1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar cm nitish kumar said caste census in india pm modi letter not reply central government avh

जातीय जनगणना पर बोले बिहार के सीएम नीतीश कुमार- 'PM Modi को लिखे खत का अब तक नहीं आया जवाब, आगे विचार करेंगे'

जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक फिर से जाति आधारित जनगणना कराने की पूरजोर वकालत की है. उन्होंने कहा है कि यह किसी एक के हित की बात नहीं है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार के सीएम नीतीश कुमार
बिहार के सीएम नीतीश कुमार
प्रभात खबर

जातीय जनगणना कराने को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि अभी तक केंद्र सरकार की ओर से कोई जवाब नहीं आया है. हमने इस संबंध में पीएम मोदी को 4 अगस्त को ही पत्र लिख दिया था. वहां से जैसे ही कोई जवाब आएगा, हम आगे स्टेप उठाएंगे.

जनता दरबार (Janta Darbar) में पत्रकारों से बात करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में हम लोग 1990 से ही जातीय जनगणना की मांग करते आ रहे हैं. बिहार में 2019 में 2020 में विधानसभा में सर्वसम्मति से पारित हो चुका है. हमने पिछले दिनों पीएम मोदी को पत्र लिखा है, वहां से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है. जवाब आने के बाद हम लोग इसको यहां देखेंगे.

जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumr) ने एक फिर से जाति आधारित जनगणना कराने की पूरजोर वकालत की है. उन्होंने कहा है कि यह किसी एक के हित की बात नहीं है. बल्कि पूरे राष्ट्र के हित का मामला है. सभी के विकास के लिए एक बार इसे करना बेहद आवश्यक है.

सीएम ने आगे कहा कि इसे कराने की इच्छा पूरे देश में सबों की है. एक बार जाति आधारित जनगणना (Caste Based Census) कराना सभी के विकास और उत्थान के लिए बेहद जरूरी है. सभी वर्ग के लोगों को इसका लाभ मिलना चाहिए. 1931 में यह अंतिम बार हुआ था. अब इसे मौजूदा समय में एक बार जरूर करवा लेना चाहिए, सभी वर्ग के विकास के साथ ही राष्ट्र को सही तरीके से विकसित करने के लिए यह बेहद आवश्यक कदम है. इससे यह स्पष्ट हो जायेगा कि किस वर्ग के लिए किस क्षेत्र में क्या करने की आवश्यकता है.

Posted By : Avinish Kumar Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें