1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. icc odi team of the year 2021 not a single indian babar azam became the captain avd

ICC की साल 2021 की वनडे टीम में एक भी भारतीय नहीं, बाबर आजम बने कप्तान

आईसीसी की वर्ष की टी20 पुरुष टीम में जगह नहीं मिलने के बाद अब भारत का कोई भी क्रिकेटर वर्ष की वनडे टीम में स्थान नहीं बना पाया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बाबर आजम
बाबर आजम
twitter

संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) में खेले गये टी20 विश्व कप में लचर प्रदर्शन के कारण आईसीसी की वर्ष की टी20 पुरुष टीम में जगह नहीं मिलने के बाद अब भारत का कोई भी क्रिकेटर वर्ष की वनडे टीम में स्थान नहीं बना पाया जबकि आयरलैंड के दो खिलाड़ियों को इसमें जगह मिली है.

दिलचस्प बात यह है इस टीम में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज का भी कोई खिलाड़ी शामिल नहीं है. पाकिस्तान के बाबर आजम (Babar Azam) को टीम का कप्तान बनाया गया है जिसमें फखर जमां के रूप में एक अन्य पाकिस्तानी शामिल है.

दक्षिण अफ्रीका के जानेमन मलान और रासी वान डर डुसेन, बांग्लादेश के शाकिब अल हसन, मुस्ताफिजुर रहमान और मुशफिकुर रहीम (विकेटकीपर), श्रीलंका के वानिंदु हसरंगा और दुशमंत चमीरा तथा आयरलैंड के पॉल स्टर्लिंग और सिमी सिंह को इस टीम में शामिल किया गया है.

भारत ने साल 2021 में केवल छह वनडे खेले और चार में जीत हासिल की. उसने इस बीच 50 ओवरों की दो शृंखलाएं खेली. उसने इंग्लैंड को स्वदेश में तीन मैचों की शृंखला में 2-1 से हराया और फिर श्रीलंका दौरे में इसी अंतर से जीत दर्ज की थी.

आईसीसी की वर्ष की टीम में एक भी भारतीय खिलाड़ी न होने का मतलब खराब प्रदर्शन के बजाय कम मैच खेलना है क्योंकि भारत ने 2021 में खेली गयी दोनों शृंखलाएं जीती थी. वर्ष 2021 में भारत के सभी छह वनडे में खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी शिखर धवन थे जिन्होंने छह मैचों में 297 रन बनाये.

विराट कोहली, केएल राहुल और रोहित शर्मा जैसे बल्लेबाजों ने वर्ष 2021 में केवल तीन एकदिवसीय मैच खेले और यही स्थिति प्रमुख गेंदबाजों की भी रही जिन्होंने सभी छह मैच नहीं खेले. भुवनेश्वर कुमार पांच मैचों में खेले जिनमें उन्होंने नौ विकेट लिये.

वर्ष की टीम में जगह बनाने के लिये अंक हासिल करने होते हैं और उसके लिये प्रभावशाली प्रदर्शन करना होता है. उदाहरण के लिये आयरलैंड के स्टर्लिंग ने वर्ष 2021 में 14 मैचों में 79.66 की औसत से 705 रन बनाये थे और इसलिए उन्हें टीम में जगह मिली.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें