29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Cyber ​​Crime: अंतरराज्यीय गिरोह के 10 साइबर अपराधी गिरफ्तार, जानें कैसे ठगा करते थे…

Cyber ​​Crime झारखंड के जामताड़ा के बाद बिहार के नवादा जिला साइबर अपराधियों का गढ़ माना जा रहा है. इनकी गिरफ्तारी को पुलिस एक बड़ी सफलता मान रही है

Cyber ​​Crime नवादा जिले के साइबर थाने की पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने फ्लिपकार्ट के नाम पर ठगी करनेवाले अंतरराजयी गिरोह के 10 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अपराधियों के पास से 33 मोबाइल, तीन लैपटॉप, 50 एटीएम कार्ड, 40 पासबुक, 25 चेक बुक, 80 सिम कार्ड व 95 हजार नकदी रुपये सहित अन्य सामान बरामद किये गये हैं. गिरफ्तार अपराधियों में नवादा के सात, नालंदा का एक और झारखंड के कोडरमा जिले के तीन साइबर अपराधी शामिल हैं.

जानकारी के अनुसार, गिरफ्तार साइबर अपराधी फ्लिपकार्ट के नाम पर भोले-भाले लोगों से रुपये की ठगने करते थे. साइबर थाने की इस कार्रवाई से साइबर अपराधियों में हड़कंप मच गया है. नवादा एसपी कार्तिकेय के शर्मा ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि विगत कुछ दिन पूर्व साइबर थाने को इओयू द्वारा कुछ साइबर अपराधियों के बारे में सूचना मिली. सूचना के बाद एसपी के निर्देश पर साइबर डीएसपी सह थानाध्यक्ष प्रिया ज्योति के नेतृत्व में एक एसआइटी गठित की गयी. एसआइटी गठन के बाद जिले के विभिन्न जगहों पर छापेमारी की गयी. छापेमारी के क्रम में साइबर अपराध में संलिप्त 10 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया.

डिस्काउंट के नाम पर लोगों से करता था ठगी:

भोले-भाले लोगों को पहले सिम कार्ड खरीदवाया जाता था. फिर इस नंबर से बैंक अकाउंट खुलवाया जाता था. फिर उस सिम कार्ड पर फिर से इस नंबर से लेकर साइबर अपराधियों को एक रकम पर बेच दिया जाता था. अपराधी फ्लिपकार्ट के सामान ऑर्डर करने वाले कस्टमर को कॉल कर डिस्काउंट का प्रलोभन देकर उनके पार्सल के पैसे की ठगी करते थे.

झारखंड के तीन व नालंदा का एक साइबर अपराधी गिरफ्तार

गिरफ्तार साइबर अपराधियों की पहचान नवादा जिले के नरहट थाना क्षेत्र के पत्तलबीघा गांव निवासी रामाशीष सिंह के बेटे 26 वर्षीय दीपक कुमार, मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पकड़िया गांव निवासी शैलेंद्र सिंह के बेटे 27 वर्षीय राजू रंजन व 24 वर्षीय निशांत, वारसलीगंज थाना क्षेत्र के कुंभी गांव निवासी 26 वर्षीय अंकुश राज उर्फ आदित्य राज, शाहपुर थाना क्षेत्र के नेपुरा गांव निवासी धनंजय कुमार के 21 वर्षीय बेटे अंकित कुमार, पंकज कुमार के 18 वर्षीय बेटे सानू कुमार, झारखंड कोडरमा जिले के सानी डेडबुआ निवासी रामेश्वर राणा के 30 वर्षीय बेटे राजेंद्र राणा, नालंदा जिले के गिलानी गांव के निवासी विजय प्रसाद के 28 वर्षीय बेटे अशोक कुमार, कोडरमा जिले के मरकच्चो थाना क्षेत्र कादोडिया गांव निवासी विजय महतो के 37 वर्षीय बेटे वीरेंद्र कुमार, गिरियक थाना क्षेत्र के सकुची सराय गांव निवासी ओमप्रकाश पंडित के 30 वर्षीय बेटे धीरेंद्र कुमार के रूप में की गयी है. एसपी कार्तिकेय शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस गिरफ्तार साइबर अपराधियों से पूछताछ की है. सभी साइबर अपराधिकयों ने अपनी संलिप्ता स्वीकार किया है. प्रेस वार्ता के दौरान अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे.

साइबर अपराध का बढ़ बना नवादा:

गौरतलब है कि झारखंड के जामताड़ा के बाद बिहार के नवादा जिला साइबर अपराधियों का गढ़ माना जा रहा है. इसमें वारिसलीगंज, पकरीवारावां, काशीचक, शाहपुर व नालंदा जिले के कतरीसराय के आलवे शेखपुरा जिले के शेखूपुर सराय इलाके साइबर अपराध की केंद बिंदु माना जाता है. इस इलाके में झारखंड सहित तेलंगाना व आंध्रप्रदेश राज्य के लोगों से साइबर ठगी की जाती है. यह फ्लिपकार्ट के साथ-साथ विभिन्न तरह की लोन व एजेंसी के नाम पर भी बड़े-बड़े लोगों का चूना लगाया जाता है. ऐसा नहीं की पुलिस कार्रवाई नहीं करती है. गिरफ्तारी के बाद जेल छूटने पर इस तरह की ठगी छोड़ने की बजाय वे और इस दलदल में फंसते चले जाते हैं. जरूरत है सरकार के निर्देश पर साइबर अपराधियो के विरोध एक विशेष अभियान चलाकर इस तरह की अपराध पर अंकुश लगाने की. इसके साथ-साथ इससे जुड़े अपराधी पर एक कठोर कानून बनाने की भी जरूरत है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें