1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar mukhiya murder caused fear as mukhiya sangh meets bihar dgp and minister for security skt

Bihar News: खौफ में जी रहे बिहार में चुने हुए मुखिया, 6 की हो चुकी हत्या, DGP व मंत्री के पास लगायी गुहार

बिहार में पंचायत चुनाव जीत की खुशी अब खौफ में बदलने लगी है. आधा दर्जन मुखिया की हत्या अपराधी अभी तक कर चुके हैं. वहीं खौफ में जी रहे मुखियाओं ने डीजीपी और मंत्री से सुरक्षा की गुहार लगायी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार मुखिया चुनाव
बिहार मुखिया चुनाव
प्रभात खबर

बिहार में पंचायत चुनाव संपन्न हो चुका है. लेकिन चुनाव के पहले और अब चुनाव के बाद, राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक के बाद एक करके कई मुखिया अपराधियों के हमले का शिकार बन चुके हैं. नवंबर से लेकर जनवरी तक में आधा दर्जन मुखिया को मौत के घाट उतार दिया गया है. जिसके बाद अब जीते हुए प्रत्याशियों में खौफ है. बिहार मुखिया संघ के प्रतिनिधियों ने सुरक्षा को लेकर मंत्री और डीजीपी से मुलाकात की है.

गोपालगंज में मुखिया को हाल में मारी गोली

बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर खुनी खेल का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. हाल में ही गोपालगंज में एक नवनिर्वाचित मुखिया की हत्या गोली मारकर कर दी गयी. थावे थाना के धतिगना के मुखिया सुखल मुशहर को अपराधियों ने घर के बाहर ही गोली मार दी और भाग गये. इलाज के क्रम में ही मुखिया ने दम तोड़ दिया. ये कोई पहली वारदात नहीं बल्कि नवंबर महीने से कुल 6 मुखिया मौत के घाट उतारे जा चुके हैं.

मुंगेर में मुखिया का नक्सलियों ने रेता गला

गोपालगंज की घटना के पहले मुंगेर में मुखिया की हत्या ने सनसनी फैला दी थी. नक्सल प्रभावित धरहरा प्रखंड के अजिमगंज पंचायत के नव निर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू की माओवादियों ने हत्या कर दी थी. मुखिया को गला रेतकर मार दिया गया था. इस घटना को चुनाव परिणाम से जोड़कर देखा गया था. दरअसल, मुखिया चुनाव के पहले ही अजिमगंज पंचायत में नक्सलियों ने पर्चा छोड़ कर एक महिला मुखिया प्रत्याशी के पक्ष में सभी को समर्थन देने का फरमान जारी कर दिया था. वहीं इस बात को किनारे करते हुए जब परमानंद टुडू ने जीत हासिल कर ली तो उन्हें मौत दे दी गयी.

भोजपुर और जमुई में भी मुखिया की हत्या 

गोपालगंज और मुंगेर की घटना से पहले भोजपुर जिले में मुखिया की हत्या कर दी गयी थी. चरपोखरी प्रखंड की बाबूबांध पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह को एंबुलेंस में सवार अपराधियों ने गोलियों से भून दिया था और फरार हो गये थे. जमुई के अलीगंज प्रखंड अंतर्गत दरखा पंचायत के मुखिया जयप्रकाश प्रसाद उर्फ प्रकाश महतो को दिसंबर में मार दिया गया.

पटना में दो मुखिया की हत्या

पटना के बाढ़ थाना क्षेत्र से शादी समारोह से लौट रहे पंडारक पूर्वी से जीते मुखिया प्रियरंजन कुमार उर्फ गोरेलाल को गोली मार दी गयी थी. पटना के फुलवारीशरीफ प्रखंड स्थित रामपुर फरीदपुर पंचायत के मुखिया नीरज कुमार को भी गोलियों से भून दिया गया था.

डीजीपी और मंत्री से मिले दर्जनों मुखिया

राज्य में मुखिया पर तेजी हो रहे हमलों और हत्या के मामले को लेकर बिहार मुखिया संघ के प्रतिनिधियों ने पंचायती राज मंत्री और डीजीपी से मुलाकात की. संघ के प्रतिनिधियों ने मुखिया की सुरक्षा को लेकर बात की और मुखिया की सुरक्षा के लिए खासतौर से रणनीति तैयार करने की मांग की. जिन मुखियाओं की हत्या हो गयी या हमला हुआ है, उसके आरोपितों पर जल्द ही सख्त कार्रवाई करने की मांग की है. इस प्रतिनिधिमंडल में दर्जनों मुखिया मौजूद थे.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें