1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. farmers protest plurals party president pushpam priya choudhary tweet on agriculture bill 2020 kisan andolan delhi chalo abk

किसानों के ‘गौरव’ पर लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया का खास Tweet, प्रेमचंद की ‘कर्मभूमि’ से याद दिलाई नसीहत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bihar Election 2020:  लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया चौधरी बांकीपुर से उम्मीदवार, प्लूरल्स की प्रेसिडेंट का सपना होगा साकार?
Bihar Election 2020: लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया चौधरी बांकीपुर से उम्मीदवार, प्लूरल्स की प्रेसिडेंट का सपना होगा साकार?
सोशल मीडिया

कृषि बिल पर किसानों के संग्राम के बीच तमाम बयानों का दौर जारी है. राजनीतिक दलों से लेकर सामाजिक संगठन भी अपने हिसाब से बयान दे रहे हैं. प्लूरल्स पार्टी प्रेसिडेंट पुष्पम प्रिया चौधरी ने ट्वीट के जरिए अपनी बातें रखी हैं. पुष्पम प्रिया चौधरी ने ट्वीट में किसानों की तारीफ की है. दरअसल, देश में कई दिनों से किसानों का आंदोलन जारी है. किसान दिल्ली बॉर्डर पर अपनी मांगों के साथ डटे हुए हैं.

पुष्पम प्रिया चौधरी और किसान आंदोलन 

बिहार विधानसभा चुनाव में प्लूरल्स पार्टी की सीएम कैंडिडेट रह चुकीं पुष्पम प्रिया ने मंगलवार को ट्वीट करके अपनी बातें रखी. उन्होंने प्रसिद्ध लेखक प्रेमचंद के उपन्यास कर्मभूमि की दो लाइन्स का जिक्र किया. उपन्यास के हवाले से लिखा- किसान में मरजाद है. मर्यादा छिनी, किसान का गौरव कुचल जाता है. बता दें उपन्यास में किसानों की पीड़ा है और उनके हाल का भी जिक्र किया गया है. पुष्पम प्रिया चौधरी ने किसानों के प्रदर्शन पर अपनी बातों को कहने के लिए कर्मभूमि की लाइन्स का इस्तेमाल किया है.

लंदन रिटर्न पुष्पम प्रिया चौधरी कौन हैं?

बिहार चुनाव में पुष्पम प्रिया चौधरी और उनकी प्लूरल्स पार्टी के खूब चर्चे हुए थे. चुनाव के पहले ही वो खुद को बिहार की नेक्स्ट सीएम घोषित कर चुकी थीं. चुनाव प्रचार के दौरान भी उन्होंने अपने खास अंदाज में मतदाताओं से बात की. चुनाव रिजल्ट में पुष्पम प्रिया चौधरी और उनकी पार्टी बुरी तरह हारी है. यहां तक खुद पुष्पम प्रिया चौधरी को भी बांकीपुर और बिस्फी सीट से हार का मुंह देखना पड़ा था. हालांकि, सोशल मीडिया पर लगातार एक्टिव रहने वाले पुष्पम प्रिया ने अब किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरा है.

Posted : Abhishek.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें