26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

जेडीयू MLC राधाचरण सेठ और उनके बेटे पर ईडी का शिकंजा, दूसरे दिन भी चली छह घंटे लंबी पूछताछ, जानें पूरा मामला

बालू के अवैध कारोबार मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राधाचरण सेठ और उनके पुत्र कन्हैया को पूछताछ का नोटिस भेजा था. इसके बाद बुधवार को राधाचरण सेठ ईडी कार्यालय पहुंचे. जहां उनसे पूछताछ शुरू की गई. बुधवार को 9 घंटे हुए पूछताछ के बाद गुरुवार को भी यह पूछताछ जारी रही.

पटना. बालू के कारोबार में अवैध तरीके से लोगों को मदद पहुंचाने के आरोप में जदयू विधान पार्षद राधा चरण सेठ की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में फंसे राधा चरण से पूछताछ का दौर दूसरे दिन गुरुवार को भी जारी रही. वहीं शुक्रवार को राधा चरण के बेटे कन्हैया की पेशी ईडी के सामने होगी. ईडी ने राधाचरण और उनके बेटे को 29 अगस्त को पूछताछ का नोटिस जारी किया था.

राधाचरण सेठ से दूसरे दिन भी छह घंटे तक ईडी ने की पूछताछ

ईडी के अफसरों ने राधाचरण सेठ से गुरुवार को करीब छह घंटे तक बालू के सिंडिकेट से जुड़े सवाल पूछे. सूत्रों की मानें, तो सेठ से पूछे गये सवालों में ब्राॅडसन और आदित्य मल्टीकाॅम से उनके रिश्ते कब बने और उन्होंने बालू के धंधे में प्रवेश कब किया?, बालू के कारोबार में निवेश करने के एवज में बदले में उन्हें कितनी आमदनी होती थी?, बिहार के बाहर अन्य राज्यों में निवेश करना कब से प्रारंभ किया और किन-किन राज्यों में अब तक उन्होंने निवेश किया और कमाई की है आदि शामिल थे. उन्होंने इडी अफसरों केइन सवाल का क्या जवाब दिया इसकी पुष्टि नहीं हो पायी है.

बुधवार को ईडी दफ्तर में नौ घंटे तक हुई थी पूछताछ

वहीं इससे पहले नोटिस जारी होने के महज 24 घंटे के बाद बुधवार को जदयू के विधान पार्षद राधाचरण सेठ बैंक रोड स्थित ईडी दफ्तर पहुंच गए थे. जहां उनसे करीब नौ घंटे तक अधिकारियों ने बालू के कारोबार और अन्य बालू कारोबारियों से संबंध को लेकर पूछताछ की थी. ईडी सूत्रों के अनुसार, राधाचरण सेठ करीब साढ़े 12 बजे ईडी दफ्तर पहुंचे थे.

ईडी ने बुधवार को पूछे थे ये सवाल

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार को राधाचरण सेठ से पूछा गया कि उनका बालू कारोबारियों से संपर्क किस प्रकार हुआ. किस प्रकार वे बालू कारोबारियों को आर्थिक मदद देते हैं. उनके साथ और कौन-कौन सहयोगी हैं. राधाचरण ज्यादातर सवालों के जवाब से बचते नजर आए.

ईडी ने पूछताछ के लिए 29 अगस्त को भेजी थी नोटिस

गौरतलब है कि बालू के अवैध कारोबार मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राधाचरण सेठ और उनके पुत्र कन्हैया को पूछताछ का नोटिस भेजा मंगलवार 29 अगस्त को भेजा था. दोनों को 15 दिनों के अंदर ईडी कार्यालय में आकर जवाब देने के लिए कहा गया था, लेकिन नोटिस जारी होने के महज 24 घंटे के अंदर ही राधाचरण सेठ ईडी के कार्यालय पहुंच गए थे.

Also Read: मुंबई में विपक्ष की बैठक पर सुशील मोदी का तंज, एक-दूसरे को किनारे लगाने में लगे पीएम पद के आधा दर्जन दावेदार

राध चरण सेठ के खिलाफ 7 महीने तीन बार कार्रवाई

आरा-बक्सर स्थानीय प्राधिकार क्षेत्र से जेडीयू के एमएलसी राधा चरण सेठ पर आरोप है कि वे बिहार में बालू माफियाओं के साथ मिलकर बालू के अवैध कारोबार को बढ़ावा दे रहे हैं. राधा चरण सेठ के खिलाफ 7 महीने में यह तीसरी बार कार्रवाई है.

इससे पहले फरवरी में टैक्स चौरी के मामले में आयकर विभाग ने 22 से अधिक ठिकानों पर छापेमारी की थी. चार दिन तक चली इस छापेमारी में करीब दो सौ करोड़ से अधिक के लेनदेन की जानकारी मिली थी. जिसके बाद जांच टीम ने डेढ़ सौ से अधिक बैंक खातों के ऑपरेशन को बंद कर दिया था. इस मामले में आयकर विभाग ने बिहटा थाने में एफआइआर दर्ज किया था.

वहीं, 6 जून को इडी ने पटना, धनबाद, हजारीबाग और कोलकाता में एक साथ 27 जगहों पर छापेमारी की थी. यह छापेमारी मैसर्स ब्रॉडसन कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड और मेसर्स आदित्य मल्टीकॉम प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स और अन्य सहयोगियों के ठिकाने पर हुई थी. छापेमारी के दौरान डेढ़ करोड़ कैश, 11 करोड़ के संपत्ति के दस्तावेज जब्त किए गए थे. बैंक में जमा 6 करोड़ के साथ-साथ 60 बैंक खातों को भी फ्रीज कर दिया गया था. अवैध बालू खनन को लेकर बिहार पुलिस द्वारा दर्ज कराए गए विभिन्न मामलों में इडी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें