1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. ipl 2022 csk returned to victory as dhoni became captain again beat hyderabad gaikwad and conway shine avd

CSK vs SRH, IPL 2022 : धोनी के कमान संभालते ही जीत की राह पर लौटी चेन्नई, हैदराबाद को 13 रन से हराया

चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए गायकवाड़ के 99 रन और कॉनवे के नाबाद 85 रनों की तूफानी पारी के दम पर 20 ओवर में 2 विकेट खोकर 202 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. जिसके जवाब में हैदराबाद की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर केवल 189 रन ही बना पायी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चेन्नई ने हैदराबाद को 13 रन से हराया
चेन्नई ने हैदराबाद को 13 रन से हराया
pti photo

रुतुराज गायकवाड़ और कॉनवे की पहले विकेट के लिए रिकॉर्ड साझेदारी के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने रविवार को आईपीएल 2022 (IPL 2022) के 46वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 13 रन से हराया और टूर्नामेंट में तीसरी जीत दर्ज की. चेन्नई की जीत में गाकयवाड़ और कॉनवे की बड़ी भूमिका रही. दोनों ने पहले विकेट के लिए 182 रनों की साझेदारी निभायी, जो आईपीएल इतिहास में पहले विकेट के लिए चौथी सबसे बड़ी साझेदारी है और चेन्नई की ओर से किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी.

बेकार गयी पूरन की तूफानी पारी

चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए गायकवाड़ के 99 रन और कॉनवे के नाबाद 85 रनों की तूफानी पारी के दम पर 20 ओवर में 2 विकेट खोकर 202 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. जिसके जवाब में हैदराबाद की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर केवल 189 रन ही बना पायी. हैदराबाद की ओर से निकोल्स पूरन ने नाबाद 64 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 33 गेंदों का सामना किया और 3 चौके व 6 छक्के जमाये. अभिषेक शर्मा ने 39 और कप्तान केन विलियमसन ने 47 रन की पारी खेली. मारक्रम ने 17 और शशंक ने 15 रन बनाये.

मुकेश ने चटकाये 4 विकेट

चेन्नई की ओर से मुकेश चौधरी ने 4 ओवर में सबसे अधिक 46 रन देकर 4 विकेट चटकाये. जबकि प्रिटोरियस और सेंटनर ने एक-एक विकेट लिये.

गायकवाड़ और कॉनवे ने चेन्नई को 202 रन तक पहुंचाया

सलामी बल्लेबाज रुतुरात गायकवाड़ और डेवोन कॉनवे के बीच पहले विकेट के लिये इस सत्र की सबसे बड़ी 182 रन की साझेदारी की मदद से चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ दो विकेट पर 202 रन बनाये.

शतक से चूके गायकवाड़

गायकवाड़ शतक से एक रन से चूक गए लेकिन 57 गेंद में 99 रन की आक्रामक पारी खेली जिसमें छह चौके और छह छक्के शामिल थे. वहीं कॉनवे ने 55 गेंदों में 85 रन की नाबाद पारी खेली जिसमें आठ चौके और चार छक्के शामिल थे. गायकवाड़ ने बैकफुट पर शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए सनराइजर्स के किसी भी गेंदबाज को नहीं बख्शा. दूसरी ओवर कॉनवे ने उनका बखूबी साथ निभाया और आखिरी ओवरों में जमकर रन कूटे. भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 22 रन दिये लेकिन उन्हें विकेट नहीं मिल सकी. वहीं पिछले मैच में पांच विकेट चटकाने वाले तेज गेंदबाज उमरान मलिक ने चार ओवर में 48 रन दे डाले और उन्हें कोई सफलता नहीं मिली.

हैदराबाद की ओर से नटराजन ने दो विकेट चटकाये

टी नटराजन ने दो विकेट लिये लेकिन 42 रन भी दिये. गायकवाड़ ने मार्को जानसेन को फाइन लेग में दो छक्के लगाकर अपने हाथ खोले. पावरप्ले के बाद चेन्नई का स्कोर बिना किसी नुकसान के 40 रन था. कॉनवे ने एडेन मार्कराम को फाइनल लेग में चौका और उनके सिर के ऊपर से छक्का लगाकर रनगति को बढ़ाना जारी रखा. मलिक ने इस टूर्नामेंट की सबसे तेज गेंद भी डाली लेकिन गायकवाड़ ने उन्हें दो छक्के लगाकर 33 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया. इसके बाद उन्होंने 11वें ओवर में मार्कराम को दो छक्के लगाकर टीम को 100 रन के पार पहुंचाया.

कॉनवे ने 39 गेंदों में पूरा किया अर्धशतक

कॉनवे ने अपने स्वीप शॉट्स का बखूबी इस्तेमाल किया और 39 गेंद में अपना अर्धशतक 15वें ओवर में जानसेन को छक्का लगाकर पूरा किया. उन्होंने इस ओवर में एक और छक्का जड़कर 20 रन निकाले. गायकवाड़ हालांकि प्वाइंट में आसान कैच थमाकर नर्वस नाइंटीज का शिकार हो गए. दोबारा कप्तान बने महेंद्र सिंह धोनी तीसरे नंबर पर उतरे लेकिन नटराजन की गेंद पर मलिक को कैच देकर लौट गए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें