व्यापारियों की मुश्किल दूर करेगा जेम-पोर्टल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष से जेम या जीइएम पोर्टल से ही सभी सरकारी सामान की खरीद होगी. वह मुख्य सचिवालय स्थित अधिवेशन भवन में गुरुवार को जेम पोर्टल पर आयोजित संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने जेम पोर्टल पर खरीद-बिक्री में आने वाली सभी समस्याओं को विक्रेताओं से सुना और उनका समाधान किया. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कौन-कौन विभाग जेम से खरीद नहीं कर रहे हैं.

उसकी लिस्ट तैयार कर इसका कारण पता किया जाये. जो विभाग इस पोर्टल से किसी तरह के सामान की खरीद करेंगे, वे पहले इसके लिए बनाये गये एसजीपीए (स्टेट जेम पोर्टल एकाउंट) में उतनी राशि जमा करवा दें. इसके बाद ही उस सामान की खरीद की जायेगी ताकि वेंडरों को पेमेंट करने के लिए निर्धारित 15 दिनों की समयसीमा में अगर संबंधित विभाग पेमेंट नहीं करते हैं, तो ऑटोमेटिक वेंडर के एकाउंट में इस एकाउंट से पैसे चले जायेंगे.
बिहार इस पोर्टल में इस तरह की व्यवस्था करने वाला पहला राज्य है. बिहार में अब तक 704 करोड़ के सामान की खरीद इससे की जा चुकी है. इस वित्तीय वर्ष के अंत तक इसे बढ़ाकर एक हजार करोड़ करवाने का लक्ष्य है.
दूसरों को महिला विरोधी बताने से पहले राजद देखे अपना घर
पटना. डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर राजद पर जोरदार हमला किया है. उन्होंने कहा कि जिस पार्टी की सियासी सरपरस्ती मिलने से राजबल्लभ यादव और अरुण यादव जैसे लोग विधायक बनने पर जनता की सेवा करने के बजाय गरीबों की नाबालिग बेटियों से बलात्कार जैसा अपराध करते हैं. उसे दूसरों को 'महिला विरोधी' बताने से पहले अपना घर देखना चाहिए.
राजद के दो विधायक जब लालू परिवार की पीड़ित बहू के खिलाफ बयान देते हों, तब बिहार की आम बेटी-बहू इनसे क्या उम्मीद कर सकती है. राजद बताये कि महिला रिजर्वेशन बिल की कापी किसने फाड़ी थी. उन्होंने कहा कि राजद ने महागठबंधन के घटक दलों से राय लिए बिना 2020 के विधानसभा चुनाव के लिए जिन्हें सीएम प्रत्याशी घोषित किया, उन पर किसी दल का विश्वास नहीं. वे पिछले 32 महीनों में विरोधी दल के नेता के रूप में कोई भरोसेमंद छवि नहीं बना सके.
उन्होंने कहा कि राजद के बड़े नेता चमकी बुखार और बाढ़ जैसी आपदा के समय जनता के बीच नहीं दिखे. सदन में जनहित का एक भी सवाल न पूछने वाले नेता केवल सोशल मीडिया पर सक्रिय रहे.
ऐसे ट्विटर ब्वाय के नेतृत्व में लोकसभा का चुनाव लड़ने पर पार्टी जीरो पर आ गई. अब उन्हें नेता मानने से कांग्रेस ने भी इनकार कर दिया है. लालू परिवार में पॉवर वार के साथ-साथ तलाक और घरेलू हिंसा को लेकर दायर मुकदमों से भी राजद के युवराज की हताशा बढ़ी है.
लोगों ने रखीं कई समस्याएं
इस दौरान कई कंपनियों के विक्रेताओं ने कई तरह की समस्याएं वित्त मंत्री के समक्ष रखीं. इसी क्रम में टाटा स्टील के प्रतिनिधि ने बकाया कि उनसे 400 मॉड्यूलर टॉयलेट की खरीद की गयी है, लेकिन छह करोड़ में महज 88 लाख रुपये का ही पेमेंट अब तक हुआ है.
महीने से लटके पेमेंट का कारण पूछने पर नगर निकाय के अधिकारी कहते हैं कि किस मद से पेमेंट करें, यह पता ही नहीं चला रहा है. इसका समाधान करने के लिए वित्त मंत्री ने अधिकारियों को कहा. कार्यक्रम को वित्त विभाग के प्रधान सचिव डॉ एस सिद्धार्थ, सचिव राहुल सिंह, जेम पोर्टल के कार्यकारी सीइओ एस सुरेश कुमार और अपर सचिव उदयन मिश्रा ने भी संबोधित किया.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें