1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. rajasthan royals chetan sakariya says give better treatment to my covid positive father because ipl 2021 earned money rkt

IPL में कमाए गए पैसों से पिता करा रहा हूं बेहतर इलाज- राजस्थान रॉयल्स के युवा गेंदबाज ने बतायी अपनी कहानी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
राजस्थान रॉयल्स के युवा गेंदबाज ने बतायी अपनी कहानी
राजस्थान रॉयल्स के युवा गेंदबाज ने बतायी अपनी कहानी
फोटो - ट्वीटर

इंडियन प्रीमीयर लीग के 14वें सीजन में जिन खिलाडियों ने अपने प्रदर्शन से सबका दिल मोहा है, उनमें राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया (Chetan Sakariya) नाम भी शामिल है. बेहद साधारण परिवार से आने वाले चेतन ने आईपीएल 2021 में अपने गेंदबाजी से असाधारण प्रदर्शन किया. कोरोना की दूसरी लहर के कारण आईपीएल 2021 को स्थगित कर दिया गया है और सभी खिलाड़ी अपने-अपने घरों को लौट चुके हैं. वहीं चेतन घर लौटने के बाद कोरोना से ग्रसित अपने पिता का इलाज करा रहे हैं.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में चेतन सकारिया ने एक इमोश्नल स्टोरी सुनायी. इस इंटरव्यू में चेतन ने आईपीएल 2021 में कमाए गए पैसों को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है. चेतन ने बताया कि मैं भाग्‍यशाली हूं क्‍योंकि कुछ दिनों पहले मुझे राजस्‍थान रॉयल्‍स से मेरा हिस्‍से का भुगतान कर दिया. मैंने तुरंत पैसे घर भेजे और इससे मेरे पिता को सबसे बड़े समय में मदद मिली. भावनगर में लैंड करने के बाद चेतन सकारिया हॉस्पिटल में सीधे अपने पिता से मिलने गए. बता दें कि सकारिया को राजस्थान रॉयल्स ने इस आईपीएल सीजन 1.2 करोड़ की रकम में खरीदा था.

बता दें कि राज्स्थान की ओर से आईपीएल 2021 में अपने पदार्पण मैच में ही तेज गेंदबाज चेतन सकारिया तीन विकेट झटके थें. इसके अलावा उन्होंने इस मैच में पंजाब के निकोलस पूरन का शानदार कैच भी लपका. सकारिया के उस कैच को देखकर हर कोई दंग रह गया. मालूम हो कि 23 साल के चेतन सकारिया के परिवार की स्थिती बहुत ही खराब थी, वह बहुत ही गरीब परिवार से आते हैं. उनके पिता एक लॉरी ड्राइवर थे, जो हादसे के कारण पूरी तरह से बिस्तर पर आ गये हैं.

दर्दभरी है चेतन की कहानी

सकारिया ने ही एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके पिता कांजीभाई को पसंद नहीं था कि उनका बेटा क्रिकेट खेले क्योंकि वह इसे अमीरों का खेल मानते थें. एक समय चेतन के घर में टीवी भी नहीं था उन्हें टीवी देखने के लिए दूसरों के घर जाना पड़ता था. बता दें कि इतना ही नहीं, चेतन के भाई ने इसी साल जनवरी में आत्महत्या कर ली थी, वह उस समय सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी में खेल रहे थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें