शाहीन बाग प्रोटेस्ट के मसले पर सुप्रीम कोर्ट की पहल सराहनीय : तारिक अनवर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कटिहार : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर मोदी सरकार से सवाल किये हैं. शनिवार को शहर के गामी टोला स्थित सद्भावना भवन में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप की प्रस्तावित भारत यात्रा की तैयारियों पर सवाल किया. तारिक अनवर ने कहा कि हम विदेशी अतिथि का स्वागत और सम्मान करते हैं. हमारे देश की यही परंपरा और संस्कृति रही है. यह हमारी विदेश नीति का हिस्सा भी रहा है. लेकिन, ट्रंप को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस प्रकार से उत्साहित हैं और जिस तरह से उनकी स्वागत की तैयारी हो रही है, उससे साफ जाहिर है कि वो एक गुट विशेष के नजदीक जा रहे हैं. जबकि, भारत की अपनी विदेश नीति है और गुटनिरपेक्ष नीति के तहत ही विदेशी अतिथि का स्वागत किया जाता है.

अमेरिका से सम्मानजनक समझौता जरुरी
अनवर ने कहा कि अमेरिका से दोस्ती अच्छी बात है. लेकिन, ऐसा नहीं होना चाहिए कि हमारे दूसरे विदेशी मित्र रहे हैं और हर संकट की घड़ी में हमारे साथ खड़े रहे हैं उनको तकलीफ हो. उनकी कीमत पर हम अमेरिका से अपनी दोस्ती बढ़ायें, यह उचित नहीं है. अनवर ने कहा कि ट्रंप ने साफ कह दिया है कि वह भारत से कोई सौदा करने जा रहे हैं. बल्कि, भारत अमेरिका से सौदा करेगा, आर्म्स खरीदेगा, हेलीकॉप्टर खरीदेगा. इस सौदे से अमेरिका को लाभ मिलने जा रहा है. लेकिन, भारत को फिलहाल कोई ऐसा आर्थिक लाभ नहीं मिलेगा. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव के बाद हमलोग बैठकर ऐसी योजना बनायेंगे. जिससे अमेरिका और भारत के बीच आर्थिक समझौता किया जायेगा. इसके बारे में बड़े ही अच्छे ढंग से उन्होंने टाल दिया है. उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ सम्मानजनक समझौता होना चाहिए.
शाहीन बाग के मसले का समाधान जल्द
तारिक अनवर ने कहा कि अमेरिका के सामने झुकने की कोई जरूरत नहीं है. भारत को अमेरिका की शर्तों पर कोई समझौता नहीं करना चाहिये. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान तारिक अनवर ने शाहीन बाग के मसले पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि शाहीन बाग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक अच्छी शुरुआत की है. जो काम केंद्र सरकार को करना चाहिये था, देश के प्रधानमंत्री को करना चाहिये था, वह कोशिश सुप्रीम कोर्ट कर रही है. ऐसा लगता है कि सुप्रीम कोर्ट का जो उद्देश्य है, उसके तहत शाहीन बाग के मामले का शांतिपूर्ण तरीके से कोई रास्ता निकलना चाहिए. जिनलोगों को भी मध्यस्थता के लिए भेजा गया है. वह सभी लोग बहुत ही अनुभवी हैं, समझदार हैं और वह बातचीत कर रहे हैं. तारिक अनवर ने कहा कि शाहीन बाग के मसले पर सुप्रीम कोर्ट की पहल से रास्ता जरूर निकलने की उम्मीद है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें