1. home Hindi News
  2. religion
  3. chanakya niti on relationship know what a man should do for a happy relationship with his wife or lover read chanakya niti in hindi

Chanakya Niti : पति या प्रेमी इन बातों पर करें अमल तो साथी के साथ रिश्तों में नहीं आएगी दरार

By ThakurShaktilochan Sandilya
Updated Date

Chanakya Niti , Chanakya Niti For Relationship ,Chanakya Niti In Hindi : आचार्य चाणक्य एक महान राजनीतिज्ञ व ज्ञानी के रुप में जाने जाते हैं.उनकी नीतियां आज भी लोगों के आम जीवन मे सहायक सिद्ध होती हैं.चाणक्य ने अपनी नीतियों के बल पर ही बड़े राजनीतिक फेर-बदल किए थे जो तब असंभव से लगते थे.आज चाणक्य की नीतियां लोगों के जीवन को काफी प्रभावित करती हैं.चाणक्य ने राजनीति के अलावा पारिवारिक जीवन के भी कई सुझाव अपनी चाणक्य नीति के जरिए दिए हैं.आइये उन्ही सलाहों के जरिए जानते हैं एक पति को अपनी पत्नी के साथ किस तरह का व्यवहार रखना चाहिए जिससे उसका वैवाहिक जीवन सही चले...

Chanakya Niti On Relationship :

रिश्ते में रहें इमानदार: चाणक्य कहते हैं कि जो पुरुष हृदय से अपनी प्रेमिका को चाहता हो,या विवाह के बाद वह उसके प्रति इमानदार रहता हो वैसे पुरुषों का वैवाहिक जीवन कभी खराब नही होता.वहीं यदि कोई पुरुष अपनी प्रेमिका या जीवनसंगिनी के बदले परायी स्त्रियों के प्रति अपना झुकाव रखता है और उसके लिए वासनाएं उसके अंदर पैदा होती है तो इस तरह के पुरुषों का वैवाहिक जीवन जल्द ही तबाही के कगार पर आकर खड़ा हो जाता है.

शारीरिक संतुष्टि है जरुरी : आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ऐसे पुरुष जो अपनी जीवनसंगिनी को भौतिक व भावनात्मक सुख देते हुए शारीरिक संतुष्टि भी देता हो वैसे पुरुषों का वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है.

सुरक्षा का कराए एहसास : आचार्य चाणक्य कहते हैं कि एक पुरुष को अपनी प्रेमिका या जीवनसंगिनी को यह हमेसा एहसास कराना चाहिए कि वो उसके साथ सुरक्षित है.उसे किसी भी तरह के संकट में वो नही पड़ने देगा व किसी भी समस्या का समाधान वो हर हाल में निकालने में सक्षम है.स्त्री को इस बात का एहसास होने पर उसके जीवनसाथी के प्रति प्रेम बढ़ जाता है नही तो वह उसके साथ असुरक्षित महसूस करती है और उसे अपने जीवन मे साथ चलने योग्य न समझकर उससे रिश्ता तोड़ देती है.

पत्नी या प्रेमिका का नहीं करें अपमान : हर स्त्री यह चाहती है कि उसका प्रेमी या पति उसे हमेसा सम्मान के नजरिए से देखे, ऐसे में चाणक्य कहते हैं कि यदि कोई पुरुष अपनी पत्नी या प्रेमिका का अपमान करता है तो उसके अंदर की भावनाएं खत्म हो जाती है और वो उस इंसान को अपने लिए योग्य नही समझती है.इससे रिश्ते ने खटास पैदा होता है.वहीं जो पुरुष अपनी पत्नी का सम्मान करता है उसके वैवाहिक जीवन के लिए वह अच्छा साबित होता है.

लोभ घोलता है रिश्ते में जहर : चाणक्य कहते है कि जिस पुरुष को अपनी पत्नी के जरिए लालच सिद्धि का भाव जग जाए वैसे पुरुषों के साथ महिलाएं भावनात्मक रुप से साथ नही रह पाती है.वह पति के लिए केवल भोग की वस्तु खुद को मानती है और स्वार्थी इंसान के साथ कोई पत्नी जीवन बिताना नही चाहती.इसलिए पुरुषों को इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि वह पत्नी से अधिक महत्व पैसे को नही दें.उनकी भावनाओं का सम्मान नही करने पर वैवाहिक जीवन मे बाधाएं आती है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें