25.4 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सोशल मीडिया हैंडल्स पर मिली शिकायतों पर भी त्वरित कार्रवाई कर रही बिहार पुलिस

बिहार पुलिस अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों की मदद से न सिर्फ आपराधिक मानसिकता वाले संदिग्ध लोगों पर नजर रख रही है, बल्कि इन प्लेटफॉर्म पर मिलने वाली शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई भी कर रही है.

– 300 से अधिक संदेहास्पद अकाउंट चिह्नित कर कार्रवाई के लिए इओयू को भेजे, कई पर एफआइआर, तीन दर्जन अकाउंट हुए बंद – सोशल मीडिया हैंडल्स पर हथियार लहराने से लेकर बाइक स्टंट व सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की शिकायतें अधिक संवाददाता, पटना बिहार पुलिस अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों की मदद से न सिर्फ आपराधिक मानसिकता वाले संदिग्ध लोगों पर नजर रख रही है, बल्कि इन प्लेटफॉर्म पर मिलने वाली शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई भी कर रही है. बिहार पुलिस की सोशल मीडिया टीम ने पिछले दो महीने में विभिन्न प्लेटफॉर्म पर 300 से अधिक संदेहास्पद सोशल मीडिया अकाउंट को चिह्नित कर आर्थिक अपराध इकाई (इओयू) को कार्रवाई के लिए भेजा है. बिहार पुलिस के सूत्रों के मुताबिक इओयू ने इनमें से दर्जनों अकाउंट पर एक्शन लेते हुए कुछ पर एफआइआर दर्ज की है, जबकि तीन दर्जन से ज्यादा अकाउंट बंद भी करवाये हैं. सोशल मीडिया सेंटर पर मुख्यतः बाइक से स्टंट करने, हथियार दिखाने या सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करने आदि की शिकायतें मिल रही हैं. अपराध पर लगाम लगाने को ‘फर्स्ट रिस्पांडर’ बनने की कोशिश बिहार पुलिस का सोशल मीडिया सेंटर अपराध पर लगाम लगाने के लिए‘फर्स्ट रिस्पांडर’ की भूमिका निभा रहा है. दरअसल कई मामलों में लोग शिकायत के लिए थाना जाने से बचते हैं. ऐसे में उनके द्वारा बिहार पुलिस के ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैंडल्स पर शिकायत करते हैं. हाल ही में पांच मई 2024 को सीवान जिले के मैरवा के एक युवक द्वारा ऑर्केस्ट्रा में पिस्टल लहराने से जुड़ी शिकायत बिहार पुलिस के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्राप्त हुई. इसके बाद बिहार पुलिस के सोशल मीडिया सेंटर ने संबंधित जिला पुलिस को मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया. नतीजतन, अगले दिन ही अवैध हथियार का प्रदर्शन करने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया गया. इसी तरह, सीतामढ़ी के प्रशांत यादव नामक युवक का स्टंट करता एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर बिहार पुलिस की सोशल मीडिया की टीम ने उसे ट्रैक कर संबंधित थाने को भेजा. इसके बाद सीतामढ़ी पुलिस ने उस लड़के का पता लगाया और उसके घर जाकर उसकी बुलेट बाइक जब्त की. उसके बारे में शिकायत मिल रही थी कि वह खुद हुड़दंग करता ही है, बाकियों को भी इसके लिए भड़काता है. वहीं, गोपालगंज से भी एक लड़के का हथियार दिखाते रील्स वायरल हुआ था. सोशल मीडिया सेंटर की सूचना पर बिहार पुलिस की टीम ने चंद घंटे में ही एक देसी कट्टा के साथ उसे गिरफ्तार कर लिया. लोकसभा चुनाव को लेकर 24 घंटे अलर्ट पर टीम दरअसल लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बिहार पुलिस की सोशल मीडिया सेंटर की टीम चौबीसों घंटे अलर्ट मोड पर काम कर रही है. टीम के द्वारा कई मामलों में फर्जी अकाउंट बनाकर सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने या धार्मिक उन्माद फैलाने की कोशिश करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध भी उचित कार्रवाई की गयी है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें