1. home Home
  2. sports
  3. cricket
  4. womens t20 series between india and australia is starting from tomorrow team india has upper hand aml

कल से शुरू हो रहा है भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच महिला टी-20 मुकाबला, टीम इंडिया का पलड़ा भारी

दोनों प्रारूपों के बीच विशाल अंतर के बावजूद, सीनियर सलामी बल्लेबाज निश्चित रूप से गति बनाए रखने की कोशिश करेंगे. जबकि हरमनप्रीत का वापस आना टीम के लिए बेहद खास होगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर
भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर
PTI

नयी दिल्ली : गुरुवार से ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच महिला टी-20 सीरीज शुरू होने वाली है. कप्तान हरमनप्रीत कौर की चोट से वापसी से भारी उपस्थिति दर्ज होने की उम्मीद है. भारत गुरुवार से गोल्ड कोस्ट में शुरू होने वाली तीन मैचों की टी-20 इंटरनेशनल श्रृंखला में एक बहुआयामी ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम को चुनौती देगा. 32 वर्षीय अनुभवी कप्तान अंगूठे की चोट के कारण मेजबान टीम के खिलाफ वनडे लेग और दिन-रात्रि टेस्ट से चूक गयी थी.

लेकिन वह अब एक बल्लेबाजी लाइन-अप में मारक क्षमता जोड़ने के लिए टीम में वापस आ गयी हैं. टीम में युवा शैफाली वर्मा जैसी एक तेजतर्रार सलामी बल्लेबाज शामिल हैं, साथ ही स्मृति मंधाना भी पूरे फॉर्म में हैं. मंधाना ऑस्ट्रेलियाई दौरे के आखिरी चरण में आत्मविश्वास से भरी होंगी, जिन्होंने एक हफ्ते से भी कम समय में शानदार पहला टेस्ट शतक बनाया था.

दोनों प्रारूपों के बीच विशाल अंतर के बावजूद, सीनियर सलामी बल्लेबाज निश्चित रूप से गति बनाए रखने की कोशिश करेंगे. जबकि हरमनप्रीत का वापस आना टीम के लिए बेहद खास होगा. शैफाली आक्रामक तरीके से बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं और सभी की निगाहें उनपर टिकी होंगी. दौरे के दौरान, भारतीय खिलाड़ियों ने दिखाया है कि वे कम समय के भीतर विभिन्न प्रारूपों के अनुकूल हो सकते हैं.

चोटों ने भले ही हाल के दिनों में हरमनप्रीत को पीछे कर दिया हो, लेकिन आगामी तीन मैच हरमनप्रीत को अगले साल के एकदिवसीय विश्व कप से पहले छोटे प्रारूपों में अपना फॉर्म फिर से हासिल करने का सही मौका देंगे. हरमनप्रीत, बिना किसी संदेह के खेल के छोटे प्रारूपों में सबसे बड़ी मैच-विजेताओं में से एक बनी हुई हैं और वह आने वाले दिनों में अपने अवसरों की कल्पना करेगी.

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी आक्रमण शैफाली, मंधाना और हरमनप्रीत पर अपनी छाप नहीं छोड़ पायेगी. बहुत सारे ऑलराउंडर ऑस्ट्रेलिया को छोटे प्रारूपों में एक मजबूत टीम बनाते हैं लेकिन इस भारतीय टीम के पास मेजबान टीम को चकमा देने की क्षमता है. प्रेरणा के लिए, भारतीय पिछले साल विश्व कप से पहले एक T20I में उनके खिलाफ 180 रनों के लक्ष्य का पीछा किया था.

Posted By: Amlesh nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें