1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. nda bihar deputy cm faces old relation from bhagalpur this time son in law has got the responsibility of deputy chief minister of bihar tarkishore prasad katihar skt

NDA के डिप्टी सीएम चेहरे का भागलपुर से है पुराना नाता, इस बार दामाद को मिली है बिहार के उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद
उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद
social media

एनडीए सरकार में बिहार के उपमुख्यमंत्री पद का भागलपुर से एक पुराना नाता रहा है. पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भागलपुर से सांसद रह चुके हैं, जो लंबे समय तक एनडीए सरकार के अंदर बिहार के उपमुख्यमंत्री रहे.एनडीए ने बिहार चुनाव 2020 के बाद नयी सरकार गठन होने पर डिप्टी सीएम का चेहरा बदला है.इस बार यह जिम्मेदारी कटिहार से भाजपा विधायक तारकिशोर प्रसाद के कंधे पर दी गई है. जिनका ससुराल भागलपुर है.

नाथनगर गोलदारपट्टी में उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद का ससुराल

बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद का ससुराल नाथनगर गोलदारपट्टी में उत्सव का माहौल है. दीपावली के बाद जब इनके ससुराल वालों को पता चला कि उनके घर में दामाद बिहार की सत्ता के शिखर पर पहुंच गये है तो सभी का सीना गर्व से चौड़ा हो गया. जब बिहार के राज्यपाल ने तारकेश्वर प्रसाद को गोपनीयता का शपथ दिलाया तो ससुराल में आतिशबाजी के साथ साथ मिठाई बांटना आरंभ हो गया. आसपास के लोग भी एकत्र हुए और फिर बधाई का सिलसिला आरंभ हो गया.

इमरजेंसी में जब कटिहार से बारात लेकर तारकेश्वर बाबू भागलपुर पहुंचे

स्वर्गीय सिध्दीनाथ प्रसाद भगत और स्वर्गीय शैल देवी की दूसरी बेटी रेणू भगत से विवाह तारकेश्वर प्रसाद के साथ इमरजेंसी के दौरान हुआ था. उपमुख्यमंत्री के साले व्यापारी मुकेश प्रसाद भगत कहते है देश में इमरजेंसी लगा था. इंदिरा सरकार ने बारात में 20 लोग को ही शामिल होने का निर्देश जारी किया था. कटिहार से बारात लेकर तारकेश्वर बाबू भागलपुर पहुंचे. भागलपुर जब बारात पहुंची तो बाराती की संख्या 150 से ज्यादा था.सभी का स्वागत पहले भागलपुर में किया गया इसके बाद हमारे घर पर बारात पहुंची. हमें उस वक्त पता नहीं था अंग की बेटी रेणू से जिसका विवाह हो रहा है वो आगे चल कर बिहार के उपमुख्यमंत्री बनने वाले है.

शादी के बाद लगातार नाथनगर आना जाना लगा रहा

शादी के बाद लगातार उनका नाथनगर आना जाना लगा रहा. लोगों से मिलना सभी से बात करना सभी को अपना मानना तारकेश्वर बाबू के स्वभाव में शामिल है. धीरे धीरे इनका कद राजनीति में बढ़ने लगा और कटिहार की जनता का साथ इनको मिला. विधायक होने के बाद भी इनका हम लोगों के प्रति प्रेम कम नहीं हुआ. हमारे यहां अगर विवाह हो या कोई और कार्यक्रम इसमें शामिल होने तारकेश्वर बाबू जरूर आते है.

इसी साल जनवरी में समारोह में शामिल होने आए भागलपुर

मुकेश प्रसाद कहते हैं कि इसी साल जनवरी में ये हमारे भतीजे की शादी में शामिल होने आये थे. ससुराल में इनका चचीया सास को सबसे ज्यादा सम्मान देते है. जब भी इनको मौका मिलता है ये कॉल कर इनकी खोज खबर लेते रहते है. आगे मुकेश कहते है तारकेश्वर बाबू को तीन लड़का और एक लड़की है. दो बेटा खुद का व्यापार करते है तो तीसरा बेटा माडलिंग करते है. बेटी की शादी प्रशासनिक अधिकारी के साथ हुआ है.

उपमुख्यमंत्री का शपथ लेते ही ससुराल में हर्ष का माहौल

दूसरी और तारकेश्वर बाबू ने जैसे ही उपमुख्यमंत्री का शपथ लिया इनके ससुराल में हर्ष का माहौल कायम हो गया. सभी ने मिल कर एक बार फिर से दीपावली मनाया तो एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया.

Posted by : Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें