26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

मछली, मखाना और तालाब को संरक्षण दे रहे मोदी: अमित शाह

नरहिया के लक्ष्मीनारायण मंदिर में चुनावी सभा में पहुंचते ही गृह मंत्री अमित शाह ने मंच संभाल लिया. मंच पर आने के तुरंत बाद वे सभा के संबोधन में आ गये. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी द्वारा मिथिला- मैथिली के लिये किये गये कार्यों से लोगों अवगत कराते हुए एनडीए प्रत्याशी रामप्रीत मंडल के पक्ष में लोगों से आशीर्वाद मांगा.

मधुबनी. नरहिया के लक्ष्मीनारायण मंदिर में चुनावी सभा में पहुंचते ही गृह मंत्री अमित शाह ने मंच संभाल लिया. मंच पर आने के तुरंत बाद वे सभा के संबोधन में आ गये. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी द्वारा मिथिला- मैथिली के लिये किये गये कार्यों से लोगों अवगत कराते हुए एनडीए प्रत्याशी रामप्रीत मंडल के पक्ष में लोगों से आशीर्वाद मांगा. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी क नेतृत्व में हर स्तर पर विकास हो रहा है. खासकर मिथिला पर उनकी खास नजर रहती है. मछली, तालाब और मखाना के संरक्षण के दिशा में लगातार काम किया जा रहा है. तो दूसरी ओर मिथिलांचल के विकास पर भी खासे काम हो रहा है. भाजपा की सरकार में ही मखाना को जीआई टैग देकर विश्व भर में नया स्थान दिया गया. आज वह कारोबार के तौर पर नये विकल्प के रुप में उभर कर सामने आ चुका है. प्रसिद्ध उच्चैठ भगवती स्थान पर भी उनकी नजर है. तभी तो चंद्रयान जिस जगह पर लैंड किया उस जगह को भगवती का नाम दिया गया है. मैथिली विषय को अष्टम सूची में शामिल किया गया है. जिससे यहां के लोगों को काफी फायदा हो रहा है. यह धरती माता सीता की धरती है, पंचानन की धरती है तो कवि कोकिल विद्यापति की कर्मभूमि है. यहां के कर्पूरी ठाकुर ने देश व समाज को नयी दिशा दी. कर्पूरी जी को भारत रत्न देकर पिछड़ा, अतिपिछड़ा सहित हर लेागों को मान सम्मान दिया गया. ऐसे में यहां के लोग निश्चय ही पीएम मोदी को तीसरी बार पीएम बनाने के लिये अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन करेंगे. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम गृह मंत्री के आगमन को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये थे. चप्पे चप्पे पर पुलिस व सुरक्षा बलों को तैनात किया गया था. लोगों की भारी भीड़ रही. एनएच के ठीक नीचे सभा स्थल होने के कारण एनएच पर भी सुरक्षा बलो को तैनात कर दिया गया था. तेज धूप के बाद भी लोगों में उत्साह तेज चिलचिलाती धूप के बाद भी लोगों की भीड़ रही. सुबह आठ बजे से ही लोग सभा स्थल पर आने लगे थे. जैसे ही गृह मंत्री अमित शाह मंच पर आये लोगों ने मोदी व अमित शाह, सीएम नीतीश कुमार के जिंदाबाद के नारे लगाने शुरु कर दिये. करीब तीस मिनट के अपने संबोधन में गृह मंत्री अमित शाह ने एक ओर जहां विरोधी खेमा पर जमकर प्रहार किया, वहीं मोदी के नेतृत्व में दस साल में किये गये कार्यों की जानकारी लोगों को दी. श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में आये दिन आतंकी हमला हो रहे थे. कोइ कुछ बोल भी नहीं पा रहा था. पर पीएम मोदी ने आतंकियों के घर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों को सफाया कर दिया. पूरे विश्व में भारत का मान बढ़ा है. पर इंडी गठबंधन की सरकार यदि बनी तो सबसे बड़ा सवाल यह कि नेतृत्व कौन करेगा. विपक्ष 70 साल तक राम मंदिर के मामले को लटकाते रहे. मोदी की सरकार बनी तो पांच साल में केस भी जीते, मंदिर भी बना और प्राण प्रतिष्ठा करके जय श्रीराम भी हो गया. जय श्रीराम का नारा सुनते ही महिलाओं में दिखा उत्साह फोटो- 103 परिचय- हाथ उठाकर जय श्रीराम का नारा लगाते पंडाल में बैठी महिलाएं फोटो: 104 परिचय: सभा में उपस्थित लोग झंझारपुर/फुलपरास: उमस भरी गर्मी, तेज धूप व गर्म हवा की थपेड़ो को झेलते हुए भारी संख्या में महिलाएं जर्मन हैंगर पंडाल में गृह मंत्री अमित शाह का इंतजार कर रही थी. जैसे ही श्री शाह ने जय श्रीराम का नारा दिया वैसे ही महिलाओं में उत्साह का संचार हो गया. उत्तर में तेज ध्वनि से सभी महिलाएं दोनों हाथ उठाकर जय श्रीराम के नारा का जवाब दिया. दृश्य देखते ही बन रहा था. जैसे-जैसे गृह मंत्री का संबोधन आगे बढ़ रहा था, पंडाल में बैठे लोग एक-एक शब्दों को शांति से सुन रहे थे. जरुरत पड़ने पर तालियां बजाकर स्वागत कर रहे थे. साथ ही राम मंदिर और जय श्रीराम की बात आते ही पूरे पंडाल में कई बार उत्साह का संचार होते दिख रहा था. अमित शाह के कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के कड़ी चाक चौबंद व्यवस्था की गयी थी. हर जगह मेटल डिटेक्टर लगा हुआ था. मेटल डिटेक्टर के जांच के बिना जर्मन हैंगर में सुरक्षा गार्ड के द्वारा प्रवेश नहीं दिया जा रहा था. सभा में सुरक्षा को लेकर पानी पहुंचाने में हो रही थी देरी नरहिया स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर प्रांगण में आयोजित गृह मंत्री अमित शाह की सभा में सुबह 8 बजे से ही लोग पहुंचने लगे थे. कड़ी धूप और गर्मी से लोग प्यास से बेहाल हो रहे थे. जैसे-जैसे गृह मंत्री के आने का समय नजदीक आता जा रहा था सुरक्षा व्यवस्था कड़ी होने लगी थी. सुरक्षा कर्मी भी छांव खोज रहे थे. भाजपा के कार्यकर्ता पंडाल में पानी पहुंचाने की व्यवस्था किए हुए थे लेकिन सुरक्षा के कारण सभी लोगों को पानी नहीं मिल रहा था. पंडाल में बैठे लोग प्यास से व्याकुल हो रहे थे और हाथ में लिए गए बोतल खत्म हो चुकी थी. मंच से संचालक ने अधिकारियों से अनुरोध किया कि कार्यकर्ताओं को पानी पिलाने के लिए पंडाल के सभी जगह सुगमता से जाने दें. ताकि लोग कि प्यास बुझ सके. इसके बाद कुछ राहत मिली. गनीमत यह रही कि गृहमंत्री तय समय पर हेलीकॉप्टर के माध्यम से पहुंचे. गृह मंत्री के पहुंचते ही संबोधन शुरु हुआ और संबोधन समाप्ति के बाद वे चले गए. सभा की अध्यक्षता अध्यक्षता फूले भंडारी ने किया. मंच संचालन ऋषिकेष राघव ने किया. इस मौके पर मंत्री नीतीश मिश्र, मदन सहनी, शीला मंडल, पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा, अरुण शंकर प्रसाद, मीना कामत, आरपी मंडल, लक्ष्मेश्वर राय, विनोद सिंह, भारती मंडल, प्रमोद प्रियदर्शी, विरेंद्र चौधरी, रंधीर खन्ना सहित अन्य ने भी संबोधित किया. सभा में गजेंद्र झा, शंकर झा, विक्रमशीला देवी, पवन ठाकुर मौजूद थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें