25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

जमुई में छापेमारी करने गयी पुलिस पर बालू माफिया ने किया फिर हमला, हथियार छीनने का हुआ प्रयास

बालू कारोबारी ने पुलिस टीम को निशाना बनाया है. मामला खैरा थाना क्षेत्र के परसा घाट का है, जहां अवैध बालू कारोबार की सूचना पर कार्रवाई करने पहुंची पुलिस की टीम को बालू कारोबारी और उसके सहयोगियों समेत 50 लोगों ने घेर लिया.

खैरा. बालू कारोबार में लगे बालू माफिया का मनोबल जिले में कम होने का नाम नहीं ले रहा है. एक तरफ जहां गरही में अवैध बालू कारोबारी के द्वारा अपर थानाध्यक्ष की हत्या का मामला पूरी तरह से सुलझ नहीं पाया है. वहीं एक बार फिर बालू कारोबारी ने पुलिस टीम को निशाना बनाया है. मामला खैरा थाना क्षेत्र के परसा घाट का है, जहां अवैध बालू कारोबार की सूचना पर कार्रवाई करने पहुंची पुलिस की टीम को बालू कारोबारी और उसके सहयोगियों समेत 50 लोगों ने घेर लिया. इस दौरान पुलिस पदाधिकारी के साथ मारपीट की, उन पर पथराव किया तथा उनके हथियार छीनने का भी प्रयास किया. इस दौरान बालू कारोबारी पुलिस के द्वारा जब्त किये गये ट्रैक्टर भी जबरन छुड़ाकर लेते गये.

अवैध तरीके से बालू उठाव की सूचना पर पहुंची थी पुलिस

जानकारी के अनुसार पुलिस की टीम को यह सूचना मिली थी कि परसा बालू घाट पर अवैध तरीके से बालू का उठाव किया जा रहा है, जिसके बाद खैरा थाने में पदस्थापित प्रशिक्षु पुलिस अवर निरीक्षक विकास कुमार और उनकी टीम कार्रवाई करने पहुंची. इस दौरान जब पुलिस की टीम वहां पहुंची तब उन्होंने देखा की एक ट्रैक्टर पर अवैध तरीके से बालू लोड किया जा रहा है. इसके बाद उन्होंने ट्रैक्टर को जब्त कर लिया और कागजी प्रक्रिया पूरी करने लगे. इस दौरान बालू कारोबारी और उनके सहयोगियों ने पुलिस की टीम पर हमला बोल दिया. घटना को लेकर खैरा थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है.

Also Read: आयुर्वेदिक चिकित्सा का भी केंद्र बनेगा दरभंगा, नीतीश कुमार ने किया MRIIMS के नये भवन का शिलान्यास

दर्ज प्राथमिकी में 55 लोगों को बनाया गया आरोपित

दर्ज प्राथमिकी में बताया गया है कि कागजी कार्रवाई पूरी करने के क्रम में परसा गांव निवासी संजीव सिंह पिता स्व रणजीत सिंह, राजीव सिंह पिता स्व रणजीत सिंह, नागो सिंह पिता स्व बाबू सिंह, विश्वविजय सिंह उर्फ विश्वजीत सिंह पिता नागेश्वर सिंह, बंटी सिंह उर्फ विश्वविजय सिंह समेत 50 के करीब अज्ञात व्यक्ति वहां आ पहुंचे और जबरन ट्रैक्टर को छुड़ाने का प्रयास करने लगे. पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल ने जब प्रतिरोध किया तो उक्त सभी लोग काफी उग्र होकर ईंट-पत्थर चलाने लगे और गाली गलौज करते हुए पुलिस पदाधिकारी और उनकी टीम के साथ धक्का मुक्की करने लगे. इस दौरान भीड़ ने पुलिस का हथियार छीनने का भी प्रयास किया. प्रशिक्षु पुलिस अवर निरीक्षक ने बताया कि मोके पर मौजूद लोग हमारे हथियार से हम पर गोली चलाने का भी प्रयास कर रहे थे. हमारी जान लेने का भी प्रयास कर रहे थे. भीड़ के द्वारा जबरन जब्त ट्रैक्टर को छुड़ा लिया गया और वहां से भाग निकलने में भी लोग कामयाब रहे. घटना को लेकर प्राथमिकी भी दर्ज कर ली गयी है.

कहते हैं थानाध्यक्ष

थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान ने बताया कि मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है. अन्य लोगों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है.

पुलिस टीम को लगातार बनाया जाता रहा है निशाना

गौरतलब है कि जिले में अवैध बालू कारोबारी के द्वारा पुलिस टीम को लगातार निशाना बनाया जाता रहा है. बीते दिनों गरही थाना क्षेत्र के चननवर पुल के पास समीप अवैध बालू कारोबारियों ने पुलिस अवर निरीक्षक प्रभात रंजन की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी थी. इस मामले में मुख्य आरोपित ने कुछ दिन पहले ही न्यायालय में समर्पण किया है. इसके अलावा जमुई-लखीसराय के सीमावर्ती इलाके में भी बालू कारोबारी और पुलिस की टीम के साथ झड़प की बात सामने आयी थी. अब ताजा मामला खैरा से सामने आया है, जहां एक बार फिर पुलिस की टीम को निशाना बनाया गया है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें