37.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

तेजस्वी यादव के लिए बुरी खबर, आईआरसीटीसी घोटाले मामले में सीबीआई ने की ट्रायल तेज करने की मांग

IRCTC घोटाले मामले में सीबीआई ने लालू यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव सहित 11 अन्य लोगों को आरोपी बनाया है. चार साल पुराने इस मामले में अब तक बहस शुरू नहीं हो पाई है इसी को लेकर अब सीबीआई ने हाई कोर्ट से ट्रायल तेज करने की मांग की है.

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में नयी सरकार का गठन हो चुका है. नीतीश कुमार द्वारा एनडीए गठबंधन से बाहर निकलने और तेजस्वी यादव का दामन थामने के बाद अब सीबीआई भी आईआरसीटीसी घोटाले मामले में तेजी लाने जा रही है. इसके लिए सीबीआई ने हाई कोर्ट से मांग की है की जल्द ही इस घोटाले मामले में बहस शुरू की जाए.

तेजस्वी यादव सहित 11 अन्य आरोपी 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने IRCTC घोटाले मामले में मोर्चा संभाल लिया है. इस मामले में लालू परिवार के कई लोगों को आरोपी बनाया गया है. जिसमें राबड़ी देवी और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सहित 11 लोगों को आरोपी बनाया गया है. इस मामले में सीबीआई द्वारा चार वर्ष पहले चार्ज शीट दायर की गई थी परंतु अभी तक बहस शुरू नहीं हो पाई है.

आरोपी द्वारा दायर की गई थी याचिका 

दिल्ली हाई कोर्ट में एक आरोपी ने 2019 में एक याचिका दायर कर सीबीआई पर आरोप लगाया था की बिना सरकार की मंजूरी के उस पर आरोप तय किया जा रहा है. उसने हाई कोर्ट से चार्ज शीट रद्द करने की मांग करते हुए कहा था की जिस वक्त की यह घटना है उस वक्त वो सरकारी कर्मचारी था. इसलिए बिना सरकार की अनुमति के सीबीआई उस पर आरोप दायर नहीं कर सकती. इसके बाद दो अन्य आरोपियों द्वारा भी याचिका दायर की गई थी. इन्हीं कारणों से अब तक इस मामले में बहस शुरू नहीं हो पाई है.

सीबीआई ने की बहस शुरू करने की मांग 

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार सीबीआई ने हाई कोर्ट में एक अर्जी दाखिल कर आरोपी के अर्जी पर फैसले की मांग की है. सीबीआई का कहना है की कोर्ट से जो फैसला मिलेगा उसी के अनुसार आरोप तय किए जाएंगे. इसके साथ ही सीबीआई ने हाई कोर्ट से आरोपों पर बहस शुरू करने की भी मांग की है.

Also Read: Bihar Cabinet Expansion : राजद के 16 नेताओं ने ली मंत्री पद की शपथ, जानें किसे मिला कौन सा मंत्रालय

बता दें की इस मामले में सीबीआई ने 2017 में लालू यादव, बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत कई अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था और फिर एक साल बाद इस मामले में चार्ज शीट दाखिल की गई थी. यह पूरा मामला उस वक्त है जब लालू प्रसाद यादव यूपीए की सरकार में रेल मंत्री थे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें