1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. weather alert maize crop destroyed due to rain in kosi and seemanchal ksl

Weather Alert: कोसी और सीमांचल में बारिश से मक्के की फसल बरबाद, ...जानें आज कहां कितनी होगी बारिश?

पूर्व बिहार के कोसी और सीमांचल में मंगलवार रात को बारिश, मेघ गर्जन और तेज हवाओं के कारण फसल को काफी नुकसान हुआ है. कई जगहों पर बिजली के तार टूट जाने से आपूर्ति ठप हो गयी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Weather Alert: कटिहार के फलका में आंधी-तूफान से बरबाद हुई मक्के की फसल के बीच मायूस किसान.
Weather Alert: कटिहार के फलका में आंधी-तूफान से बरबाद हुई मक्के की फसल के बीच मायूस किसान.
प्रभात खबर

Weather Alert: पूर्व बिहार के कोसी और सीमांचल में मंगलवार रात को बारिश, मेघ गर्जन और तेज हवाओं के चलने से मौसम में नरमी आयी है. लोगों को एक ओर जहां गर्मी से राहत मिली है. वहीं, बारिश और तेज हवाओं के कारण फसल को काफी नुकसान हुआ है. कई जगहों पर बिजली के तार टूट जाने से बिजली आपूर्ति ठप कर दी गयी. इससे लोग अंधेरे में रहने को मजबूर हो गये.

कटिहार मेंआंधी-तूफानऔर बारिश से मक्के की फसल को नुकसान

कटिहार जिले में मंगलवार की देर रात आये आंधी-तूफान से फसलों को व्यापक पैमाने पर नुकसान पहुंचा है. मक्के की फसल पूरी तरह से हो बरबाद हो गयी है. तैयार फसल के नुकसान होने से किसान खून के आंसू रोने को विवश हो गये हैं. वहीं, आंधी के कारण कई इलाकों के कई घरों के छप्पड़ उड़ गये.

कटिहार-पूर्णिया के बीच तार टूटने से पानी की किल्लत

देर रात करीब 12 बजे के बाद आए आंधी-तूफान और बारिश से कटिहार-पूर्णिया के बीच उच्च क्षमता का तार टूट कर गिर गया. इससे आधी रात से ही बिजली आपूर्ति पूरे जिले में ठप हो गयी. इससे लाखों की आबादी अंधेरे में रहने को विवश गयी. बिजली नहीं रहने से लोग त्राहिमाम कर रहे हैं. सबसे अधिक मारामारी की स्थिति पानी के लिए हो रही है. लोगों को दूर-दूर से चापाकल से पानी लाना पड़ रहा है.

पूर्णिया में बिजली का तार टूटने से ब्लैक आउट

वहीं, पूर्णिया में तेज आंधी और बारिश ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं. जिले में कहीं पेड़ गिरे, तो कहीं बिजली के तार टूट गये. इससे शहर में कई जगह यातायात बाधित हो गयी. तार टूटने से शहर में ब्लैक आउट हो गया. वहीं, मौसम की मार ने किसानों को बड़ा झटका दिया है. मक्के की खड़ी फसलें धराशायी हो गयीं. साथ ही आम और लीची को भी काफी नुकसान हुआ है.

तेज हवाओं में उड़ गयीं छप्परें, आम और लीची को नुकसान

अररिया और मधेपुरा में भी देर रात आये आंधी-तूफान और बारिश के कारण कच्चे घरों की छतें उड़ गयीं. साथ ही मक्के की फसल के साथ-साथ आम और लीची को काफी नुकसान पहुंचा है. इससे किसानों की हालत खस्ता हो गयी है. मक्के की तैयार फसल बरबाद होने से किसान मायूस हो गये हैं. वहीं, मुंगेर में भी मौसम बदला-बदला नजर आया. रात में बिजली चमकने के साथ मेघ गर्जन हुआ.

मौसम विभाग ने जतायी थी बारिश की संभावना

मालूम हो कि मौसम विभाग ने मंगलवार को रात करीब 12 बजे मुंगेर, खगड़िया, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार के कुछ इलाकों में हल्के से मध्यम दर्जे की मेघ गर्जन के साथ मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना जतायी थी. साथ ही तेज हवा चलने के साथ वज्रपात की आशंका जतायी थी.

फारबिसगंज में 52.4 फीसदी बारिश होने की संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक, आज बुधवार को अररिया के फारबिसगंज में 52.4 फीसदी, जोकिहाट में 25.4 फीसदी, अररिया में 24.8 फीसदी, नरपतगंज में 22.4 फीसदी बारिश की संभावना जतायी है. जबकि, किशनगंज के ठाकुरगंज में 19.2 फीसदी बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जतायी है.

सुपौल और मधेपुरा में बारिश की संभावना

वहीं, सुपौल के निर्मली में 27 फीसदी, त्रिवेणीगंज में 21.2 फीसदी बारिश की संभावना है. मधेपुरा के सिंहेश्वर में 25.5 फीसदी, मुरलीगंज में 24.4 फीसदी और मधेपुरा में 18.4 फीसदी बारिश की संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक, शुक्रवार तक पूर्व बिहार, कोसी और सीमांचल के कुछ इलाकों में आंधी-तूफान के साथ बारिश और वज्रपात की संभावना है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें