21.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

जनवरी तक पूरा होगा पटना-बख्तियारपुर-रजौली और पटना-गया-डोभी का निर्माण, देना होगा टोल टैक्स

एनएचएआई के अधिकारियों, अभियंताओं और निर्माण एजेंसी के अधिकारियों के साथ चेयरमैन संतोष कुमार यादव शुक्रवार सुबह करीब सात बजे पटना से सबसे पहले निर्माणाधीन पटना-बख्तियारपुर फोरलेन एनएच पहुंचे.

पटना-बख्तियारपुर, बख्तियारपुर-रजौली और पटना-गया-डोभी फोरलेन एनएच का निर्माण दिसंबर 2023 तक पूरा होगा. तीनों महत्वाकांक्षी निर्माणाधीन एनएच का स्थल निरीक्षण शुक्रवार को एनएचएआई के चेयरमैन संतोष कुमार यादव ने किया और इसे दिसंबर तक पूरा करने की समयसीमा संबंधित निर्माण एजेंसियों, एनएचएआई के अधिकारियों और अभियंताओं को दी. तीनों एनएच से गुजरने के लिए आम लोगों को टोल टैक्स देना होगा. फिलहाल पटना-बख्तियारपुर एनएच पर दीदारगंज के पास टोल प्लाजा बना हुआ है और वहां टोल टैक्स की वसूली हो रही है. वहीं बख्तियापुर-रजौली में भागनबिगहा के पास और पटना-गया-डोभी एनएच में जहानाबाद और गया जिले में टोल प्लाजा बन रहा है. यहां टोल टैक्स की वसूली केंद्रीय मंत्रालय की अधिसूचना के बाद शुरू होगी.

जनवरी के अंत तक तैयार होंगी सड़कें

सूत्रों के अनुसार एनएचएआई के अधिकारियों, अभियंताओं और निर्माण एजेंसी के अधिकारियों के साथ चेयरमैन संतोष कुमार यादव शुक्रवार सुबह करीब सात बजे पटना से सबसे पहले निर्माणाधीन पटना-बख्तियारपुर फोरलेन एनएच पहुंचे. वहां कमकाज की गुणवत्ता का निरीक्षण किया. निर्माण स्थल पर कार्यरत कर्मियों की जानकारी ली. साथ ही काम को हर हाल में इस साल पूरा करने का निर्देश दिया. इसके बाद वे बख्तियारपुर-रजाैली एनएच पहुंचे और वहां निर्माण कार्यों को देखा. इसके बाद वे पटना-गया-डोभी एनएच पहुंचकर स्थल निरीक्षण किया. इस दौरान उन्हें अधिकारियों ने जानकारी दी कि तीनों एनएच में जमीन अधिग्रहण हो चुका है.

बिहार में सड़क निर्माण के दौरान आती है कई दिक्कतें

उद्घाटन के सवाल पर चेयरमैन ने कहा कि सड़के बन कर तैयार हो जायेंगी व उद्घाटन की प्रक्रिया में जो भी वक्त लगे, यह अलग बात है. उन्होंने बताया कि बिहार में सड़के तैयार करने में एक साथ कई तरह की दिक्कतें सामने आती हैं. इनमें मिट्टी का उपलब्ध होने से लेकर जमीन अधिग्रहण व अन्य प्राकृतिक संसाधनों का समय पर उपलब्ध नहीं होना प्रमुख कारण हैं. उन्होंने बताया कि जमीन अधिग्रहण के लिए जिलाधिकारियों को चार हजार करोड़ रुपये एनएचएआइ द्वारा उपलब्ध कराये जा चुके हैं, पर जमीन मालिकों को अधिग्रहण के एवज में पूरी रकम उपलब्ध नहीं करायी जा सकी है, इसके कारण भी निर्माण में विलंब होती है. रुपये वितरण के बाद जमीन एनएचएआइ के पास होगी व काम में तेजी आयेगी.

बिहार में जमीन से संबंधित रिकार्ड अपडेटेड नहीं

चेयरमैन ने बताया कि बिहार में जमीन से संबंधित रिकार्ड अपडेटेड नहीं हैं. इस कारण भी दिक्कत होती है. जमीन के कागजात एनएचएआइ को उपलब्ध कराये जाते हैं, पर निर्माण शुरू कराने के वक्त उक्त जमीनों पर मकान बना मिलता है. उन्होंने कहा कि एनएचएआइ ने राज्य सरकार से छह हजार हेक्टेयर जमीन प्राप्त की है, पर उनके नाम पर म्यूटेशन में अब तक मात्र 30 हेक्टेयर जमीन ही हस्तांतरित की गयी है.

फोरलेन पर सफर के तैयार हो जाएं गया के लोग : एनएचएआई चेयरमैन

बोधगया से रवाना होने से पहले एक होटल में एनएचएआइ के चेयरमैन ने डोभी-गया-पटना फोरलेन के जनवरी में बन कर तैयार होने को लेकर काफी उत्साहित दिखे. उन्होंने कहा कि अब फोरलेन पर सफर के लिए गया के लोग तैयार हो जायें.

Also Read: बिहार में 7 नेशनल हाइवे का तेजी से हो रहा निर्माण, इस साल के अंत तक होंगे तैयार, लाखों लोगों को होगा फायदा

सीएम से मिले एनएचएआई के चेयरमैन

वहीं इससे पहले गुरुवार को एनएचएआई के चेयरमैन संतोष कुमार यादव ने अपने दो दिवसीय दौरे के पहले दिन पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से एक अणे मार्ग में मुलाकात की. मुख्यमंत्री ने उनसे हाजीपुर-छपरा, मुजफ्फरपुर बाइपास, पटना-गया-डोभी, बख्तियारपुर-रजौली एनएच का निर्माण कार्य अविलंब पूरा कराने की बात कही. इस पर चेयरमैन ने कहा कि हाजीपुर-छपरा मार्ग की वे समीक्षा करेंगे. मुजफ्फरपुर बाइपास दिसंबर तक बनकर तैयार हो जायेगा. वहीं पटना-गया-डोभी मार्ग फरवरी 2024 तक, जबकि बख्तियारपुर से रजौली एनएच इसी साल नवंबर में बनकर तैयार हो जायेगा. इसके साथ ही उन्होंने एक महीने के भीतर दानापुर-बिहटा एलिवेटेड का निर्माण कार्य शुरू करने का मुख्यमंत्री को भरोसा दिया.

राज्य सरकार ने एनएच के बेहतर रखरखाव की मांग की

इससे पहले पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने एनएचएआइ के चेयरमैन से राज्य में एनएच का बेहतर तरीके से रखरखाव करने की मांग की है. अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने एनएचएआइ के चेयरमैन संतोष कुमार यादव के साथ हुई बैठक के दौरान कहा है कि राज्य में बेहतर रखरखाव के अभाव में कई एनएच की हालत ठीक नहीं है. इससे लोगों को आवागमन में अधिक समय लग रहा है. अपर मुख्य सचिव ने राज्य में खराब स्थिति वाले कुछ एनएच का वीडियो भी चेयरमैन को दिखाया. इनमें पटना, गोपालगंज, किशनगंज सहित अन्य जिलों की सड़कें शामिल थीं. इसके साथ ही चेयरमैन को उन्होंने पथ निर्माण विभाग द्वारा ओपीआरएमसी के तहत राज्य की सड़कों के रखरखाव के व्यवस्था की भी जानकारी दी. उन्होंने चेयरमैन को ओपीआरएमसी कमांड एंड कंट्रोल रूम को दिखाया. इस केंद्र को देखकर चेयरमैन काफी प्रभावित हुए और देश भर में इसे लागू करने की बात कही.

Also Read: बिहार में इस साल शुरू होगा पांच नेशनल हाईवे का निर्माण, इन जिलों के लोगों को होगी सहूलियत

एनएच परियोजनाओं की हुई समीक्षा

एनएचएआइ के चेयरमैन ने गुरुवार को करीब डेढ़ दर्जन एनएच परियोजनाओं की होटल मौर्या में समीक्षा की. उन्होंने इन परियोजनाओं का काम तेजी से पूरा करने का निर्देश अधिकारियों, इंजीनियरों व ठेकेदारों को दिया. शुक्रवार को वे निर्माणाधीन पटना-बख्तियारपुर, बख्तियारपुर-रजौली और पटना-गया-डोभी सड़क का निरीक्षण करेंगे. सूत्रों के अनुसार निरीक्षण के दौरान चेयरमैन बख्तियारपुर-रजौली और पटना-गया-डोभी सड़क परियोजनाओं की मौजूदा स्थिति की जानकारी लेंगे. मालूम हो कि पटना हाइकोर्ट ने पटना-गया-डोभी एनएच का जल्द निर्माण पूरा के निर्देश दिये हैं.

Also Read: बिहार में एक दशक से अटकी दो एनएच परियोजनाएं जून 2024 तक होंगी पूरी, इन जिलों के लोगों को होगी सहूलियत

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें