1. home Home
  2. sports
  3. cricket
  4. india vs new zealand shreyas iyer score a hundred on his test debut match rkt

IND vs NZ: श्रेयस अय्यर पहले ही मैच में शतक ठोक रचा इतिहास, पिता ने चार साल से नहीं बदली उनकी व्हाट्सएप डीपी

श्रेयस अय्यर ने कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया. उन्होंने अपने पदार्पण मैच में ही शतक जड़कर इतिहास रच दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
श्रेयस अय्यर पहले ही मैच में रचा इतिहास
श्रेयस अय्यर पहले ही मैच में रचा इतिहास
फोटो - BCCI ट्वीटर

India Vs New Zealand 1st Test : भारतीय बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू कर रहे हैं और अपने भारत और न्यूजीलैंड पहले ही टेस्ट मैच में उन्होंने शतक जमाया है. अय्यर ने 157 गेंदों पर 12 चौके और दो छक्के की बदौलत यह कीर्तिमान स्थापित किया है. श्रेयस अय्यर भारत के टेस्ट डेब्यू पर शतक जड़ने वाले 16वें भारतीय बल्लेबाज हैं. इससे पहले आखिरी बार पृथ्वी शॉ ने साल 2018 में टेस्ट डेब्यू पर शतक लगाया था.

अय्यर ने मुश्किल समय में भारत के लिए यह पारी खेली है. भारतीय टीम पहले दिन संघर्ष कर रही थी. उसने 145 रनों पर ही अपने चार बड़े विकेट खो दिए थे. फिर अय्यर ने मोर्चा संभाला और टीम को मुश्किल स्थिति से बाहर निकाला. उन्होंने रवींद्र जडेजा के साथ शतकीय साझेदारी की. श्रेयस अय्यर 75 और रवींद्र जडेजा 50 रनों पर नाबाद लौटे थे. दोनों खिलाड़ियों के बीच पांचवें विकेट के लिए 113 रनों की साझेदारी हो चुकी है. ओपनर शुभमन गिल ने भी शानदार योगदान देते हुए 52 रनों की पारी खेली थी.

श्रेयस के पिता ने चार साल तक वाट्सअप डीपी नहीं बदला

श्रेयस अय्यर के पिता संतोष का वाट्सअप डीपी पिछले चार साल से नहीं बदला है, जिसमें उनके बेटे ने हाथ में 2017 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी थाम रखी है. इसका कारण यह है कि वह हमेशा से अपने बेटे को टेस्ट क्रिकेट खेलते देखना चाहते थे. उनका सपना पूरा हुआ जब गुरुवार को श्रेयस ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया. अय्यर ने शतक जमा कर अपने पहले टेस्ट को यादगार बना दिया.

पहले दिन का खेल समाप्त होने के बाद उनके पिता ने कहा : यह डीपी मेरे दिल के करीब है. जब वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में खेल रहा था, तब विराट कोहली के स्टैंडबाय के रूप में टीम में था. उन्होंने कहा : उस समय मैच जीतने के बाद उसे ट्रॉफी दी. उसने वह ट्रॉफी थाम रखी है और वह पल मेरे लिये अनमोल है. उन्होंने कहा : मैं इंतजार कर रहा था कि श्रेयस भारत के लिए टेस्ट खेलेगा. जब रहाणे ने कहा कि वह खेल रहा है, तो वह मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें