1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar latest news six members of solver gang arrested in patna many shocking revelations during police interrogation

गर्लफ्रेंड के अकाउंट में मंगाते थे पैसे, हर परीक्षा पास कराने की तय थी कीमत, सॉल्वर गैंग ने किये कई चौंकाने वाले खुलासे

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सॉल्वर गैंग ने किये कई चौंकाने वाले खुलासे
सॉल्वर गैंग ने किये कई चौंकाने वाले खुलासे
प्रतिकात्मक फोटो, ट्वीटर

पटना : मेडिकल, इंजीनियरिंग, पुलिस और सेना की भर्ती में अभ्यर्थियों को पास कराने का सपना दिखा कर ठगी करने वाले पटना में पकड़े गये सॉल्वर गैंग के सदस्यों ने पूछताछ में पुलिस को कई चौंकाने वाले खुलासे किये हैं. शातिरों ने पुलिस को बताया कि सौरभ सुमन बोरिंग रोड, राजेंद्र नगर व कंकड़बाग आदि जगहों के कोचिंग सेंटर में तैयारी करने वाले छात्रों को अपना शिकार बनाता था. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों को एक से दो लाख रुपये का लालच देकर सॉल्वर बनने के लिए तैयार करता था.

गिरफ्तार आरोपितों में कोई इंजीनियरिंग तो कोई एमबीए पास है. सरगना पटना निवासी अतुल वत्स से इन शातिरों ने फर्जीवाड़े का गुर सीखा था. कई परीक्षाओं के पेपर लीक होने व फर्जीवाड़े के मामले में अतुल के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा व मुंबई में केस दर्ज हैं. पुलिस ने सभी को रविवार को विशेष कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया.

मल्टी नेशनल कंपनियों में भी नौकरी लगाने का देते थे झांसा: पुलिस के मुताबिक ये शातिर 25 लाख में मेडिकल की नीट व 12 लाख में इंजीनियरिंग की परीक्षा पास करा कर एडमिशन कराने का ठेका लेते थे. अन्य सरकारी विभागों में नौकरियां दिलाने का रेट शातिरों द्वारा तय था. ये मल्टी नेशनल कंपनियों में भी नौकरी लगाने के नाम पर झांसा देते थे. इन शातिरों द्वारा पटना के बोरिंग कैनाल रोड स्थित विंध्याचल अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 11 बी में ऑफिस खोल कर मणिपाल विवि की इंजीनियरिंग परीक्षा के नाम पर अभ्यर्थियों से मोटी रकम वसूली जा रही थी. सरगना पटना निवासी अतुल वत्स फरार चल रहा है, जिसकी तलाशी में टीम जुट गयी है.

गर्लफ्रेंड के बैंक खातों में मंगाते थे रकम

फर्जीवाड़े के इस धंधे में गिरफ्तार आरोपितों में सौरभ सुमन और उज्ज्वल उर्फ गजनी की गर्लफ्रेंड भी सहयोगी बतायी जा रहीं हैं. ये आरोपित अभ्यर्थियों से मोटी रकम तय कर अपनी गर्लफ्रेंड के बैंक अकाउंट में राशि मंगाते थे, जिन्हें गिरफ्तार किया गया है. पुलिस इनके बैंक खातों की जांच कर रही है. दोनों महिला मित्रों का भी अपार्टमेंट में आना-जाना होता था. गैंग के बोरिंग रोड स्थित ऑफिस को रमेश और उज्ज्वल चलाते थे. पुलिस पूछताछ में यह भी पता चला है कि 2015 में महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुई मेडिकल प्रवेश परीक्षा पेपर लीक में भी इस गैंग का हाथ था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें