1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. online food order may cause cyber fraud money from bank account by sending otp skt

खाना ऑनलाइन ऑर्डर करने पर आपके खाते में लग सकती है सेंध, जानिये जालसाजी का नया तरीका

साइबर ठगों ने ऑनलाइन ऑर्डर करके खाना मंगवाने वालों को निशाना बनाना शुरू किया है. सोशल साइट्स पर ऑफर वाले फर्जी विज्ञापन के जरिये लोगों के बैंक खाते में सेंध मारा जा रहा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
खाना ऑनलाइन ऑर्डर करने पर आपके खाते में लग सकती है सेंध
खाना ऑनलाइन ऑर्डर करने पर आपके खाते में लग सकती है सेंध
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Patna: इन दिनों ऑनलाइन खाना मंगवाने का चलन बढ़ गया है. ऑनलाइन खाना सर्व करने वाली कई वेबसाइटों में ऑफर भी कई तरह के मिलते रहते हैं. लेकिन, खाने की थाली ऑनलाइन ऑर्डर करने में आपके बैंक खाते में सेंध लग सकती है. इन दिनों साइबर ठगी का यह नया ट्रेंड देखने को मिल रहा है.

करीब एक दर्जन शिकायतें सामने

राज्य साइबर इकाई में पिछले एक पखवारे के दौरान इस तरह की करीब एक दर्जन शिकायतें आ चुकी हैं. ये शिकायतें पटना समेत अन्य स्थानों से आयी हैं. कुछ मामले नयी दिल्ली समेत अन्य शहरों से भी जुड़े हुए हैं. फिलहाल इस मामले की जांच साइबर एक्सपर्ट कर रहे हैं और पैसे के पूरे ट्रेल को जांचने में जुटे हुए हैं, ताकि इसके पीछे के गिरोह का पता चल सके.

सोशल साइट्स पर ठगी वाले विज्ञापन से रहें सतर्क 

अब तक जांच में यह बात सामने आयी है कि जिन लोगों के साथ ऑनलाइन खाना ऑर्डर करने में ठगी हुई है. उनमें अधिकतर ने फेसबुक पर इस तरह के विज्ञापन को देखकर ऑर्डर दिया था. हालांकि, अन्य सोशल साइट्स पर भी इस तरह की ठगी वाले विज्ञापन भरे पड़े हैं. इनमें किसी बड़े स्थानीय रेस्टोरेंट या किसी बड़े रेस्टोरेंट की चेन के ब्रांड नेम का उपयोग किया गया है, ताकि लोग आसानी से इनकी जाल में फंस सकें.

इस तरह ऑफर का खाना लेने में ठगे गये लोग :

शहर के फुलवारीशरीफ की एक महिला ने फेसबुक पर नामचीन रेस्टोरेंट चेन का विज्ञापन देखा, जिसमें लिखा था कि एक थाली ऑर्डर करने पर एक थाली फ्री में मिलेगी. इसे बुक करने के लिए एक मोबाइल नंबर भी दिया हुआ था. उस महिला ने कॉल किया, तो उधर से कहा गया कि आपके मोबाइल पर एक लिंक भेज रहा हूं. इसे क्लिक करके रेस्टोरेंट का एप इंस्टॉल कर लें. फिर उस पर ऑर्डर करें, तो यह ऑफर मिलेगा. उस महिला ने मोबाइल पर आये लिंक पर क्लिक करके एप इंस्टॉल करना शुरू किया, लेकिन एप इंस्टॉल होने के पहले ही बीच में महिला के एकाउंट से करीब 80 हजार रुपये कटने का मैसेज आया. इस पर वह घबरा गयी. जब तक वह समझ पाती, 11 हजार रुपये कटने का दूसरा मैसेज आ गया. इधर इंस्टॉल हुआ यह एप काम भी नहीं कर रहा था.

ऑर्डर किया तो ओटीपी नंबर आये, नंबर बताया और खाते से निकल गये 40 हजार

इसी तरह बिहार के एक व्यक्ति नयी दिल्ली अपने परिजन के पास गये हुए थे. उन्होंने एक नामी रेस्टोरेंट का विज्ञापन सोशल साइट पर देखा. इसमें था कि एक ऑर्डर के साथ कुछ व्यंजन मुफ्त मिलेंगे. उन्होंने जब विज्ञापन में दर्ज नंबर पर फोन किया, तो उधर से ‘कन्फाॅर्मेशन’ करने के नाम पर दो बार उनके मोबाइल पर आये ‘ओटीपी नंबर’ को फोन पर पूछा. जब उन्होंने दोनों ओटीपी बता दिये, तो थोड़ी देर बार उनके खाते से करीब 40 हजार रुपये कटने का मैसेज आ गया. इससे घबरा कर उन्होंने फिर से उस नंबर पर फोन किया, तो नंबर स्विच ऑफ आने लगा.

खाना ऑर्डर किया तो गूगल पर फाॅर्म भरने को कहा गया

पटना की एक महिला ने इसी तरह सोशल साइट पर विज्ञापन देखकर खाना ऑर्डर करने के लिए फोन मिलाया. तो उससे गूगल पर एक फॉर्म को भरने के लिए कहा गया. इसमें नाम-पता के साथ डेबिट या क्रेडिट कार्ड का डिटेल भी भरने के लिए कहा गया. जब उन्होंने सभी जानकारी भर दी, तो उससे ओटीपी पूछा जाने लगा. तब उसे साइबर फ्रॉड की आशंका हुई. इस पर उन्होंने तुरंत अपने बैंक को फोन करके कार्ड ब्लॉक करने की बात कही, लेकिन तब तक उनके खाते से 50 हजार रुपये निकल चुके थे.

POSTED BY: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें