बांग्लादेश पर बादशाहत कायम करने उतरेगी टीम इंडिया, कल खेला जाएगा पहला टी-ट्वेंटी मुकाबला

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली: पिछले दो दिन से ना विश्व कप की तैयारियों की चर्चा है और ना ही शाकिब अल हसन के बाहर होने के बाद की परिस्थितियों को लेकर आकलन, बहस बनी हुई है दिल्ली की 'दमघोंटू धुंध' की जिसके बीच भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टी-ट्वेंटी मुकाबला खेला जाएगा.

खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है प्रदूषण
भारत और बांग्लादेश रविवार को यहां पहले टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में दम खम दिखाकर अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट के लिये खुद को परखने के प्रयास की शुरुआत करेंगे. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है और यहां तक कि स्कूलों में छुट्टियां घोषित कर दी गयी हैं लेकिन पूर्व के कटु अनुभवों के बावजूद बीसीसीआई की 'रोटेशन नीति' के अरूण जेटली स्टेडियम में यह मैच आयोजित किया जाएगा.
श्रीलंका के साथ मुकाबले में हुई थी दिक्कत
श्रीलंका के खिलाफ दो साल पहले इसी तरह की परिस्थितियों में यहां टेस्ट मैच खेला गया था और तब श्रीलंकाई ही नहीं भारतीय खिलाड़ियों को भी परेशानी हुई थी. इस बार भी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस तरह के 'खतरनाक' हालात में खेलकूद की किसी भी गतिविधि में शामिल होने से स्पष्ट मना किया है. हालांकि भारत और बांग्लादेश दोनों देशों के क्रिकेटरों को विश्वास है कि वे इस तरह की परिस्थितियों से निबटने में सफल रहेंगे.
मैदान में उतरने को तैयार हैं दोनों ही टीमें
बांग्लादेश के कोच रसेल डोमिंगो साफ कर चुके हैं कि उनके खिलाड़ियों के लिये यह बहुत बड़ा मसला नहीं है भले ही उनकी टीम 'मास्क' लगाकर अभ्यास कर रही थी. भारतीय बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने भी कहा कि एक बार मैदान पर उतरने के बाद यह कोई मुद्दा नहीं रह जाएगा. इससे पहले प्रदुषण के बीच दिल्ली के अरूण जेटली स्टेडियम में मैच कराने के सवाल पर नवनिर्वाचित बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा था कि मैच तय दिन और तय समय पर वहीं होगा.
विराट की गैरमौजूदगी में कप्तान हैं रोहित
बता दें कि नियमित कप्तान विराट कोहली को विश्राम दिये जाने के बाद रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय टीम बांग्लादेश पर अपनी बादशाहत कायम रखने के लिये मैदान पर उतरेगी. भारत ने इन दोनों टीमों के बीच अब तक खेले गये सभी आठ टी20 मैचों में जीत दर्ज की है. ऐसे में अपने स्टार खिलाड़ी शाकिब पर प्रतिबंध लगने के कारण 'पंगु' बने बांग्लादेश के खिलाफ विजय अभियान जारी रखने में भारत को ज्यादा दिक्कत नहीं आनी चाहिए.
रोहित के साथ पारी का आगाज करेंगे धवन
भारतीय टीम के बारे में बता दें कि रोहित के साथ शिखर धवन पारी का आगाज करने उतरेंगे लेकिन कोहली की अनुपस्थिति में भारत के पास विश्व कप को ध्यान में रखकर तीन टी20 मैचों की इस श्रृंखला में मध्यक्रम में प्रयोग करने का अच्छा मौका होगा. कोहली की अनुपस्थिति में केएल राहुल तीसरे नंबर पर उतर सकते हैं और भारतीय कप्तान की वापसी के बाद वह स्वाभाविक है कि धवन के लिये चुनौती पेश करना चाहेंगे.
संजू सैमसन की टीम इंडिया में हुई वापसी
संजू सैमसन की टीम में वापसी हुई है और तीसरे नंबर के लिये वह भी अच्छे विकल्प हैं लेकिन उन्हें सीधे मौका मिलेगा इसकी संभावना कम है. श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे के लिये भी यह श्रृंखला महत्वपूर्ण है. उन्हें दिखाना होगा कि कोहली की गैरमौजूदगी में भारतीय मध्यक्रम कमजोर नहीं है. दोनों को अपनी पिछली श्रृंखलाओं में खास मौके नहीं मिले थे.
युवा खिलाड़ी संभालेंगे भारत का मध्यक्रम
मध्यक्रम में हालांकि ऋषभ पंत पर सभी की निगाहें रहेंगी जो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में नहीं खेले थे. पंत यह जानते हैं कि उन्हें विकेट के आगे और विकेट के पीछे दोनों भूमिकाओं में उम्मीदों पर खरा उतरना होगा क्योंकि सैमसन विकल्प के तौर पर टीम में मौजूद हैं. हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा की अनुपस्थिति में ऑलराउंडर शिवम दुबे के पास खुद को साबित करने का यह बेहतरीन मौका है.
दायें हाथ के मध्यम गति के गेंदबाज और बायें हाथ के बल्लेबाज दुबे की 'बिग हिटर' बनने की क्षमता की भी यह परीक्षा होगी. अगर वह टीम में जगह बनाते हैं तो भारत दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर और खलील अहमद में से किन्हीं दो तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है.
स्पिन विभाग में युजवेंद्र चहल की फिर से वापसी हुई है. राहुल चाहर के रूप में टीम में एक अन्य लेग स्पिनर है. चहल वनडे विश्व कप के बाद से टीम से बाहर थे और अब वह अपनी जगह मजबूत करने पर ध्यान देंगे.
शाकिब पर बैन से कमजोर हुआ बांग्लादेश
जहां तक बांग्लादेश का सवाल है तो उन्हें शाकिब की बड़ी कमी खलेगी जिन्हें भ्रष्ट संपर्क की सूचना नहीं देने के कारण आईसीसी ने दो साल के लिये निलंबित कर रखा है. बांग्लादेश के कप्तान महमुदुल्लाह और कोच डोमिंगो को उम्मीद है कि खिलाड़ी इससे निराश होने के बजाय प्रेरणा लेंगे.
शाकिब और तमीम इकबाल की अनुपस्थिति में बांग्लादेश की बल्लेबाजी कमजोर हो गयी है. ऐसे में महमुदुल्लाह, लिटन दास, मुशफिकुर रहीम और सौम्या सरकार जैसे अनुभवी बल्लेबाजों की भूमिका महत्वपूर्ण बन जाती है. गेंदबाजी में उसकी निगाह मुस्तफिजुर रहमान पर टिकी रहेगी. यह देखना भी दिलचस्प होगा कि रोहित टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करते हैं या लक्ष्य का पीछा करना पसंद करते हैं.
परिस्थितियों को देखकर पहले बल्लेबाजी करना सही हो सकता है लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत ने जिन पिछले छह मैचों में पहले बल्लेबाजी की उनमें से चार में उसे शिकस्त मिली.
टीमें इस प्रकार हैं :
भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, ऋषभ पंत, शिवम दुबे, क्रुणाल पंड्या, खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, दीपक चाहर, राहुल चाहर, संजू सैमसन, शार्दुल ठाकुर, वाशिंगटन सुंदर में से.
बांग्लादेश: महमूदुल्लाह (कप्तान), लिटन दास, सौम्या सरकार, नईम शेख, मुशफिकुर रहीम, मोहम्मद मिथुन, आफिफ हुसैन, मोसद्देक हुसैन, अमीन इस्लाम, अराफात सनी, तयाजुल इस्लाम, मुस्तफिजुर रहमान, शफीउल इस्लाम, अबू हैदर, अल अमीन हुसैन में से.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें