1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. champaran west
  5. valmiki nagar tiger reserve forest department team is ascertaining the cause of death of leapord

वालमिकी नगर टाइगर रिजर्व में मिला तेंदुए का शव, वन विभाग की टीम लगा रही मौत के कारण का पता

वाल्मीकि टाइगर रिजर्व क्षेत्र से वन विभाग की टीम को एक मादा तेंदुए का शव बरामद हुआ है. तेंदुए की मौत करीब दो तीन दिन पहले हुई है. मामले में आशंका जताई जा रही है कि तेंदुए की मौत भूख-प्यास की वजह से हुई होगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
social media

वाल्मीकि टाइगर रिजर्व क्षेत्र के रोहुआ टोला गांव के समीप पटिरहिया जंगल से सटे नाले के पास से वन विभाग की टीम को एक मादा तेंदुए का शव बरामद हुआ है. शुक्रवार की सुबह तेंदुए के शव की सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी. बताया जा रहा है की तेंदुए की मौत करीब दो तीन दिन पहले हुई है. सूचना के बाद वन विभाग के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और फिर शव का पोस्टमार्टम कराया गया.

पोस्टमार्टम के बाद मौत के कारण का चल पाएगा पता 

चिकित्सक मनोज कुमार टोनी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही तेंदुए की मौत का कारणों का पता चले पाएगा. तेंदुए के अन्य अंगों के सैंपल को जांच के लिए पटना व बरेली भेजा जा रहा है. आशंका जताई जा रही है कि तेंदुए की मौत भूख-प्यास की वजह से हुई होगी.

पहले भी एक तेंदुआ का शव मिला था

घटना की सूचना मिलने पर डीएफओ अमरीश मल्ल, एसीएफ अमिता राज, वाल्मीकिनगर रेंजर महेश प्रसाद भी मौके पहुंचे. पोस्टमार्टम के बाद तेंदुआ के शव को जला दिया गया. इस वर्ष यह दूसरी मौत हुई है. इसके पूर्व एक जनवरी 2022 को रामनगर में एक तेंदुआ का शव मिला था. वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में पिछले वर्ष 98 तेंदुआ थे.

शव को लेकर कई तरह के कयास

अकसर रिहायशी इलाकों में जंगली जानवर लोगों पर हमला तो करते ही हैं उनके मवेशियों को भी अपना निवाला बना लेते हैं. इधर गर्मी बढ़ने के साथ ही जंगली जीव पानी की तलाश में आसपास के नदी नालों का रुख कर रहे हैं और भटकते हुए रिहायशी इलाकों में भी पहुंच जा रहे हैं. इसी बीच तेंदुआ का शव मिलने से कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं.

वन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल

बेहतर माहौल होने के कारण यहां तेंदुओं की संख्या में इजाफा भी हुआ है, लेकिन तेंदुआ की मौत ने वन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर दिया है. जंगल की सुरक्षा करने वाले बीट गार्ड ड्यूटी के नाम पर खाना पूर्ति कर रहे हैं. जिसका नतीजा तेंदुआ की मौत के रूप में सामने आया है. वन विभाग के कर्मचारियों के लापरवाही का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है की तेंदुए की मौत की खबर भी उन्हें ग्रामीणों से प्राप्त हुई.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें