1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. virat will have to give up his ego kapil dev weighs in on kohlis post captaincy era aml

विराट कोहली को अपना अहंकार छोड़ना होगा, जानें महान क्रिकेटर कपिल देव ने क्यों कही यह बात

पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने विराट कोहली को अपना अहंकार छोड़ने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि कोहली एक शानदार बल्लेबाज हैं और उनको अपने खेल पर ध्यान देना होगा. कपिल देव ने कहा कि कोहली पर अब कोई दबाव नहीं है और वे खुलकर अपनी बल्लेबाजी में सुधार कर सकते हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कपिल देव
कपिल देव
twitter

विराट कोहली के भारत के टेस्ट कप्तान की भूमिका से हटने के कदम को क्रिकेट बिरादरी से प्रशंसा मिल ही है. 33 वर्षीय कोहली ने 68 टेस्ट मैचों में 40 जीत के साथ प्रारूप में भारत के सबसे सफल कप्तान के रूप में खुद को साबित किया है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में एक ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीतने में टीम की मदद की. कोहली टीम को आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर ले गये.

विराट कोहली के पास भारत के टेस्ट कप्तान के रूप में सर्वाधिक 68 टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड भी है. अतीत और वर्तमान खिलाड़ियों सहित क्रिकेट बिरादरी ने इस खिलाड़ी को उनके सफल कार्यकाल के लिए बधाई दी और भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव ने भी विराट कोहली के इस कदम का स्वागत किया. कपिल देव ने कहा कि कोहली कप्तानी का आनंद नहीं ले रहे थे और यह एक कठिन निर्णय रहा होगा.

विश्व कप विजेता कपिल देव ने कप्तानी के दबाव को और रेखांकित किया जो कोहली की बल्लेबाजी पर भी प्रभाव डाल रहा था. कोहली ने 2021 में 11 टेस्ट में 28.21 के मामूली औसत से 536 रन बनाए. कपिल देव ने कहा कि मैं टेस्ट कप्तानी छोड़ने के विराट के फैसले का स्वागत करता हूं. टी-20 की कप्तानी छोड़ने के बाद से ही वह बुरे दौर से गुजर रहे थे. वह हाल के दिनों में काफी तनाव में नजर आ रहे हैं, काफी दबाव में नजर आ रहे हैं. इसलिए स्वतंत्र रूप से खेलने के लिए कप्तानी छोड़ना एक विकल्प था.

कपिल ने मिड-डे से बातचीत में कहा कि वह एक परिपक्व आदमी हैं. मुझे यकीन है कि उन्होंने यह महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले काफी सोच विचार किया होगा. हो सकता है, वह कप्तानी का आनंद नहीं ले रहे थे. हमें उनका समर्थन करना होगा और उन्हें शुभकामनाएं देनी होंगी. अपने सुनहरे दिनों में, कपिल कृष्णमाचारी श्रीकांत और मोहम्मद अजहरुद्दीन के नेतृत्व में खेले और वह चाहते हैं कि कोहली एक बल्लेबाज के तौर पर नये कप्तान के तहत खेले.

कपिल देव ने कहा कि सुनील गावस्कर भी मेरे अंडर में खेले. मैं के श्रीकांत और अजहरुद्दीन के नेतृत्व में खेला. मुझे कोई अहंकार नहीं था. विराट को भी अपना अहंकार छोड़ना होगा और एक युवा क्रिकेटर के नेतृत्व में खेलना होगा. इससे उन्हें और भारतीय क्रिकेट को मदद मिलेगी. विराट को नये कप्तान, नये खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करना चाहिए. हम बल्लेबाज विराट को नहीं खो सकते... बिलकुल नहीं.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें