसद जेल में ही कोरोना पॉजिटिव हो गये थे. शहाबुद्दीन को जेल से अस्पताल तब लाया गया था जब उनकी तबियत काफी अधिक बिगड़ गयी थी. हालांकि उनकी सेहत इतनी बिगड़ गयी कि अस्पताल में इलाज के दौरान ही उन्होंने दम तोड़ दिया था.

शहाबुद्दीन की मौत के बाद उनके पार्थिव शरीर को बिहार लाने की अनुमति नहीं मिली थी. दिल्ली के कब्रिस्तान में ही उन्हें दफनाया गया था. उस दौरान लालू परिवार के उपर उपेक्षा करने का भी आरोप लगा था. शहाबुद्दीन के समर्थकों ने तब जमकर विरोध किया था. जिसके बाद तेजस्वी और तेजप्रताप दोनों को सफाई भी देनी पड़ गयी थी. बाद में उन्होंने सीवान जाकर शहाबुद्दीन के परिवार से मुलाकात भी की थी.

POSTED BY: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें