1. home Hindi News
  2. religion
  3. masik durga ashtami 2021 june date 18 june shubh muhurat vrat katha maa durga puja vidhi time significance importance and beliefs smt

Masik Durga Ashtami 2021: मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत आज इस शुभ मुहूर्त में, जानें मां दुर्गा की पूजा विधि, व्रत कथा, महत्व व मान्यताएं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Masik Durga Ashtami 2021 June, Date, Shubh Muhurat, Vrat Katha, Maa Durga Puja Vidhi, Significance
Masik Durga Ashtami 2021 June, Date, Shubh Muhurat, Vrat Katha, Maa Durga Puja Vidhi, Significance
Prabhat Khabar Graphics

Masik Durga Ashtami 2021 June, Date, Shubh Muhurat, Vrat Katha, Maa Durga Puja Vidhi, Significance: हिंदू पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि 18 जून 2021, शुक्रवार को पड़ रही है. ऐसे में कल मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत रखा जाएगा. हिंदू धर्म में इसका विशेष महत्व है. कहा जाता है कि विधिपूर्वक मां दुर्गा के सभी रूप की पूजा करने से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है. आइये जानते हैं इस मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत के शुभ मुहूर्त, महत्व, कथा और मान्यताओं के बारे में...

मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत का महत्व

  • ऐसी मान्यता इस दिन मां दुर्गा का व्रत रखने पर जगदंबा माता का आशीर्वाद मिलता है.

  • भक्तों के सारे कष्ट दूर होते हैं.

  • घर में खुशहाली आती है सुख-समृद्धि, धन-लक्ष्मी का आगमन होता है.

दुर्गा अष्टमी पूजा विधि

  • दुर्गा अष्टमी के दिन सुबह उठें, गंगाजल डालकर स्नानादि करें.

  • लकड़ी के पाठ लें और उस पर लाल वस्त्र बिछाएं.

  • फिर मां दुर्गा के मंत्र का जाप करते हुए उनकी प्रतिमा या फोटो स्थापित करें.

  • लाल या ऊड़हल के फूल, सिंदूर, अक्षत, नैवेद्य, सिंदूर, फल, मिष्ठान आदि से मां दुर्गा के सभी स्वरूपों की पूजा करें.

  • फिर धूप-दीपक जलाकर दुर्गा चालीसा का पाठ करें और आरती भी करना न भूलें.

  • इसके बाद हाथ जोड़ें और उनके समक्ष अपनी इच्छाएं रखें.

  • ऐसा करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है.

दुर्गा अष्टमी कथा

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार पृथ्वी लोक पर पहले बहुत असर हुआ करते थे. जो काफी शक्तिशाली हो गए थे. उनमें से एक था महिषासुर. जिसने कई देवी-देवताओं की जान ली और ब्राह्मणों को भी मौत के घाट उतारा. वह अक्सर स्वर्ग में तबाही मचा रहा था. ऐसे में महिषासुर के वध के लिए भगवान शिव, ब्रह्मा और विष्णु ने शक्ति का स्वरूप धरा. मां दुर्गा के इस स्वरूप को विशेष हथियार प्रदान किया. तब आदिशक्ति ने असुर महिषासुर का वध किया. कहा जाता है कि इसी दिन के बाद से मासिक दुर्गा अष्टमी पर्व का आरंभ हो गया.

मासिक दुर्गाष्टमी शुभ मुहूर्त

  • मासिक दुर्गाष्टमी व्रत तिथि: 18 जून 2021, शुक्रवार

  • ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि आरंभ: 17 जून 2021, गुरुवार की रात्रि 09 बजकर 59 मिनट पर शुरू

  • ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि समाप्त: 18 जून 2021, शुक्रवार की रात 08 बजकर 39 मिनट पर समाप्त

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें