1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. kirsten told what skills are necessary to become a good coach know how indias performance during his tenure

कर्स्टन ने बताया कि अच्छे कोच बनने के लिए कौन कौन सी स्किल्स है जरूरी, जानें उनके कार्यकाल में कैसा रहा है भारत का प्रदर्शन

By Sameer Oraon
Updated Date
डेली सन ने गैरी कर्स्टन के हवाले से एक रिपोर्ट लिखी है जिसमें उन्होंने बताया है कि एक कोच में बनने के लिए किन चीजों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है.
डेली सन ने गैरी कर्स्टन के हवाले से एक रिपोर्ट लिखी है जिसमें उन्होंने बताया है कि एक कोच में बनने के लिए किन चीजों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है.
Twitter

गैरी कर्स्टन भारत के सबसे सफल कोचों में से एक रहे हैं, उनके कार्यकाल में भारत ने 2011 में विश्व कप का खिताब जीता था. हाल ही में डेली सन ने गैरी के हवाले से एक रिपोर्ट लिखी है जिसमें उन्होंने बताया है कि एक कोच बनने के लिए किन चीजों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. उन्होंने कहा है कोच के नेतृत्व करने वाला पद है. कोच बनने के लिए जरूरी है कि टीम और खिलाड़ी को कैसे आगे बढ़ाएं.

ये सोचना बेहद जरूरी है कि टीम में कैसा माहौल बनाएं की टीम आगे बढ़े. इस पूर्व कोच ने कहा कि कोच बनने के लिए इन स्किल्स की सबसे ज्यादा जरूरत है, जिसमें मैन मैनेजमेंट, टीम कल्चर बनाना, चयन और रणनीति बनाना इत्यादि शामिल है, इसके अतिरिक्त सेशन और टूर्नामेंट की तैयारी करवाना, अभ्यास और ट्रेनिंग सुविधा पर ध्यान भी बेहद जरूरी है. सपोर्ट स्टाफ भी इस कार्य में काफी मायने रखते हैं. 52 साल के इस पूर्व खिलाड़ी और कोच ने कहा कि उन्हें टीम में मौजूद हर तरह के खिलाड़ियों को सफलतापूर्वक संभालना आना चाहिए ताकि हर खिलाड़ी को आगे बढ़ने का मौका मिले.

कोच को ऐसा माहौल बनाने की जरूरत होती है कि वो टीम के हर खिलाड़ी से उनका बेस्ट प्रदर्शन निकलवा सकें. कोच पर भी टीम की सफलता निर्भर करती है सिर्फ खिलाड़ियों पर नहीं. आपको बता दें कि कर्स्टन ने भारत और दक्षिण अफ्रीका दोनों के लिए कोच की जिम्मेदारी संभाली है. बता दें कि कर्स्टन के कार्यकाल में टीम इंडिया ने 33 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्हें 16 में जीत मिली है जबकि 6 में हार का सामना करना पड़ा है, वहीं अगर हम उनके कार्यकाल में टीम इंडिया की वनडे प्रदर्शन की बात करें तो उस दौर में भारत ने 93 वनडे मुकाबले खेले हैं जिसमें टीम को 59 मैचों में जीत मिली है जबकि 29 मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा है. ये रिकॉर्ड बेहद शानदार है

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें