1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. cbse schools of patna zone have given more than the prescribed standard in 10th board now the result delayed asj

सीबीएसइ : पटना जोन के स्कूलों ने 10वीं बोर्ड में निर्धारित मानक से अधिक दे दिये अंक,अब रिजल्ट में होगी देरी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सीबीएसइ बोर्ड
सीबीएसइ बोर्ड
फाइल

पटना. सीबीएसइ स्कूलों ने स्टूडेंट्स को 10वीं बोर्ड परीक्षा के लिए तय मानक से अधिक अंक दे दिये हैं. बोर्ड ने ऐसे स्कूलों की सूची जारी की है. इनमें पटना के कई टॉप स्कूल भी शामिल हैं, जिन्होंने अपने स्टूडेंट्स को हिस्टोरिकल इयर्स के औसत से ज्यादा अंक दिये हैं. बोर्ड ने इन सभी स्कूलों की जम कर फटकार लगायी है और पुन: तय मानक के आधार पर स्टूडेंट्स को अंक देने को कहा है.

इन स्कूलों को जल्द-से-जल्द अंकों में सुधार कर पुन: बोर्ड को देना है. इस कारण 10वीं बोर्ड के रिजल्ट जारी करने में देरी हो रही है. वैसे 20 जुलाई तक रिजल्ट जारी होने की उम्मीद थी, लेकिन अब 20 जुलाई तक रिजल्ट जारी नहीं हो सकती है. बोर्ड ने कहा कि अंकों में सुधार और रिजल्ट तैयार करने के लिए कई मौके दिये गये.

इसके बाद भी इन स्कूलों ने रिजल्ट में सुधार नहीं किया. इन स्कूलों ने रिजल्ट बनाने में लापरवाही बरती है. हालांकि, सीबीएसइ के परीक्षा नियंत्रक डॉ संयम भारद्वाज ने पहले भी स्पष्ट कर दिया है कि अगर स्कूल देरी करेंगे, तो उनके रिजल्ट में देरी होगी. उनको होल्ड पर रख कर दूसरे स्कूलों का रिजल्ट जारी कर दिया जायेगा.

कई स्कूलों ने बोर्ड के दिशा-निर्देश का नहीं किया पालन

इन स्कूलों के कारण 10वीं बोर्ड के रिजल्ट में देरी हो सकती है. बोर्ड ने कहा कि स्कूलों को हमेशा गाइड किया गया है. इसके बाद भी सही अंक काफी स्कूलों ने नहीं भेजे हैं. इससे पहले थ्योरी के अंक अपलोड करने की अंतिम तिथि 30 जून रखी गयी थी. इनमें भी पटना जोन के 253 स्कूलों ने समय पर अंक नहीं भेजे थे. इसके बाद बोर्ड ने जब अंकों की जांच की, तो पाया है कि 175 स्कूलों ने बोर्ड के अनुसार मार्क्स नहीं दिये हैं.

सीबीएसइ के सिटी को-ऑर्डिनेटर डॉ राजीव रंजन ने कहा कि बोर्ड ने स्कूलों को दिशा-निर्देश बहुत स्पष्ट तौर पर दे दिया था. इसके बावजूद कई स्कूलों ने रिजल्ट बनाते हुए बोर्ड के दिशा-निर्देश पालन नहीं किया है. स्कूलों को पुन: रिजल्ट में संशोधन करने के लिए कहा गया है.

अब इस हफ्ते जारी हो सकता है रिजल्ट

10वीं का रिजल्ट 20 जुलाई के बाद ही आने की संभावना है. इस बार बोेर्ड कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं करेगा, न ही 10वीं और न ही 12वीं की. स्कूल अपने-अपने टॉपर की सूची जारी करेंगे, जो पहले से वे करते आ रहे हैं. इस बार बोर्ड ने परीक्षा नहीं ली है, इसलिए विषय टॉपर या जोन टॉपर घोषित नहीं किया जायेगा.

पटना के 25 स्कूलों ने दिये अधिक अंक

  • 1. नोट्रेडम एकेडमी

  • 2. आर्मी स्कूल, दानापुर कैंट

  • 3. दिल्ली पब्लिक स्कूल, शाहपुर

  • 4. संत मेरी स्कूल मसौढ़ी

  • 5. डीएवी पब्लिक स्कूल, दानापुर

  • 6. पाटलिपुत्र सेंट्रल स्कूल, कृष्णा विहार

  • 7. ओमेगा मिशन स्कूल, दानापुर

  • 8. ईशान इंटरनेशनल गर्ल्स स्कूल बेली रोड, दानापुर

  • 9. संत कैरेंस हाइस्कूल गोला रोड

  • 10. एनइएचएस ज्ञानचक दीदारगंज

  • 11. संत मैरी एकेडमी एजी कॉलोनी

  • 12. सरस्वती विद्या मंदिर

  • 13. शेरोन्स पब्लिक स्कूल, राम नगरी

  • 14. ओपेन माइंड एसके पुरम, बेली रोड

  • 15. द त्रिभुवन स्कूल, खगौल

  • 16. प्राकृतिक स्कूल, नौबतपुर

  • 17. श्री राम सेंटेंनियल स्कूल

  • 18. डॉ डीवाइ पाटील स्कूल

  • 19. संत जॉन्स एकेडमी, कंकड़बाग

  • 20. केंद्रीय विद्यालय, कंकड़बाग

  • 21. केंद्रीय विद्यालय, बेली रोड

  • 22. केंद्रीय विद्यालय, खगौल

  • 23. केंद्रीय विद्यालय, बिहटा

  • 24. स्कॉलर्स एबोडे हाइस्कूल, चिरौरा

  • 25. लिट्रा वी स्कूल, नया टोला

इस फाॅर्मूले का करना था पालन

सीबीएसइ का मानना है कि हर छात्र 96 या उससे अधिक अंक प्राप्त नहीं कर सकता है. फॉर्मूले के तहत सुझाया गया था कि स्कूल हर छात्र का तीन साल का परिणाम देखते हुए औसत अंक अपलोड करेंगे, मगर कुछ स्कूलों ने रिजल्ट बेहतर करने के चक्कर में हर छात्र को अधिकतम अंक दे दिया.

12वीं के रिजल्ट पर भी पड़ेगा असर

अगर स्कूल सही से बोर्ड द्वारा तय दिशा-निर्देश का पालन नहीं करेंगे तो 12वीं के रिजल्ट पर भी इसका असर पड़ सकता है. 12वीं का रिजल्ट 31 जुलाई को जारी होना है. बोर्ड ने 22 जुलाई तक अंक अपलोड करने के लिए पोर्टल खोल दिया है. स्कूल 22 जुलाई तक 11वीं और 12वीं के अंक सुधार कर भेज सकते हैं.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें