1. home Home
  2. sports
  3. cricket
  4. india vs new zealand 2nd t20 ishan kishan is not hit or miss cricketer says his former coach rkt

IND vs NZ: रांची का यह खिलाड़ी अपने बल्लेबाजी से कीवी टीम को पिलाएगा पानी! पूर्व कोच बतायी कहानी

इशान किशन के बचपन के कोच उत्तम मजूमदार ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि वह बड़े मैच में आउट हो गया. लेकिन अगर टीम की यह रणनीति सफल हो जाती तो वह रातों-रात स्टार बन जाता.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
इशान किशन
इशान किशन
PTI Photo

India vs New Zealand : टी-20 विश्व कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ विफलता के बाद इशान किशन को ‘हिट या मिस (बड़ा शॉट मारने या आउट हो जाने वाला)’ खिलाड़ी बताया गया, लेकिन इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज के पूर्व कोच का मानना है कि वह अगले कुछ वर्षों में भारत की सीमित ओवरों की टीम में एक महत्वपूर्ण सदस्य बन सकते हैं. हाल ही में टी-20 विश्व कप के अपने शुरुआती मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 10 विकेट से हार का सामना करने के बाद भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ रोहित शर्मा के स्थान पर इशान से पारी का आगाज कराया. बाएं हाथ का यह युवा बल्लेबाज हालांकि बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में जल्दी आउट हो गया.

इशान के कोच ने गवास्कर को दिया जवाब 

भारतीय बल्लेबाजी क्रम में बदलाव की आलोचना करते हुए पूर्व दिग्गज सुनील गावस्कर ने इशान को ‘हिट-या-मिस खिलाड़ी’ करार दिया था. इशान के बचपन के कोच उत्तम मजूमदार के अनुसार इस 23 वर्षीय के लिए अभी कुछ भी खत्म नहीं हुआ है. उन्होंने कहा : वह (इशान) एक उपयोगी खिलाड़ी है. जो छोटे प्रारूप के लिए सबसे उपयुक्त है. वह पारी का आगाज कर सकता है, एक फिनिशर की भूमिका निभा सकता है. वह बहुत फुर्तीला और शानदार क्षेत्ररक्षक है.'' बिहार के पूर्व अंडर-22 क्रिकेटर मजूमदार ने ईशान की प्रतिभा को तब पहचाना था जब वह महज सात साल के थे.

इशान ‘हिट या मिस’ खिलाड़ी नहीं - पूर्व कोच

उन्होंने विश्व कप से पहले ईशान के फॉर्म की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘ जिस तरह से उसने पिछली तीन पारियों में बल्लेबाजी की थी, उसे देखते हुए और मौके (विश्व कप में) मिलने चाहिए थे.'' ईशान ने विश्व कप से पहले आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) में नाबाद 50 और 84 रन की पारी खेलने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में नाबाद 70 रन बनाये थे.

मजूमदार ने कहा, ‘‘ वह बहुत नैसर्गिक खिलाड़ी हैं और बड़े शॉट खेलने से नहीं डरता है. उस दिन उसे विशेष रूप से पावरप्ले में बड़ा शॉट खेलने के लिए भेजा गया था लेकिन दुर्भाग्य से वह उनका दिन नहीं था. उसे हालांकि और भी कई मौके मिलेंगे.''उन्होंने कहा कि राहुल द्रविड़ के कोच बनने के बाद ईशान को ज्यादा मौके मिलना चाहिये. मजूमदार ने कहा, ‘‘ द्रविड़ सर उन्हें अच्छे से जानते हैं क्योंकि ईशान 2016 अंडर -19 विश्व कप के लिए टीम के कप्तान बने थे. वह भारत ‘ए' का भी नेतृत्व कर चुके है. लगातार दो विश्व कप से उसके लिए काफी उम्मीदें हैं। अभी तो उसने शुरुआत की है.'

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें