1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. rjd supremo lalu yadav health news updates in delhi aiims lalu prasad yadav told about tejashwi yadav rabri devi news on nitish kumar news skt

रांची में ही हो जाती मौत, लेकिन दो लोगों ने बचा ली जान, जानिए कब छटपटाकर रह गये थे लालू यादव

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
लालू यादव
लालू यादव
ट्वीटर

राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि देश में आर्थिक संकट का दौर चल रहा है. पार्टी के सिल्वर जुबली स्थापना दिवस पर करीब तीन साल बाद सोमवार को सार्वजनिक रूप से कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लालू ने कहा, मेरा राज जंगलराज नहीं, गरीबों का राज था . बेटी मीसा भारती के दिल्ली स्थित आवास से वर्चुअल रूप से जुड़े राजद अध्यक्ष ने अपने 32 मिनट के भाषण में मंहगाई के खिलाफ आंदोलन खड़ा करने की जरूरत बतायी.

लालू यादव ने कहा कि देश में सामाजिक ताना-बाना को खत्म किया जा रहा है. लालू प्रसाद ने कहा कि मैंने पांच-पांच प्रधानमंत्री को बनाने में भूमिका निभायी है. इनमें दो प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा व आइके गुजराल तो सीधे मेरे व राजद के संकल्प से बने थे. उन्होंने कहा कि राजद ने हमेशा से राष्ट्रीय नीतियों व मुद्दों को प्रभावित किया है. उसे अपनी यह भूमिका निभाते रहना है.

लालू प्रसाद ने बिना किसी का नाम लिये कहा कि मैंने देखा है कि कई लोग मंत्री नहीं बनते थे, तो वे व्याकुल हो जाते थे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में इतना भर कहा कि उन्हें केंद्र में पहली बार मंत्री मैंने ही बनवाया था. इससे पहले उन्होंने स्थापना दिवस समारोह का वर्चुअल माध्यम से पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और सांसद मीसा भारती की मौजूदगी में दीप जला कर उद्घाटन किया.

भाषण की शुरुआत उन्होंने मंडल कमीशन के संबंध में अपने संघर्ष को याद करते हुए किया. कहा कि जब से मैंने राजनीति की शुरुआत की है, तब से राजनीतिक अभियानों में हिस्सेदारी करता रहा हूं. पीड़ा तब महसूस हुई, जब मैं पिछली बार बिहार चुनाव के दौरान प्रचार नहीं कर सका था. उस समय मैं छटपटा कर रह गया था. प्रचार नहीं कर पाने का मलाल मुझे अब भी है. तीन साल बाद पार्टी नेताओं विशेषकर कार्यकर्ताओं के सामने वर्चुअल मोड में आये लालू प्रसाद भावुक दिखे. कहा कि लोगों को विश्वास दिलाता हूं कि मिट जायेंगे, लेकिन पीछे नहीं हटेंगे.

राजद नेता ने संकेतों में साफ कर दिया कि तेजस्वी राजद के भविष्य हैं. कहा कि तेजस्वी को चिंता करने की जरूरत नहीं है. राजद का भविष्य उज्ज्वल है. उन्होंने अपने संदेश में कहा कि तेजस्वी और राबड़ी नहीं होते तो मैं रांची में खत्म हो जाता. मैं पटना जरूर आकर आप लोगों से मुलाकात करूंगा. तेजस्वी ने उम्मीद से बेहतर काम करके दिखाया है. उन्होंने तेज प्रताप यादव की भी तारीफ की. दिवंगत नेता रामविलास पासवान को याद करते हुए कहा कि हमने साथ में संघर्ष किया. इस दौरान उन्होंने उन्हें श्रद्धांजलि दी.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें