26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रुपये दोगुना करने वाले एप के झांसे में फंसकर युवा लूटा रहे गाढ़ी कमाई

जिले में ऑनलाइन पैसे दोगुने करने के गेम में युवा फंस कर अपनी कमाई लूटा रहे हैं. अलग-अलग नाम से वेबसाइट व एप के माध्यम से तीन सौ, पांच सौ, हजार, दस हजार, लाख रुपये का प्लान खरीदने पर प्रतिदिन के हिसाब से रुपये दिये जाने का सपना दिखायी जाती है

बिहारशरीफ.

जिले में ऑनलाइन पैसे दोगुने करने के गेम में युवा फंस कर अपनी कमाई लूटा रहे हैं. अलग-अलग नाम से वेबसाइट व एप के माध्यम से तीन सौ, पांच सौ, हजार, दस हजार, लाख रुपये का प्लान खरीदने पर प्रतिदिन के हिसाब से रुपये दिये जाने का सपना दिखायी जाती है, जिसमें 30 से 45 दिनों में प्लान के हिसाब से रुपये दोगुना हो जाते है. एक साल में रियल गुरू, डेली ट्रोन चेन, लाइव प्लान जोन, एमएलएम, अल्फाटून, यूथवेस, बीएसएच जैसे दर्जनों एप ऑनलाइन रुपये दोगुने करने के नाम पर हजारों युवाओं से करोड़ों की कमाई लूट कर भाग गयी है. ऑनलाइन पैसे दोगुणना करने वाले वेबसाइट व एप के प्लान खरीदने के कुछ दिन तक रुपये प्रतिदिन दिये भी जाते हैं, लेकिन प्रत्येक प्लान खरीदने वाले युवक को और नये प्लान यानि नये ग्राहक जोड़ने के नाम पर मोटी राशि देने का प्रलोभन दिया जाता है, जिससे प्रभावित होकर युवक अपने संबंधित व दोस्तों को भी ऑनलाइन पैसे दोगुने करने के गेम में फंसा देते हैं. जब 15 से 30 दिनों में अच्छी खासी ऑनलाइन पैसे दोगुने करने वाले प्लान में लोग रुपये लगा देते हैं तो वह एप व वेबसाइट प्रतिदिन के हिसाब से रुपये देना बंद कर गायब हो जाते हैं.

पीड़ित किताब कॉपी विक्रेता रवि कुमार बताते हैं कि अब तक बड़े शहरों में युवा सोशल मीडिया पर गेम के टास्क या ऑनलाइन ठगी का शिकार होते थे. अब सोशल मीडिया पर टास्क ग्रुपों ने ग्रामीण इलाकों में भी पैर पसार लिया है. युवाओं से लाखों की ठगी की जा रही है. पीड़ित रवि कुमार बताते हैं कि उन्हें एक मित्र दुकानदार प्रतिदिन उनके पास आते थे और वे प्रतिदिन ऑनलाइन कमाई की बात बताते हुए कम से कम 350 रुपये से ऑनलाइन रुपये दोगुना करने की बात कहीं. कुछ दिन इनकार करने के बाद एक दिन 350 रुपये का ऑनलाइन प्लान खरीद लिया. फिर प्रतिदिन 40 रुपये आमदनी होते देख कुछ दिनों में मोटी राशि का प्लान खरीद लिया, जिसके दो-तीन दिन के बाद एप गायब हो गया. रुपये दोगुना करने वाले स्कीम नेटवर्किंग जैसे काम करता है. एक व्यक्ति कई लोगों को पैसे डबल करने की स्कीम से जोड़ता है. व्हाट्सएप, टेलीग्राम आदि के माध्यम से पैसे डबल करने वाले वेबसाइट व एप का लिंक एक-दूसरे के पास पहुंचाया जाता है. कुछ दिन पूर्व हर्षवर्द्धन कुमार ने कई मित्रों को एक लिंक भेजा और कहा कि ऑनलाइन नई कंपनी है, जिसमें 500 से एक लाख 50 हजार रुपये का अलग-अलग प्लान है, जिसमें प्रतिदिन रुपये आयेंगे और 30 से 45 दिनों में लगाये गये रुपये दोगुने हो जायेंगे. इस प्रकार कई ग्रामीण युवाओं को जोड़ा, जो युवाबेस नामक वेबसाइट 10 से 15 दिन में गायब हो गये. शुरुआत में लोग कमिशन के लोभ में अपने संगी साथी के साथ पारिवारिक सदस्यों को पैसे डबल करने की स्कीम से जोड़वा देते हैं. ग्रुप के एक सदस्य को पैसे ट्रांसफर करता रहा. शुरुआती लालच के बाद वह राशि बढ़ाता गया. अंत में लाख रुपये लगाने के बाद एप व वेबसाइट गायब हो जाता है.

क्या कहते हैं अधिकारी

ऑनलाइन रुपये दोगुना करने की शिकायत कुछ दिन पूर्व आयी है, जो चंडी व नूरसराय थाना क्षेत्र के थे. ऐसे किसी भी प्रकार के प्रलोभन में आने से बचने की जरूरत है. इसके लिए समय-समय पर जागरूकता अभियान भी चलाया जाता है. फिलहाल ऑनलाइन ठगी करने वाले ग्रुप की जांच की जा रही है. इस ठगी के मुख्य आरोपित का पता किया जा रहा है.

ज्याेति शंकर,

डीएसपी, साइबर सेल नालंदा

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें