24.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeएजुकेशनShikshak Bharti Exam: 396 परीक्षा केंद्रों पर आज शिक्षक अभ्यर्थी देंगे एग्जाम, जानें पूरा टाइम टेबल

BPSC Shikshak Bharti Exam Phase 2 शिक्षक भर्ती परीक्षा को लेकर सभी परीक्षा केंद्रों पर पुरुष और महिला पुलिस बल की तैनाती की गयी है. परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रहेगा और परीक्षा सीसीटीवी की निगरानी में होगी.

Shikshak Bharti Exam: 396 परीक्षा केंद्रों पर आज शिक्षक अभ्यर्थी देंगे एग्जाम, जानें पूरा टाइम टेबल

शिक्षक भर्ती परीक्षा (Bihar Shikshak Bharti Phase 2 Exam) में शुक्रवार को पटना समेत प्रदेश के 28 जिलों के 396 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जायेगी. इसमें हिंदी, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित, संस्कृत, उर्दू, अरबी, फारसी, बांग्ला, ललित कला, नृत्य, शारीरिक शिक्षा, मैथिली, संगीत और कंप्यूटर विषय के 2.35 लाख मध्य विद्यालय शिक्षक अभ्यर्थी शामिल होंगे.

पटना में नौ केंद्रों पर 8066 परीक्षार्थी आज देंगे परीक्षा

बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित अध्यापक नियुक्ति प्रतियोगिता परीक्षा शुक्रवार को पटना में नौ केंद्रों पर होगी. इसमें 8066 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे.परीक्षा एक पाली में दोपहर 12 बजे से अपराह्न 2.30 बजे तक आयोजित होने वाली थी. लेकिन, इसके समय में बदलाव हुआ है. अब यह परीक्षा दोपहार 2.30 बजे से ली जाएगी. परीक्षा के लिए 24 स्टेटिक व जोनल मजिस्ट्रेट प्रतिनियुक्त किये गये हैं. इसके अलावा 22 पुलिस पदाधिकारी तैनात रहेंगे. परीक्षा केंद्रों पर पुलिस व महिला बल की तैनाती की गयी है.

परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रहेगी. पटना में सर जीडी पाटलिपुत्र उच्च माध्यमिक विद्यालय, रविंद्र बालिका विद्यालय प्लस टू राजेंद्र नगर, राजकीय बालक उच्च माध्यमिक विद्यालय राजेंद्र नगर, कॉलेज ऑफ कॉमर्स राजेंद्र नगर, टीपीएस कॉलेज चिरैयाटांड़, दारोगा प्रसाद राय उच्च माध्यमिक विद्यालय सरिस्ताबाद, कमला नेहरू उच्च माध्यमिक विद्यालय यारपुर,एएन कॉलेज व राजकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय शास्त्रीनगर में परीक्षा केंद्र है.

दूसरे चरण की शिक्षक नियुक्ति परीक्षा गुरुवार से शुरू हो गयी. पहले दिन पहली पाली में प्रधानाध्यापक और दूसरी पाली में संगीत शिक्षक की परीक्षा थी, जिसके लिए 6473 अभ्यर्थियों ने आवेदन दिया था. पटना के तीन परीक्षा केंद्रों एएन कॉलेज, सर जीडी पाटलिपुत्र हाइस्कूल और टीपीएसी कॉलेज में आयोजित इस परीक्षा में लगभग 70 फीसदी आवेदक शामिल हुए. परीक्षा के दौरान तीनों केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था बहुत ही चाकचौबंद दिखी. हर अभ्यर्थी का बायोमेट्रिक ले कर ही उन्हें भीतर जाने दिया जा रहा था. परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार से लेकर भीतर तक हर जगह सीसीटीवी लगे हुए थे और हर परीक्षार्थी की तलाशी लेने के बाद ही उन्हें भीतर जाने दिया जा रहा था.

टीपीएस कॉलेज में प्रवेश से वंचित अभ्यर्थियों ने किया हंगामा

परीक्षा केंद्रों पर सुबह 9:30 बजे से ही परीक्षार्थियों का आना शुरू हो गया था और 10 बजे सुबह उनका परीक्षा केंद्रों के भीतर प्रवेश शुरू हो गया. पहले से घोषित व्यवस्था के तहत परीक्षा शुरू होने से एक घंटा पहले परीक्षा केंद्र का गेट बंद कर दिया गया. इसके कारण कई अभ्यर्थी जो देर से परीक्षा केंद्र पर पहुंचे थे, उन्हें भीतर नहीं जाने दिया गया. इससे नाराज होकर टीपीएस कॉलेज के गेट के बाहर परीक्षा से वंचित कई छात्राें ने सुबह 11 बजे के बाद हंगामा भी किया.

एएन कॉलेज केंद्र पर जल्द प्रवेश की दिखी आपाधापी

दूसरी पाली की परीक्षा शुरू होने के पहले एएन कॉलेज परीक्षा केंद्र पर कई परीक्षार्थियों में आपाधापी दिखी. वे पहली पाली की परीक्षा खत्म होने के बाद परीक्षार्थियों के परीक्षा भवन से बाहर निकलने के पहले ही परीक्षा केंद्र के भीतर घुसने का प्रयास करते दिखे, जिसके कारण बाहर निकलने वाले परीक्षार्थियों को परेशानी हुई.

ऑनर्स स्तर के थे प्रश्न

प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति के लिए ली गयी परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न टफ थे. अभ्यर्थियों ने बताया कि पूछे जाने वाले 80 फीसदी से अधिक प्रश्न स्नातक ऑनर्स स्तर के थे. इसके कारण अपने शैक्षणिक पृष्ठभूमि से संबद्ध विषयों तक तो अभ्यर्थियों की स्थिति ठीक थी, लेकिन उसके बाहर के विषयों से पूछे जाने वाले प्रश्नों को हल करने में उनके पसीने छूट गये. जो आर्ट्स के छात्र रहे थे, उनके लिए सामान्य विज्ञान के प्रश्न बेहद कठिन थे, जबकि विज्ञान पृष्ठभूमि वाले छात्रों को इतिहास और राजनीति विज्ञान के प्रश्नों को हल करने में भी परेशानी हुई. अर्थशास्त्र के प्रश्न, तो इतने टफ थे कि अर्थशास्त्र के छात्र रह चुके प्रतिभागियों को भी परेशानी हुई. संगीत के दो-तीन प्रश्न भी पूछे गये थे, जिससे अधिकतर परीक्षार्थियों में नाराजगी दिखी. कई ने कहा कि हेडमास्टर बनने के लिए संगीत का ज्ञान परीक्षण किस हद तक उपयोगी है.

80 अंक के आसपास कटऑफ रहने की संभावना

प्रश्न का स्तर देखने के बाद क्रॉनिकल एकेडमी के एमडी कुमार विजय ने कहा कि 150 में से 30 अंक क्वालीफाईंग भाषा के हैं. 120 अंकों में से जो भी अभ्यर्थी 80 अंक के आसपास ले आयेंगे उसका सामान्य श्रेणी में चयन होने की पूरी संभावना है. अन्य आरक्षित श्रेणियों का कटऑफ 60 से 80 के बीच रहेगा.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें