बिहार : जमीनी विवाद में सरकारी शिक्षक की सड़क पर पीट पीटकर हत्या, सड़क जाम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गिरियक/ राजगीर : बिहार के नालंदा में राजगीर थाना के विशेश्वर नगर के पास शनिवार की देर संध्या एक सरकारी शिक्षक को हरवे हथियार से लैस बदमाशों ने बेरहमी से पीट पीटकर हत्या कर दी. मृतक गिरियक थाना के बरछी बिगहा गांव निवासी स्व. शिव बालक प्रसाद के 33 वर्षीय पुत्र राजीव कुमार थे. राजीव राजगीर के जैतीपुर भगवानपुर मध्य विद्यालय में शिक्षक थे. वर्तमान में वह राजगीर के कैलाश आश्रम के पास रह रहे थे.

इधर, राजगीर डीएसपी सोमनाथ प्रसाद ने बताया कि मृतक का अपने गोतिया से काफी पहले से जमीनी विवाद चल रहा था. इस संबंध में दोनों ने एक दूसरे के विरुद्ध केस भी दर्ज कराया था. मृतक के भाई संजय कुमार ने इस संबंध में राजगीर थाने में गोतिया समेत कुल नौ लोगों को नामजद कर प्राथमिकी दर्ज करायी है. अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि प्रारंभ में पुलिस को सड़क हादसे में शिक्षक की मौत की सूचना मिली थी. हर बिंदु से पूरे मामले की जांच की जा रही है.

जानें... पूरा वाकया
मृतक के भाई संजय ने बताया कि उनका भाई राजीव सपरिवार राजगीर से अपने गांव बरछी बिगहा आये थे. शनिवार की संध्या वह बाइक से राजगीर के लिए निकले. कुछ समय बाद उनके दो चचेरे भाई भी राजगीर के लिए निकल गये. लेकिन, रास्ते में विशेश्वर नगर के पास उनके भाई राजीव पहुंचे तो वहां एक चार पहिया वाहन एवं उनके भाई की बाइक खड़ी थी. वहां उनके भाई को हरवे हथियार से लैस कुल नौ बदमाशों ने मारपीट कर अधमरा कर दिया. फिर राजगीर पुलिस को उन्होंने सूचना दी और भाई को अस्पताल ले गये, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

हत्या की प्राथमिकी के लिए जाम की सड़क
इधर, पुलिस द्वारा शिक्षक की मौत मामले में सड़क हादसे को कारण बता प्राथमिकी दर्ज करने की बात से ग्रामीण व परिजन आक्रोशित हो गये. फिर शिक्षक राजीव के शव को गिरियक थाना अंतर्गत एनएच 20 पर इंग्लिश गांव के पास रखकर बिहारशरीफ- नवादा मुख्य मार्ग को पांच घंटे तक जाम कर दिया. जाम की सूचना पर राजगीर एसडीओ संजय कुमार, डीएसपी सोमनाथ प्रसाद, सीओ चंद्रशेखर, इंस्पेक्टर शेर सिंह यादव व गिरियक थानाध्यक्ष अनिल कुमार दलबल के साथ पहुंचे. इसके बाद पुलिस द्वारा राजगीर थाने में सड़क दुघर्टना की जगह पीट पीटकर शिक्षक की हत्या की प्राथमिकी दर्ज करने के बाद ग्रामीणों ने जाम को हटाया. इसके बाद पुलिस ने शव को सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें