28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Bihar: डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के पास वित्त और स्वास्थ्य समेत 9 विभाग, राबड़ी सरकार में भी रह चुके हैं मंत्री

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के मंत्रियों के बीच कैबिनेट का बंटवारा हो गया है. इसमें भाजपा नेता और डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी को नौ विभाग का प्रभार दिया गया है. सम्राट इससे पहले भी मंत्री रह चुके हैं. सम्राट चौधरी का राजनीतिक सफर पढ़िए इस रिपोर्ट में...

बिहार में सियासी उठा पटक के बाद शपथ लेने वाले मंत्रियों के बीच मंत्रिमंडल का बंटवारा शनिवार को हो गया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर गृह विभाग की कमान अपने पास रखी है. इसके साथ ही उन्होंने सामान्य प्रशासन, कैबिनेट सचिवालय, निर्वाचन, निगरानी और ऐसे सभी विभाग की कमान अपने पास रखी है जो किसी को आवंटित नहीं हैं. वहीं, दोनों डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा को नौ-नौ विभाग सौंपे गए हैं. आपको बता दें कि डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी इससे पहले भी बिहार सरकार में मंत्री रह चुके हैं.

सम्राट चौधरी को इन विभागों की मिली जिम्मेदारी

कोइरी (कुशवाहा) समाज से आने वाले 54 वर्षीय सम्राट चौधरी को जिन नौ विभागों की जिम्मेदारी दी गई है. उसमें वित्त, वाणिज्य-कर, नगर विकास एवं आवास, स्वास्थ्य, खेल, पंचायती राज, उद्योग, पशु एवं मत्स्य संसाधन एवं विधि विभाग शामिल है.

इन विभागों के मंत्री रह चुके हैं सम्राट चौधरी

सम्राट चौधरी इससे पहले लालू प्रसाद यादव की राजद और नीतीश कुमार की जदयू दोनों से जुड़े थे. 2017 में वह बीजेपी में शामिल हो गए, जो जल्द ही नीतीश कुमार के साथ हो गई. सम्राट चौधरी नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली पिछली एनडीए सरकार के दौरान पंचायती राज मंत्री भी थे. इससे पहले सम्राट चौधरी ने 2 जून 2014 से 20 फरवरी 2015 तक जीतन राम मांझी की सरकार में बिहार राज्य में शहरी विकास और आवास मंत्री के रूप में काम किया था. उन्होंने 1999 में राबड़ी सरकार में कृषि मंत्री का पद भी संभाला था.

Undefined
Bihar: डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के पास वित्त और स्वास्थ्य समेत 9 विभाग, राबड़ी सरकार में भी रह चुके हैं मंत्री 4

जेल भी जा चुके हैं सम्राट चौधरी

बिहार के मुंगेर से आने वाले सम्राट चौधरी का जन्म 16 नवंबर 1968 को हुआ था. उनके पिता शकुनी चौधरी भी पूर्व मंत्री और पूर्व सांसद रहे हैं. सम्राट चौधरी ने 1990 में राजनीति में प्रवेश किया और 1995 में एक राजनीतिक केस में 89 दिनों की जेल यातना भी झेली. 1999 में उनको बिहार सरकार में माप तौल एवं बागवानी मंत्री की जिम्मेदारी मिली. 2000 में परबत्ता विधानसभा क्षेत्र से चुन कर आये. 2010 में विरोधी दल के मुख्य सचेतक भी रहे. 2014 में बिहार विधान परिषद के सदस्य बने. उन्होंने बिहार सरकार में नगर विकास एवं आवास, स्वास्थ्य, योजना तथा खान एवं भूतत्व विभाग जैसे महत्वपूर्ण विभाग भी संभाले हैं.

Undefined
Bihar: डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के पास वित्त और स्वास्थ्य समेत 9 विभाग, राबड़ी सरकार में भी रह चुके हैं मंत्री 5

बीजेपी में सम्राट चौधरी

सम्राट चौधरी 2017 में बीजेपी में शामिल हुए थे. इसके बाद वर्ष 2018 में इन्हें भारतीय जनता पार्टी का बिहार राज्य का उपाध्यक्ष बनाया गया.जबकि 2020 में एक बार फिर इन्हें विधान पार्षद बनाया गया. बिहार सरकार में एक बार फिर एनडीए की सरकार में ये पंचायती राज विभाग के मंत्री के पद पर 28 फरवरी 2021 से 9 अगस्त 2022 तक रहे और नीतीश कुमार के द्वारा भाजपा के नाता तोडने के बाद मंत्री पद समाप्त हो गया. फिर एक बार भाजपा ने इनपर विश्वास जताया और 2022 में भाजपा की ओर से बिहार विधान परिषद में विपक्ष के नेता बनाये गये. सम्राट चौधरी को भारतीय जनता पार्टी का बिहार राज्य का अध्यक्ष बर्ष 2023 में बनाया गया.

Undefined
Bihar: डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के पास वित्त और स्वास्थ्य समेत 9 विभाग, राबड़ी सरकार में भी रह चुके हैं मंत्री 6
Also Read: बिहार: CM नीतीश के पास गृह, विजय चौधरी शिक्षा मंत्री, जानिए सम्राट चौधरी समेत अन्य मंत्रियों के विभाग..

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें