26.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

केके पाठक के आदेश की अनदेखी शिक्षकों-हेडमास्टरों को पड़ी भारी, काटा गया एक हफ्ते का वेतन

एक दिसंबर से राज्य के सभी स्कूलों की समय सारणी में बदलाव कर सुबह 9 से संध्या 5 बजे तक की गई है. लेकिन किशनगंज के कई स्कूल समय से पहले ही बंद पाए गए. जिसके बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी ने इस पर कार्रवाई करते हुए चार स्कूल के शिक्षकों और हेडमास्टरों की सैलरी पर रोक लगा दी है.

बिहार की शैक्षणिक स्थिति को सुधारने के लिए शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक लगातार प्रयासरत है. इसी कड़ी में उन्होंने सख्त रवैया अपनाते हुए एक दिसंबर से स्कूलों के लिए नया मॉडल टाइम टेबल लागू किया है. निर्धारित नयी समय सारिणी के अनुसार सुबह नौ बजे से 3:30 बजे तक स्कूल चलेगा. वहीं शिक्षकों और प्रधानाध्यकों को शाम 5 बजे तक स्कूल में रहने का निर्देश दिया गया है. लेकिन किशनगंज के ठाकुरगंज प्रखंड में में पहले दिन ही इस आदेश का उल्लंघन किया गया. शहरी क्षेत्र में कुछ स्कूल तो खुले रहे जबकि कुछ विद्यालयों के शिक्षक स्कूल बंद करके घरों की तरफ निकल गए. लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में हालात पूर्व की भांति ही दिखी. साढ़े तीन बजे से ही ग्रामीण क्षेत्र में पोस्टेड शिक्षक नगर में देखे जाने लगे. जिसके बाद चार स्कूलों के हेडमास्टर और शिक्षकों पर गाज गिरी है.

एक सप्ताह का वेतन काटने का आदेश

दरअसल, विभागीय निरीक्षण के दौरान ठाकुरगंज प्रखंड के विद्यालय निर्धारित समय से पहले बंद पाये जाने को डीईओ सुभाष कुमार गुप्ता ने गंभीरता से लेते हुए चार विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों व शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा है. साथ ही एक सप्ताह का वेतन काटने का भी आदेश जारी किया गया है.

डीईओ कार्यालय से जारी किया गया ये आदेश…

जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय की तरफ से जारी आदेश में बताया गया है कि कई विद्यालय निरीक्षण के दौरान समय से पहले बंद पाये गए. इन विद्यालयों के प्रधान व शिक्षकों से तीन दिनों के अंदर स्पष्टीकरण की मांग की गयी है कि इस अनुशासनहीनता के लिए उन पर कार्रवाई क्यों नहीं की जाए. साथ ही पत्र में प्रधानाध्यपक व शिक्षकों के एक सप्ताह का वेतन की कटौती का भी निर्देश दिया गया है.

इन स्कूलों के शिक्षकों और प्राचार्यों पर गिरी गाज

जिन विद्यालयों के प्रधानाध्यापक व शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है उनमें ठाकुरगंज प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय भातगांव 01, प्राथमिक विद्यालय बालुवाड़ी, प्राथमिक विद्यालय पासवान टोला, प्राथमिक विद्यालय गणेश टोला शामिल है. डीईओ की इस कार्रवाई से शिक्षकों में हड़कंप है. वहीं आम लोगों ने इस कार्रवाई का स्वागत किया है. साथ ही उम्मीद जतायी है कि भविष्य में स्कूलों में नई समय सारिणी का अनुपालन किया जायेगा.

Also Read: बिहार में छुट्टी विवाद के बीच सक्रिय हुए राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर, समान अवकाश कैलेंडर के लिए बनाई कमेटी

मिशन दक्ष का हुआ शुभारंभ

बताते चले सरकारी स्कूलों में शुक्रवार से कक्षा तीन से आठ तक के बच्चों के लिए मिशन दक्ष के तहत विशेष कक्षाएं प्रारंभ की गई है. ऐसी कक्षा प्रतिदिन स्कूल की छुट्टी के बाद 3.30 बजे से 4.15 तक संचालित होनी है. मिशन दक्ष, कक्षा के कमजोर बच्चों के लिए संचालित होगी. मिशन दक्ष के तहत प्रत्येक कक्षा से पढ़ने में कमजोर बच्चों को चयन किया गया है. इसमें पढ़ने-लिखने में कमजोर बच्चों की विशेष कक्षा ली जानी है. ऐसे में विद्यालयों में शाम 3.30 बजे से 4.15 बजे तक मिशन दक्ष के लिए विशेष कक्षा चलेगी. वहीं, 4.15 बजे से पांच बजे तक वर्ग एक और दो को छोड़कर शेष कक्षाओं के बच्चों के होमवर्क चेक किए जाने था. मिशन दक्ष के बच्चों का प्रोफाइल तैयार कर उनकी विशेष कक्षा ली जाएगी. साथ ही साप्ताहिक मूल्यांकन के आधार पर छात्र-छात्राओं की प्रोफाइल तैयार होगी.

Also Read: बिहार के सरकारी स्कूलों में सभी कक्षाओं के लिए होगा एक परीक्षा कैलेंडर, शिक्षा विभाग कर रहा तैयारी

यह है नया मॉडल टाइम-टेबल

मॉडल टाइम-टेबल के अनुसार, सुबह नौ बजे स्कूल खोल देना है. 9:00 से 9:30 बजे तक प्रार्थना, ड्रील, व्यायाम और योगाभ्यास, 9:30 से 10:10 तक पहली घंटी, 10:10 से 10:50 तक दूसरी घंटी, 10:50 से 11:30 तक तीसरी घंटी, 11:30 से 12:10 तक चौथी घंटी, 12:10 से 12:50 तक एमडीएम और मध्यांतर, 12:50 से 01:30 तक पांचवीं घंटी, 01:30 से 02:10 तक छठी घंटी, 02:10 से 02:50 तक सातवीं घंटी, 2:50 से 3:30 तक आठवीं घंटी, 3:30 बजे बच्चों की छुट्टी, 3:30 से 4:15 तक मिशन दक्ष के तहत विशेष कक्षा, 4:15 से 5:00 बजे तक कक्षा एक और दो के बच्चों को छोड़कर शेष वर्ग के बच्चों के होम वर्क को चेक करना, लेसन प्लान करना समेत अन्य कार्य और 5 बजे शिक्षकों की छुट्टी होगी.

Also Read: बांका पहुंचे केके पाठक ने बच्चों से सुनी ABCD, कहा- ड्रेस कोड में आना होगा स्कूल, नहीं तो कट जायेगी हाजिरी

पहले दिन आदेश बेअसर

वही नगर के स्कूल की बात की जाए तो मध्य विद्यालय चेंगमारी के शिक्षक बच्चों को मिशन दक्ष के तहत पढ़ाते दिखे लेकिन इसी स्कूल में टैग किए गये प्राथमिक विद्यालय चेंगमारी उतरटोला में तीन बज के 13 मिनट में ही ताला लटका मिला. वहीं इस मामले में जानकारों की माने तो स्कूल भले तीन बजे से बंद होना शुरू हो गया लेकिन सेल्फी पांच बजे के बाद ही आना शुरू हुआ.

Also Read: बिहार के सरकारी स्कूलों के छात्रों और शिक्षकों के लिए मॉडल टाइम टेबल जारी, छुट्टी का समय भी बदला

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें