45% युवा स्नातक मतदाता बनने से चूके

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : स्नातक चुनाव में मतदाता बनने के लिए ऑनलाइन अावेदन भरने वाले लोग सिस्टम में उलझ कर रह गये. त्रुटि की वजह से वेरिफिकेशन में 45 प्रतिशत युवा स्नातक चुनाव में मतदाता नहीं बन सके. उनके आवेदन को खारिज कर दिया गया है. पटना, नवादा व नालंदा जिले से ऑनलाइन 16,324 आवेदन आये थे. इन लोगों को निर्वाचन कार्यालय से मैसेज भेजा गया था कि वह अपने संबंधित ब्लॉक पर जाकर वेरिफिकेशन करा लें. 15 व 16 नवंबर तारीख को वेरिफिकेशन कराने की तिथि निर्धारित थी.

अब वेरिफिकेशन के बाद 9 हजार 706 लोगों के ही आवेदनों को स्वीकृत मिली है और करीब 7 हजार आवेदन खारिज कर दिया गया है. ये वह लोग हैं, जिन्होंने फाॅर्म सबमिट करने में कुछ गलती कर दी थी. वहीं, ऑनलाइन और ऑफलाइन के जरिये कुल मतदाता 82 हजार बन पाये हैं. वहीं, शिक्षक स्नातक में कुल 8456 मतदाता बने हैं. इसमें ऑनलाइन आवेदन 92 अाया था, जिसमें से 42 मान्य हैं.
ऑनलाइन प्रक्रिया को लेकर उठ रहे सवाल : स्नातक मतदाता बनने के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया इसलिए बनाया गया था कि मतदाताओं को घर बैठे सुविधा मिले और लोग इंटरनेट के जरिये आवेदन करके मतदाता बन सकें.
लेकिन, वेरिफिकेशन के लिए उन्हें संबंधित ब्लॉक पर जाना था. इसको लेकर निर्वाचन से जुड़े लोगों का कहना है कि जब वेरिफिकेशन फिजिकली कराना ही था तो ऑनलाइन आवेदन के क्या मायने हैं. वहीं, ऑफलाइन की प्रक्रिया इससे आसान है.
ऑनलाइन आवेदन करने वालों की संख्या
जिला अावेदन खारिज
पटना 11,200 7,061
नालंदा 2514 1,564
नवादा 2610 1,081
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें