1. home Hindi News
  2. religion
  3. karwa chauth 16 shringar 2020 date time vrat vidhi puja vidhi vrat samagri katha every suhagan is adorned like a bride on karwachauth know here what is the beauty of 16 shringar rdy

Karwa Chauth 16 Shringar 2020: करवाचौथ पर हर सुहागन को दुल्हन की तरह सजना-सवरना होता है जरूरी, यहां जानें 16 शृंगार की खासियत...

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date

Karwa Chauth 16 shringar 2020: आज करवा चौथ है. यह व्रत सुहागन महिलाओं के लिए विशेष होता है. करवाचौथ पर हर सुहागन दुल्हन की तरह सजती और सवरती है, इसके पीछे भी कई मान्यताएं है. इस दिन 16 श्रृंगार (16 shringar) का बेहद महत्व होता है. आइए जानते है कि कौन-कौन से हैं 16 श्रृंगार, जो करवाचौथ पर पति को रिझाने में आपकी करेंगी मदद...

1- मांग टीका - मांग टीका जब तक माथे पर न सजे, दुल्हन भी दुल्हन नहीं लगती है. मांग टीका आपके मुखमंडल की शोभा को इतना बढ़ा देता है, कि हर नजर आप पर आकर यूं ही टिक जाती है. आजकल बाजार में एक से बढ़कर एक प्रकार और डिजाइन में मांग टीके उपलब्ध हैं, जिनमें कुंदन, स्टोन, मोती, मीनाकारी और फूलों से बने मांगटीके प्रमुख हैं. आप चाहें तो राजस्थानी रखड़ी से भी राजवाड़ी दिख सकती हैं.

2- नथनी- नथनी, जिसे नथ भी कहा जाता है, आपके चेहरे की रौनक को बढ़ाने में बेहद खास भूमिका अदा करती है. मांग टीका और नथनी मिलकर आपके चेहरे की रौनक को इतना बढ़ा देते हैं, कि आपके ''वो'' अगर चाहें भी तो आपसे नजर नहीं हटा सकते. तो फिर नथनी से दुल्हन की तरह अपने चेहरे की रौनक बढ़ जाती है.

3- कर्णफूल - आज के समय में इन्हें बोलचाल की भाषा में ईयरिंग्स कहा जाता है. आप चाहें तो पारंपरिक झुमके या फिर लटकन पहन सकती हैं. इसके अलावा सेट के साथ या फिर अपने परिधान से मिलते-जुलते कर्णफूल आपकी खूबसूरती को चार चांद लगा देंगे.

4- बिंदी - बिंदी के बिना सुहागन का श्रृंगार अधूरा-सा लगता है. करवाचौथ के दिन पिया के नाम की बिंदी जरूर लगाइए. माथे पर चांद सी दमकती बिंदिया आपकी आभा का निखारने में कोई कसर नहीं छोड़ती है. बिंदी आपके पिया को करीब होने का एहसास दिलाती है.

5- सिंदूर - मांग में सिंदूर के बिना सुहागन के सभी श्रृंगार व्यर्थ हैं. आप उनकी सुहागन हैं, इस बात का प्रतीक है आपकी मांग का सिंदूर. आपके पिया के सौभाग्य रूप में धरती पर होने का संदेश है आपका सिंदूर. रोजाना भले ही आप नियम से अपनी मांग में सिंदूर भरती हैं, लेकिन करवाचौथ का सिंदूर बेहद खास होगा. पारंपरिक दुल्हन बनने की ख्वाहिश हो तो आप इसे अपनी मांग में पिया की लंबी उम्र की तरह ही लंबा भर सकती हैं. उन्हें आपसे दोबारा प्रेम हो जाएगा.

6- काजल - कजरारे नैनों का जादू जब पिया पर चल जाए, फिर दोबारा मोहब्बत से भला कौन रोक पाएगा. आंखों से ही आपके मन के भावों की अभिव्यक्ति होती है. जब बात हो जीवनसाथी की, तो भावों की अभिव्यक्ति जितने सुंदर तरीके से दी जाए उतना ही प्रेम बढ़ता है. तो करवाचौथ पर कजरारे नैनों से प्रेम का जादू बिखेरना बिल्कुल न भूलिए.

7- हार- गले के श्रृंगार के लिए आप अपना पारंपरिक हार पहन सकती हैं. इसके अलावा रानी हार, मोती और कुंदन जड़ित हार के सेट भी बाजार में उपलब्ध है, जो आपके परिधान के अनुसार सौंदर्य को बढ़ा सकते हैं. अगर आप गहनों से लदना नहीं चाहती, तो फूलों से बने गहने आपके लिए बिल्कुल आरामदायक और खूबसूरत रहेंगे.

8- गजरा - काले, घने और लंबे बाल नारी की सुंदरता को कई गुना बढ़ा देता है. हर किसी का दिल जीतने के लिए काले बालों पर यह सफेद गजरा काफी है. आप भी नहीं जानती कि आप इसे लगाने के बाद कितनी आकर्षक लग रही होंगी. आप चाहें तो जूड़ा बनाएं, चोटी बनाएं या फिर बालों को खुला रखें, इस दिन गजरे से शोभा बढ़ाना न भूलें.

9- मंगलसूत्र - पिया के नाम का मंगलसूत्र सोलह श्रृंगार का सबसे अहम हिस्सा है. यह मंगलसूत्र है तो नारी के लिए सारे साज-श्रृंगार हैं, अगर नहीं है तो सब सूना है.आप चाहें तो अपने फेरों का मंगलसूत्र पहन सकती हैं, या फिर बाजार में कई तरह के डिजाइनर मंगलसूत्र भी उपलब्ध हैं. क्योंकि एक मंगलसूत्र ही अकेला जीवन के संपूर्ण श्रृंगार का बखान करता है.

10- अंगूठी - कलाइयों की सुंदरता जिस तरह से चूड़ी और कंगन से पूरी होता है, वैसे ही अंगुलियों का श्रृंगार अंगूठियों से ही पूरा होता है. आप चाहें तो दुल्हन बन हाथफूल भी पहन सकती हैं. सोना, चांदी, हीरा, मोती व कुंदन की अंगूठियां भी हाथों के सौंदर्य को खूब बढ़ाएंगी.

11- कमरबंद - कमर की खूबसूरती बढ़ाने और आपको सेक्सी दिखाने में कमरबंद आपकी बहुत मदद करेगा. अगर आपकी कमर पतली है, तो इसे जरूर पहनें. अगर आप थोड़ी मोटी भी हैं, तो कोई बात नहीं, कमरबंद आप पर भी खूब जंचेगा.

12- बिछिया- बिछिया भी सुहागन स्त्री का प्रतीक है. कुछ भी कहो, इसके बिना सुहागन के पैरों की रौनक ही गायब होती है. करवाचौथ पर सादगी भरी बिछिया पहनने के बजाए, घुंघरु व चेन वाले सुंदर बिछिया से पैरों को सजाएं. कुंदन, हीरा व मोती वाली बिछिया भी आप पहन सकती हैं, और अपने परिधान से मिलती-जुलती है.

13- पायल - पतली पायल हो या मोटी पायजेब, आपके पैरों की खूबसूरती को ही नहीं बढ़ाती बल्कि इनके घुंघरुओं की मीठी सी छनक, आपके पतिदेव का दिल भी धड़काती हैं. तो करवाचौथ पर इसकी छनक से पिया का दिल जीतना मत भूलिएगा.

14- मेंहदी - जब तक हथेली पर पिया के नाम की मेंहदी न लगे, तब तक दुल्हन का रंग फीका ही रहता है. और मेंहदी का रंग जितना गहरा हो, उतना ही प्रेम को दर्शाता है. तो करवाचौथ पर दिल से लगाइए पिया के नाम की मेंहदी और निखारिए उसका रंग, इसके लिए चाय पत्ती का पानी, लौंग का धुंआ, तेल वगैरह का भी प्रयोग होता है. इन तरीकों को आप भी आजमाइए, क्योंकि पिया के प्रेम का प्रतीक जो है, वो है रंगत भरी मेंहदी.

15- चूड़ि‍यां - हाथों में चूड़ियों की खनक, न केवल पति-पत्नी के प्रेम की ओर संकेत करती हैं, बल्कि मन को प्रफुल्ल‍ित भी रखती हैं. बेशक आपके पिया को भी बेहद पसंद होगी आपकी चूड़ियों की यह खनक. तो फिर खूबसूरत, खनकती चूड़ियों को पहनने में कोई कोताही नहीं रखिएगा.

16- परिधान - खास तौर से साड़ी, लहंगा या कोई पारंपरिक परिधान आपके करवाचौथ को खास बनाने का काम करेगा. आप अगर चाहें तो अपनी शादी का जोड़ा पहनकर, सुहानी यादों को ताजा कर सकती हैं.

News Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें