33.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Bihar Politics: पीएम के भाषण पर जदयू का तंज, कहा- कब तक बोलते रहेंगे झूठ, इन 10 सवालों के भी मांगे जवाब

जदयू प्रवक्ताओं ने प्रधानमंत्री से पूछा कि यदि वे जनसंख्या को उपलब्धि बता रहे हैं तो उनकी पार्टी के नेता जनसंख्या नियंत्रण की बातें कहकर समाज में तनाव क्यों फैला रहे हैं?

जदयू के मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार, प्रदेश प्रवक्ता अंजुम आरा और प्रदेश प्रवक्ता अनुप्रिया ने कहा है कि लाल किले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण झूठ का पुलिंदा है. तीनों प्रवक्ताओं ने बुधवार को जदयू प्रदेश मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान बोले दस झूठ को उजागर किया, साथ ही उनसे दस अहम सवाल पूछे.

जदयू प्रवक्ताओं ने प्रधानमंत्री से पूछा कि यदि वे जनसंख्या को उपलब्धि बता रहे हैं तो उनकी पार्टी के नेता जनसंख्या नियंत्रण की बातें कहकर समाज में तनाव क्यों फैला रहे हैं? जदयू प्रवक्ताओं ने पूछा कि प्रधानमंत्री ने यूरिया का दाम कम करने का दावा किया लेकिन यूरिया की बोरी का वजन कम कर दिया गया. ऐसे में यूरिया के सस्ता होने का दावा कैसे करते हैं ? जदयू प्रवक्ताओं ने कहा कि प्रेस फ्रीडम रैंकिंग, इकॉनोमिस्ट यूनिट डेमोक्रेसी इंडेक्स, सिविल लिबर्टी, ग्लोबल हंगर इडेक्स आदे में देश की रैंकिंग बहुत नीचे क्यों है?

जदयू प्रवक्ताओं ने प्रधानमंत्री से पूछा है कि स्वयं सहायता ग्रुप मामले में नंबर वन राज्य बिहार की सफलता की चर्चा उन्होंने क्यों नहीं की? पांचवें प्रश्न में उन्होंने पीएम से पूछा है कि अगर आपका दावा है कि देश में 13.5 करोड़ लोग गरीबी रेखा से ऊपर आ गए तो मुफ्त अनाज पाने वाले 80 करोड़ गरीबों की तादाद में कटौती क्यों नहीं हुई? पीएम ने मुगल शासक शाहजहां के कालखंड को गुलामी का कालखंड कहा है.

ऐसे में शाहजहां द्वारा बनाए गए लाल किले से भाषण देने में उन्होंने परहेज क्यों नहीं किया? सर्वाधिक युवा आबादी वाले राज्य बिहार की चर्चा प्रधानमंत्री ने क्यों नहीं की? पीएम ने अपने पूरे भाषण में मणिपुर को छोड़कर दूसरे किसी राज्य की चर्चा क्यों नहीं की? पीएम ने अपने भाषण में जल जीवन हरियाली योजना का नाम लिया, बिहार का नाम क्यों नहीं लिया? जदयू प्रवक्ताओं ने पूछा कि आज मोबाइल रखने के लिए कम से कम दो सौ रुपए का रिचार्ज करना पड़ता है तो ऐसे में पीएम बताएं कि मोबाइल कैसे सस्ता हो गया?

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें